Friday,03 December 2021   09:38 pm

Indian Railways: अब रेल मंत्रालय में हर कर्मचारी पहने दिखेगा वर्दी, नहीं तो दंड के लिए रहें तैयार

03-Sep-2021

रेलवे में कार्यरत कर्मचारियों को अब अपनी उपयुक्त  एवं विभाग अनुसार निर्धारित वर्दी (यूनिफार्म) नियमित रूप से पहनकर ही ड्यूटी के समय अपने  कार्य स्थल पर पहुंचना होगा। इस संबंध में रेल भवन द्वारा 18 अगस्त 2021 को जारी परिपत्र नंबर 2018/ ईआरबी/5/ 17/8 के द्वारा सूचित किया गया है कि कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग भारत सरकार के प्रचलित दिशा निर्देशों के अनुसार रेल मंत्रालय ने जिन कर्मचारियों को वर्दी भत्ता प्रदान किया है वह अपने कार्यस्थल पर प्रतिदिन साफ-सुथरी एवं निर्धारित वर्दी पहनकर ही आएं। साथ ही सख्त आदेश दिए गए हैं कि अनुपालन नहीं करने वाले कर्मचारियों का वर्दी भत्ता बंद कर दिया जाएगा। वहीं ऐसे कर्मचारियों के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई भी की जाएगी।

संबंधित कर्मचारियों द्वारा नियमित रूप से वर्दी पहनकर नहीं आना उनके द्वारा कार्यालय शिष्टाचार के प्रति लापरवाही को दर्शाता है। सर्कुलर की कॉपी रेल मंत्रालय के सभी अधिकारियों के निजी सचिव को जारी करते हुए निर्देश दिए हैं कि उनके अधीनस्थ सभी कर्मचारियों के मामले में इसको सुनिश्चित कराया जाए।

सर्कुलर में इस बात का भी जिक्र किया गया है कि इस संदर्भ में पहले भी कई बार सर्कुलर जारी किए जा चुके हैं। लेकिन नियमित रूप से इसका अनुपालन नहीं किया जा रहा है। इस सर्कुलर के दायरे में मल्टी टास्किंग स्टॉफ और वर्ग ‘ग’ के कुछ अन्य कर्मचारी आते हैं।

 

एडवाइजरी जारी : बच्चों को बिना सिम कार्ड वाला मोबाइल दें पेरेंट्स; ऑनलाइन एक्टिविटी पर नजर रखें, प्ले स्टोर पर पेरेंटल कंट्रोल ऑन करें

02-Sep-2021

इंटरनेट की दुनिया ना सिर्फ अच्छी चीजें सिखाती है बल्कि यहां गलत चीजों का भी भंडार है। ऐसे में कई माता-पिता या भाई-बहन को अक्सर अपने घर में मौजूद किशोरावस्था के बच्चों की चिंता सताती है कि वह कहीं स्मार्टफोन पर आपत्तिजनक कंटेंट न देखने लगें। बच्‍चों-किशोरों में ऑनलाइन गेमिंग के प्रति जबरदस्त क्रेज होता है, लेकिन गेम्स में पैसे जीतने जैसी बात शामिल हो जाए, तो गेम गैंबलिंग यानी जुए में बदल जाता है और इन दिनों इस तरह की गैंबलिंग की बाढ़ आई हुई है।

मध्यप्रदेश साइबर सेल ने बच्चों के ऑनलाइन गेम्स खेलने के कारण माता-पिता को होने वाले नुकसान से बचाने के लिए एडवाइजरी जारी की है। ऑनलाइन क्लास के लिए भी बिना सिम कार्ड का ही मोबाइल दें। इसके अलावा, बच्चों की ऑनलाइन एक्टिविटी पर नजर रखें। चौधरी ने बताया, कई बार बच्चे डिप्रेशन में गलत कदम उठा लेते हैं। बच्चों के गेम्स की वजह से कई पेरेंट्स का नुकसान हो गया है। अधिकतर बच्चे उधारी तक ले रहे हैं। बाद में डर की वजह से वह गलत कदम उठा लेते हैं।  इस चिंता से निजात पाने के लिए आप कुछ खास एप्लीकेशन का इस्तेमाल कर सकते हैं। आइए जानते हैं इनके बारे में।

