Wednesday,06 July 2022   04:55 pm
Chhattisgarh: अब स्कूल शिक्षा विभाग ने छुड़ाएगी बच्चों के मोबाइल की लत

Chhattisgarh: अब स्कूल शिक्षा विभाग ने छुड़ाएगी बच्चों के मोबाइल की लत

27-May-2022

Raipur: आजकल बच्चों के हाथ में स्कूल की किताबें कम मोबाइल अधिक नज़र आता है, लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि बच्‍चे के हाथ में, जो स्‍मार्टफोन आपने थमाया है वो बच्चे कितना खतरनाक है? एक्सपर्ट  कहतीं हैं कि मोबाइल यूज करने से बच्चों में डिप्रेशन, अनिद्रा व चिड़चिड़ापन जैसी मानिसक समस्याएं बढ़ रही हैं। सिर्फ इतना ही सिर दर्द, भूख न लगना, आंखों की रोशनी कम होना, आंखों में दर्द, आदि जैसी बीमारियां भी बच्चों में देखने को मिल रहीं हैं।

अब इस राज्य में मस्जिद के नीचे मिला मंदिर का ढांचा, स्थानीय प्रशासन ने लागू की धारा 144

अगर माता पिता ने अभी से बच्चों पर ध्यान नहीं दिया तो वो दिन दूर नहीं, जब बच्चा कम उम्र में बड़ी बीमारियों से ग्रस्त हो जाएगा। ऐसे में नए सत्र से स्कूल शिक्षा विभाग बच्चों को अनुशासित करने और उनकी मोबाइल की लत छुड़ाने के लिए पठन-पाठन के माड्यूल में बड़ा बदलाव करने की तैयारी में है। छत्तीसगढ़ में दो हजार शिक्षकों ने बच्चों के अभिभावकों से फीडबैक में पाया है कि यहां लगभग 50% बच्चों में मोबाइल की लत हावी हो गई है। बच्चे घर में भी किसी का कहना-सुनना नहीं मान रहे हैं। उनमें अनुशासन की कमी दिख रही है।

शिक्षक-अभिभावक इन बच्चों को कैसे संयमित करें, इसे लेकर राज्य शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद (SCERT) ने काम करना शुरू कर दिया है। एससीईआरटी के अतिरिक्ति संचालक Dr. Yogesh Shivhare ने बताया कि बच्चों को अनुशासित करने और उन्हें मोबाइल की लत से बाहर निकालने के लिए स्कूल शिक्षा विभाग नए सिरे से शिक्षण माड्यूल बना रहा है।

Chhattisgarh की इस योजना में बेटियों को शादी के लिए मिलेंगे 25 हजार रुपए, जानिए कैसे करें आवेदन


leave a comment