Tuesday,16 August 2022   12:15 pm
अब बुजुर्गों को घर बैठे दी जाएगी मेडिकल केयर की सुविधा , 'पीएम स्पेशल' योजना

अब बुजुर्गों को घर बैठे दी जाएगी मेडिकल केयर की सुविधा , 'पीएम स्पेशल' योजना

06-Jul-2022

केंद्र सरकार अब बुजुर्गों की देखभाल के लिए नई योजना शुरू करने जा रही है जिसका नाम है  'पीएम स्पेशल'। इस योजना के तहत बुजुर्गों को घर बैठे मेडिकल केयर की सुविधाए दी जाएंगी। इस योजना से वृद्धावस्था में लोगों की देखभाल करने वाले पेशेवरों का व्यवस्थित, विश्वसनीय सिस्टम बनेगा और साथ ही लागत भी कम होगी।

इसके जरिए अगले तीन वर्षों में 100,000 वृद्धावस्था देखभाल करने वाले जराचिकित्सकों को प्रशिक्षित करने की योजना बना रहा है। केंद्रीय सामाजिक न्याय और विकास मंत्रालय के एक अधिकारी ने कहा कि इस योजना से जुड़ा ऑनलाइन पोर्टल सितंबर में लॉन्च किया जाएगा जिसके माध्यम से आम जनता के लिए सुविधा उपलब्ध होगी।

जराचिकित्सा देखभाल (Geriatric Care) मेडिकल सेक्टर का वह क्षेत्र है जो सिर्फ वृद्ध लोगों की स्वास्थ्य देखभाल पर केंद्रित है। जबकि केंद्रीय सामाजिक न्याय और विकास मंत्रालय की ओर से एक हफ्ते के भीतर प्रशिक्षण कार्यक्रम शुरू करने की संभावना है। हिंदुस्तान टाइम्स ने मंत्रालय के अधिकारियों के हवाले से कहा कि ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से आम जनता के लिए यह सुविधा उपलब्ध होगी। इसे सितंबर महीने में लॉन्च किया जाएगा।

प्रशिक्षण के लिए कौन-कौन होगा उम्मीदवार

उन्होंने पेशेवर लोगों की योग्यता के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि कोई भी व्यक्ति जिसने 12वीं कक्षा तक शिक्षा पूरी कर ली है, वह योजना के तहत प्रशिक्षण के लिए आवेदन कर सकेगा। उन्होंने आगे कहा, “एससी, एसटी और अन्य हाशिए के समुदायों के कम से कम 10 हजार लोगों को मुफ्त में प्रशिक्षित किया जाएगा।”

उनका कहना है कि ऐसे प्रशिक्षित लोगों का डेटाबेस एक वेबसाइट पोर्टल पर अपलोड कर दिया जाएगा और जो कोई भी जराचिकित्सा देखभालकर्ता चाहता है, वह वहां लॉगिन करने और उनकी उपलब्धता की जांच करने में सक्षम होगा। यह जराचिकित्सा देखभाल के लिए एक इलेक्ट्रॉनिक बाजार की तरह होगा।

मंत्रालय के अधिकारियों का कहना है कि इस योजना से भारत में वृद्धावस्था देखभाल सेवा की लागत में खासी कमी आने की संभावना है। लेकिन सबसे खास बात यह होगी कि इससे बुजुर्गों को गुणवत्तापूर्ण देखभाल की जा सकेगी। यही नहीं इस योजना के जरिए करीब 1 लाख लोगों को रोजगार के अवसर भी मुहैया कराएगी। मंत्रालय बुजुर्गों के लिए कई योजनाएं चलाता है, जिसमें गरिमा के साथ पुन: रोजगार की योजना भी शामिल है।


leave a comment