Apps :-

  • नेटफ्लिक्स
  • पेरेंटल कंट्रोल बोर्ड
  • बेस्ट पेरेंटल एप
  • किड्स प्लेस पेरेंटल कंट्रोल बोर्ड

ये एडवाइजरी जारी की

  • बच्चों को हो सके तो मोबाइल न दें। यदि ऑनलाइन क्लासेस के लिए मोबाइल दें भी तो, उन्हें बिना सिम कार्ड के मोबाइल दें।
  • बच्चों को वाई-फाई से इंटरनेट इस्तेमाल करने दें। बाजार में ऐसे टेबलेट उपलब्ध हैं, जिनमें सिम नहीं लगती।
  • ‌बच्चों की ऑनलाइन एक्टिविटी पर नजर रखें।
  • परिवार के सभी सदस्यों के मोबाइल में प्ले स्टोर पर पेरेंटल कंट्रोल ऑन करें।
  • माता-पिता अपने मोबाइल बच्चों को न दें।
  • पासवर्ड बच्चों को न बताएं। खासकर तब जब आपके बैंक खाते में जुड़े मोबाइल नंबर की ही सिम मोबाइल सेट में उपयोग हो रही हो।
  • बच्चों को हर तरह के ट्रांजेक्शन करने की छूट न दें और न ही उनसे बिल, रीचार्ज या अन्य पेमेंट करने को कहें।
  • खाते से पैसे अचानक कटते हैं और उसका मैसेज आपके मोबाइल में न आए तो पहले बच्चों व परिवार से पैसे कटने का कारण पूछें। यदि उनके द्वारा ट्रांजेक्शन नहीं किया गया है तो इसकी शिकायत थाने में, www. cybercrime.gov. in पर या टोल फ्री नंबर155260 पर करें।

भारत के इन राज्यों में आज से खुले स्‍कूल, कोविड प्रोटोकॉल निभाना अनिवार्य, ऐसी स्थिति में फिर लग सकता है स्कूलों पर ताला

01-Sep-2021

दिल्‍ली, यूपी, हरियाणा, राजस्‍थान और मध्‍य प्रदेश समेत देश के कई राज्‍यों में आज से स्‍कूल खुल गए हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने राज्यों से 5 सितंबर राष्ट्रीय शिक्षक दिवस से पहले देशभर के सभी स्कूली शिक्षकों को प्राथमिकता के आधार पर टीकाकरण करने को कहा है। इसी बीच देश के कई राज्यों के स्कूल आज से कोविड सुरक्षा प्रोटोकॉल के साथ ऑफलाइन कक्षाएं शुरू कर रहे हैं।

दिल्ली : दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (डीडीएमए) ने स्कूल खोलने को लेकर दिशानिर्देश भी जारी किए हैं जिनका पालन अनिवार्य है।  इसके तहत स्कूलों में मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग के अलावा थर्मल स्क्रीनिंग अनिवार्य की गई है।  लंच ब्रेक खुले स्थान पर होगा।  क्लासेज में छात्र एक सीट छोड़कर बैठेंगे।  इसके साथ ही सरकार ने कहा है कि कोविड के नियंत्रण क्षेत्रों में रहने वाले छात्रों, शिक्षकों और अन्य कर्मचारियों को स्कूल और कॉलेजों में आने की अनुमति नहीं होगी। सरकार ने यह भी कहा कि ऑफलाइन कक्षाओं के साथ-साथ ऑनलाइन कक्षाएं भी जारी रहेंगी।

