Wednesday,28 September 2022   04:55 am
Har Ghar Tiranga: अगर आप भी घर पर फहरा रहे हैं तिरंगा, तो जानिए राष्ट्रीय ध्वज को फहराने के नियम

Har Ghar Tiranga: अगर आप भी घर पर फहरा रहे हैं तिरंगा, तो जानिए राष्ट्रीय ध्वज को फहराने के नियम

13-Aug-2022

Har Ghar Tiranga: आजादी की 75वीं सालगिरह पर सरकार आजादी का अमृत महोत्सव कार्यक्रम मना रही है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस कार्यक्रम के तहत हर घर तिरंगा Har Ghar Tiranga अभियान का ऐलान किया है। तिरंगा अभियान के जरिए सरकार की योजना है कि भारत के हर घर पर तिरंगा लहराए। इसके लिए सरकार ने 20 करोड़ घरों का लक्ष्य तय किया है। 13 से 15 अगस्त के बीच जन भारत के साथ इस लक्ष्य को प्राप्त करने का सरकार का प्लान है।

आज हर घर तिरंगा अभियान चलाया जा रहा है लेकिन एक समय था जब हर घर पर तिरंगे को लहराया नहीं जा सकता था। ऐसे बहुत से बदलाव हुए, जिसके बाद आम आदमी घर, दफ्तर और स्कूलों में तिरंगा फहरा सका। 2002 में फ्लैग कोड में बदलाव के बाद आम आदमी को ये अधिकार मिला। आज जब हर घर तिरंगा फहराने की बात हो रही, ऐसे में तिरंगे के फ्लैग कोड के प्रावधानों के बारे में बता रहे हैं। ऐसे में आपको भारतीय ध्वज से जुड़े नियमों और सावधानियों के बारे में जानना जरूरी है।

तिरंगा झंडा कटाफटा ना हे

ध्वज दंड सीधा और मजबूत होना चाहिए।

राष्ट्रीय ध्वज फहराते समय उसके रंग क्रम का ध्यान रखें, केसरिया रंग हमेशा ऊपर की तरफ ही रहेगा।

ध्वज सम्मान की स्थिति में हो, झुका हुआ न हो।

ध्वज पर अन्य कुछ भी लिखा या छपा नहीं होना चाहिए।

राष्ट्रीय ध्वज के साथ अन्य कोई ध्वज बराबर ऊंचाई पर अथवा राष्ट्रीय ध्वज से ऊपर न हो।

किसी भी प्रकार के फूल माला या प्रतीक चिह्न राष्ट्रीय ध्वज के ऊपर अथवा ध्वज दंड पर न हो।

ध्वज फहराने के बाद ध्वज को समेट कर, सम्मान के साथ संभाल कर घर पर ही रखें, इसे इधरउधर सड़कों पर या कचरे में न फेंके।

यदि ध्वज क्षतिग्रस्त अथवा कटफट जाए तो पूरे सम्मान के साथ निपटान करेंच। सड़कों पर या कचरे में न फेंके।

देश में पहले यह जरूरी था कि अगर तिरंगा (Tiranga) खुले में फहराया जाता है, तो उसे सूर्योदय से सूर्यास्त तक फहराये जाने का नियम था। सरकार की ओर से जुलाई 2022 में इसमें संशोधन किया गया और अब लोग दिन-रात अपने घर पर राष्ट्रीय ध्वज (National Flag) फहरा सकेंगे।

 


leave a comment