Wednesday,28 September 2022   05:47 am
Leicester Violence: इंग्लैंड के लीसेस्टर में दो समुदायों में झड़प, धार्मिक स्थल पर हमले के बाद भड़के ऐक्शन में पुलिस  ?

Leicester Violence: इंग्लैंड के लीसेस्टर में दो समुदायों में झड़प, धार्मिक स्थल पर हमले के बाद भड़के ऐक्शन में पुलिस ?

19-Sep-2022


लंदन: इंग्लैंड के लीसेस्टर में दो समुदायों में झड़प के बाद भारी संख्या में पुलिस फोर्स की तैनाती की गई है। इस झड़प की शुरुआत करीब एक हफ्ते पहले ही हो गई थी। तब एक समुदाय ने दूसरे के धार्मिक प्रतीक को उखाड़ दिया था। रविवार रात को दोबारा एक समुदाय के लोगों ने सड़कों पर उतरकर दूसरे समुदाय के पूजा स्थल में तोड़फोड़ की। इस घटना के बाद लीसेस्टर समेत ब्रिटेन के कई हिस्सों में तनाव दोबारा बढ़ गया है। इस घटना का एक वीडियो भी वायरल हो रहा है, जिसमें समुदाय विशेष के लोगों को सड़कों पर विरोध प्रदर्शन करते देखा जा सकता है। भीड़ ने दूसरे समुदाय के पूजा स्थल को नुकसान पहुंचाने की भी कोशिश की।इस घटना के बाद एक धार्मिक संगठन ने प्रवक्ता ने कहा कि कल बेलग्रेव रोड पर एक बड़े समूह को विरोध प्रदर्शन करते, हिंसा और आतंक फैलाते देखा गया। इन लोगों ने एक धर्म के पूजा स्थल में तोड़फोड़ भी की। हम इस तरह के व्यवहार को देखकर हैरान और दुखी हैं। कृपया सुरक्षित रहें, हम अपने समुदाय से व्यवस्था बनाए रखने। लीसेस्टर के पुलिस प्रमुख ने भी एक वीडियो जारी कर लोगों से इस हिंसा में शामिल न होने का आग्रह किया। कल रात जारी किए वीडियो में चीफ कांस्टेबल रॉब निक्सन ने कहा: 'हमें शहर के पूर्वी लीसेस्टर क्षेत्र के कुछ हिस्सों में अव्यवस्था के फैलने की कई रिपोर्टें मिली हैं। सड़कों पर अतिरिक्त पुलिस अधिकारियों की तैनाती की गई है। उन्हें लोगों को खदेड़ने और किसी को भी रोककर जांच करने की शक्तियां दी गई हैं। कृपया कोई भी ऐसे प्रदर्शनों में शामिल न हों।लीसेस्टरशायर के पुलिस प्रवक्ता ने कहा कि शनिवार रात और रविवार सुबह दो लोगों को गिरफ्तार किया गया। उन्होंने कहा कि समुदाय विशेष के पूजा स्थल पर हमले की खबरें सच नहीं है। पुलिस को हिंसा और संपत्तियों को पहुंचे नुकसान के कई घटनाओं की सूचना दी गई है और जांच की जा रही है। हम लीसेस्टर के मेल्टन रोड पर एक धार्मिक इमारत के बाहर एक आदमी को झंडा खींचते हुए एक वीडियो के बारे में जानते हैं। हम स्थानीय समुदाय के नेताओं के समर्थन से बातचीत और शांति का आह्वान करना जारी रख रहे हैं।

 


leave a comment