तमिलनाडु  : तमिलनाडु राज्य में आज से 50 प्रतिशत क्षमता के साथ 9वीं से 12वीं कक्षा के स्कूल खुल रहे हैं।  सरकार ने स्कूलों को फिर से खोलने के लिए एसओपी भी जारी किया है, जिसके अनुसार स्कूल सप्ताह में छह दिन काम करेंगे और क्लासेज और सेक्शन को अधिकतम 20 छात्रों के बैच में विभाजित किया जाएगा, जो एक कमरे में बैठेंगे। एसओपी में कहा गया है कि अगर स्कूलो में एडिशनल कमरे उपलब्ध नहीं हैं, तो छात्रों को ऑल्टरनेटिव दिनों में बुलाया जाएगा।  इसके साथ ही राज्य सरकार ने भी कहा है कि स्कूलों में छात्रों की उपस्थिति अनिवार्य नहीं की गई है।  ऑफलाइन कक्षाओं के साथ ऑनलाइन क्लासेज का विकल्प भी जारी रहेगा।

मध्य प्रदेश : मध्य प्रदेश में आज से कक्षा 6 से 12वीं तक के स्कूल खोले जा रहे हैं इससे पहले, सरकार ने कक्षा 9 से 12 के छात्रों को स्कूलों में जाने की अनुमति दी थी।  छात्रों को स्कूल आने के लिए अपने माता-पिता से लिखित में मंजूरी लाना अनिवार्य होगा, स्कूल प्रबंधन और अभिभावकों को कोविड-19 प्रोटोकॉल का अनुपालन सुनिश्चित करना होगा।

राजस्थान : राजस्थान में 1 सितंबर यानी आज से 9वीं से 12वीं कक्षा के लिए स्कूल, विश्वविद्यालय,  कॉलेजों और कोचिंग संस्थान खुल रहे हैं।  क्लासेज सेशन  संचालित की जाएंगी और प्रत्येक सत्र में 50 प्रतिशत छात्रों को कक्षाओं में भाग लेने की अनुमति दी गई है।  फिलहाल छोटी कक्षाओं के लिए स्कूल कब से खुलेंगे इस बारे में सरकार ने कोई घोषणा नहीं की है।

उत्तर प्रदेश : यूपी में आज से प्राइमरी कक्षाओं (कक्षा 1 से 5) के लिए स्कूल खोल दिए गए हैं।  इससे पहले राज्य में 9वीं से 12वीं कक्षा के स्कूल खोले जा चुके हैं।  इस दौरान स्कूलों को कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन करना अनिवार्य किया गया है।  इसके साथ ही कहा गया है कि यदि कोविड की स्थिति बिगड़ती है तो स्कूल फिर से बंद किए जा सकते हैं।  आज से यूपी में मदरसे में भी बच्चे पढने जाएंगे।   बेसिक शिक्षा परिषद ने निगरानी के लिए टीम बनाई है।  स्कूलों में स्वच्छता और सैनिटाइजेशन का कार्य प्रत्येक दिन किया जाएागा।   पठन-पाठन के साथ-साथ बच्चों की सुरक्षा पर भी पूरा ध्यान देने के निर्देश दिए गए हैं।  गौरतलब है कि स्कूलों में छात्रों की उपस्थिति अनिवार्य नहीं  की गई है।  

त्रिपुरा : त्रिपुरा राज्य में 1 सितंबर से कक्षा 6 से 12 के छात्रों के स्कूलों के साथ-साथ अन्य उच्च शिक्षण संस्थानों को फिर से खोल दिया गया है।  कक्षाओं में उपलब्ध स्थान के आधार पर सभी स्कूलों को सिंगल या डबल शिफ्ट में काम करना होगा।

तेलंगाना : तेलंगाना राज्य में एक सितंबर से स्कूल फिर से खुल रहे हैं।  स्कूलों के साथ ही कॉलेजों और कोचिंग सेंटर समेत सभी शैक्षणिक संस्थानों में आज से फिजिकल मोड में कक्षाएं शुरू हो रही हैं।

