Wednesday,28 September 2022   04:37 am
छत्तीसगढ़: जानें किन 3 गांवों में 17 साल बाद खुले स्‍कूल, पढ़ें इसके प‍ीछे की कहानी

छत्तीसगढ़: जानें किन 3 गांवों में 17 साल बाद खुले स्‍कूल, पढ़ें इसके प‍ीछे की कहानी

16-Sep-2022

अनगिनत बाधाओं और चुनौतियों को पार कर नक्सलगढ़ के ग्रामीण अपने गांव में 17 साल बाद स्कूल खोलवाने में कामयाब हुए। साल 2005 के सलवा जुडूम के दौर में आतंक और दहशत की गिरफ्त में सरकार की पहुंच से दूर होकर मुख्यधारा से कट गए थे। इस दौरान जिले में 350 स्कूल बंद हो गए और हजारों बच्चों के भविष्य पर ग्रहण लग गया। मोसला कचिलवार और गुण्डापुर की चुनौतियों से पार नहीं पाया जा सका था। सरकार की पहल और शिक्षा विभाग के प्रयासों से जिले में बीते 3 साल में 160 से ज्यादा स्कूल खुले लेकिन मोसला, कचिलवार और गुण्डापुर की चुनौतियों से पार नहीं पाया जा सका था।  बीते 3 साल से ग्रामीणों से लगातार संपर्क कर विश्वास बहाली की मुहिम को अमली जामा पहनाने में शिक्षा विभाग की टीम अब जाकर सफल हुई जब ग्रामीणों की रज़ामन्दी के बाद एक झोपड़ी के स्कूल फिर से शुरू किए गए। इस दौरान गांव के मुखिया और पुजारी ने स्थानीय रीति रिवाज से पूजा अर्चना की और बच्चों के साथ राष्ट्रगान का गायन किया गया। रकार की विश्वास बढ़ाने और अंतिम छोर तक सरकार की योजनाओं को पहुंचाने की नीति ने एक बार फिर माओवाद प्रभावित इलाके में ग्रामीणो के दिल जीतने में कामयाबी पाई और मोसला कचिलवार गुण्डापुर जैसे नक्सलगढ़ में फिर अ, आ, इ, ई की गूंज सुनाई देने लगी है।

  1. शाहिद अफरीदी ने दी कोहली को संन्यास की सलाह, तो इस क्रिकेटर ने की बोलती बंद कर दी जानिए ? 

  2. RAIPUR SBI एटीएम में लगी भीषण आग, फायर ब्रिगेड की टीम ने बुझाया, आसपास की दुकानों को खाली कराया गया जानिए ? 

  3. पाकिस्तान की चेतावनी के बाद हरकत में आया रिमोट कंट्रोल बम से उड़ाया,तालिबान के खिलाफ उठाई थी बंदूक ?


leave a comment