Tuesday,16 August 2022   11:42 am
मनी लॉन्ड्रिंग मामले में चाइनीज स्मार्टफोन कंपनी वीवो के 44 ठिकानों पर ED की छापेमारी

मनी लॉन्ड्रिंग मामले में चाइनीज स्मार्टफोन कंपनी वीवो के 44 ठिकानों पर ED की छापेमारी

05-Jul-2022

ED raids Vivo: जांच एजेंसी ईडी (ED) ने आज (5 जुलाई) स्मार्टफोन बनाने वाली दिग्गज कंपनी वीवो (Vivo) और इससे जुड़ीं कंपनियों पर छापेमारी की।

ED मनी लांड्रिंग से जुड़े मामले में जांच के लिए देश भर में 44 स्थानों पर तलाशी ली। ईडी के अधिकारियों ने यह जानकारी दी है।

केंद्रीय जांच एजेंसी की यह कार्रवाई प्रिवेंशन ऑफ मनी लांड्रिंग एक्ट (PM।A) के तहत हो रही है।

द इंडियन एक्सप्रेस के अनुसार, ED की इस छापेमारी से जुड़े मामले का अभी पूरी तरह खुलासा नहीं हो सकता है, लेकिन 2020 में मेरठ पुलिस ने कंपनी के खिलाफ एक ही इंटरनेशनल मोबाइल इक्विपमेंट आइडेंटिटी (IMEI) नंबर से देश में लगभग 13,500 फोन संचालित करने के आरोप में धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया था।

बता दें कि मई 2021 में वैश्विक टेलीकम्युनिकेशन उपकरण और सिस्टम कंपनी ZTE कॉर्पोरेशन और वीवो मोबाइल कम्युनिकेशंस कंपनी की स्थानीय इकाइयों को कथित वित्तीय अनियमितताओं के लिए जांच का सामना करना पड़ा था। उस दौरान वीवो का गुरुग्राम स्थित HSBC बैंक का खाता अटैच कर SGST विभाग ने करीब 220 करोड़ रुपये की वसूली की थी। इसी तरह अगस्त 2021 में ZTE के गुड़गांव स्थित कॉर्पोरेट कार्यालयों में छापेमारी की गई थी।

आरोप : बता दें कि पिछले साल दिसंबर में भी आयकर विभाग ने वीवो और अन्य चीनी मोबाइल फोन निर्माताओं के परिसरों पर छापेमारी की थी।

आयकर विभाग ने आरोप लगाया था कि कंपनियों ने 500 ​​करोड़ रुपये से अधिक की आय की गलत घोषणा की थी।

इसके अलावा आरोप था कपंनियों की ओर से रॉयल्टी के नाम पर पैसों की हेराफेरी की जा रही है। उसके बाद से ही वीवो और उससे जुड़ी कंपनियां ED के निशाने पर आ गई थी।


leave a comment