Chhattisgarh Govt increased Bus Fare: छत्तीसगढ़ में 25 प्रतिशत बढ़ा अब बस किराया

31-Aug-2021

रायपुर: कोरोना संक्रमण के चलते लॉकडाउन और डीजल की बढ़ती किमतों के चलते आर्थिक संकट से जूझ रहे बस मालिकों के लिए राहत भरी खबर है। दरअसल सरकार और यातायात महासंघ के बीच यात्री किराया बढ़ाने की मांग ने यात्री किराया बढ़ाने की मांग पर सहमति बन गई है। यात्री किराया 25 प्रतिशत बढ़ाने की मांग पर सहमति बनी है। जबकि यातायात संघ की मांग 40 प्रतिशत किराया बढ़ाने की थी।

यातायात महासंघ और बस मालिकों की फेडरेशन 40% किराया बढ़ाने की मांग पर अड़े थे लेकिन सीएम से मुलाक़ात के बाद 25% पर सहमति बन गई। आने वाले दिनों में होने वाली कैबिनेट की बैठक में प्रस्ताव को मंजूरी भी मिलेगी। बस चालाक लगातार बढ़ती पेट्रोल-डीजल (Petrol-Diesel) की कीमतों को लेकर भी चिंतित हैं और उनका कहना था कि अब बसों को पुराने किराए के मुताबिक चला पाना संभव नहीं है। बस ऑपरेटर्स के मुताबिक लॉकडाउन के दौरान बसें लगभग साल भर से ज्यादा बंद रहीं, जिससे उन्हें नुकसान झेलना पड़ा है। इसके अलावा लगातार पेट्रोल और डीजल की कीमतों में इजाफा होता जा रहा है, जिससे बसों के संचालन में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

इसके बाद सरकार ने यात्रियों और बस संचालकों को ध्यान में रखते हुए बस किराए में 25% की वृद्धि करने का निर्णय लिया है। अब निर्णय के साथ साथ प्रदेश में यात्रा करने वाले सभी यात्रियों को पहले से ज्यादा किराया व्यय करना होगा।

Coronavirus Updates: तीसरी लहर जल्द आएगी! 24 घंटे में 600 से ज्यादा मौत,इन राज्यों में मिले डेल्टा प्लस के केस

28-Aug-2021

नई दिल्ली (इंडिया)  देश में कोरोना संक्रमण के मामले फिर बढ़ते नजर आ रहे हैं।  पिछले कुछ दिनों की बात करें तो नये मामले 40 हजार के आसपास ही बने हुए हैं, जिनमें से आधे से अधिक मामले केरल और पूर्वोत्तर के राज्य से ही हैं।  भारत में पिछले 24 घंटों में कोरोना वायरस के 38,628 नए मामले आए हैं जबकि 40,017 रिकवरी हुई है।  इस दौरान 617 लोगों की कोरोना से मौत हुई।  अब कोरोना के कुल मामले 3,18,95,385 हो चुके हैं।  वहीं सक्रिय मामले 4,12,153 हैं।  कोरोना संक्रमण से अबतक कुल मौत 4,27,371 हुई है।

कोरोना के बढ़ते नए मरीजों की संख्या को लेकर केंद्र सरकार की चिंता बढ़ गई है और गुरुवार को केंद्रीय गृह सचिव ने महाराष्ट्र और केरल के अफसरों के साथ मीटिंग भी की थी।  मीटिंग में होम सेक्रेटरी ने राज्यों से पूछा कि आखिर कैसे हम उन इलाकों में कोरोना पर लगाम लगा सकते हैं, जहां केस ज्यादा मिल रहे हैं।  दोनों राज्य सरकारों से उन्होंने नाइट कर्फ्यू लगाने की संभावना पर भी विचार करने को कहा है।  गृह सचिव ने केरल और महाराष्ट्र सरकारों से कहा कि वे टीकाकरण के अभियान में तेजी लाएं और यदि वैक्सीन की कमी होती है तो उसकी मांग करें।    केंद्र ने राज्यों से कहा है कि वे सामाजिक कार्यक्रमों पर रोक लगाएं और फेस्टिवल के दौरान भी भीड़भाड़ नहीं जुटने दें।  यदि आने वाले दिनों में कोरोना के केसों में और इजाफा होता है तो एक बार फिर से लॉकडाउन के दिन वापस लौट सकते हैं।

Tokyo 2020 Paralympics: भाविना पटेल ने रचा इतिहास, गोल्ड मेडल जीतने से सिर्फ एक कदम दूर

28-Aug-2021

भाविना पटेल पैरालंपिक फाइनल में पहुंचने वाली भारत की पहली टेबल टेनिस खिलाड़ी बन गई हैं।  उन्होंने शनिवार को टोक्यो खेलों में महिला एकल क्लास 4 वर्ग के सेमीफाइनल में चीन की झांग मियाओ को 7-11, 11-7, 11-4,  9-11, 11-8  से मात दी।  अब वह गोल्ड मेडल जीतकर इतिहास रचने से महज एक कदम दूर हैं।  इन खेलों में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने के लिए प्रतिबद्ध भारतीय दल के लिए अच्छी शुरुआत हुई है।  जीत के बाद 34 साल की भाविना ने कहा, 'मैंने सेमीफाइनल में चीनी खिलाड़ी को हराया है।  अगर आप चाह लें तो कुछ भी असंभव नहीं होता। '

भाविना ने सेमीफाइनल में पहुंचकर भारत के लिए ब्राॅन्ज मेडल अपने नाम किया है। अब उनका यहां पर सामना चीन की झांग मियाओं से होगा। लेकिन सेमीफाइनल में पहुंचने के बाद यह तो तय है कि भाविना अब भारत खाली हाथ नहीं लौटेंगी। भारतीय पैरालंपिक समिति की अध्यक्ष दीपा मलिक ने ट्विटर पर जारी वीडियो में कहा कि ‘‘यह निश्चित है कि हम उन्हें एक पदक जीतते हुए देखेंगे। कल सुबह के मैच से यह तय होगा कि वह किस रंग का पदक जीतेंगी।’’ इसके साथ ही बहुत ही जल्द अब यह पता चलने वाला है कि भाविना अपने नाम कौन सा पदक करने वाली हैं स्वर्ण या कांस्य।

And that's how she did it! ????#IND's @BhavinaPatel6's winner that sealed her a spot in the Class 4 #ParaTableTennis gold medal final!

Watch ???? ????#Paralympics #Tokyo2020pic.twitter.com/E4N3GXlN6T

— #Tokyo2020 for India (@Tokyo2020hi) August 28, 2021

छत्तीसगढ़ हाईकोर्ट पर भड़कीं तापसी और सोना, बोलीं- बस यही सुनना बाकी था

27-Aug-2021

बिलासपुर (छत्तीसगढ़) 'पत्नी के साथ जबरदस्ती शारीरिक संबंध बनाना दुष्कर्म नहीं' छत्तीसगढ़ हाईकोर्ट की इस टिप्पणी पर तापसी पन्नू और सोना मोहापात्रा भड़कीं। तापसी ने ट्वीट किया, ‘बस अब यही सुनना बाकी था’। जबकि सोना ने ट्वीट किया, 'इसे पढ़कर मुझे जो बीमारी महसूस हो रही है, वो यहां मैं जो कुछ भी लिखूं उससे परे है।'  जी

दरअसल अदालत ने एक मुकदमे की सुनवाई में फैसला सुनाया कि 'कानूनी रुप से विवाहित पत्नी के साथ पति द्वारा बनाए गए यौन संबंध या कोई भी यौन कृत्य बलात्कार नहीं है। चाहे वह बलपूर्वक हो या उसकी इच्छा के विरुद्ध।' अब इसे लेकर बॉलीवुड एक्ट्रेस तापसी पन्नू ने एक ट्वीट किया है। तापसी सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव रहती हैं और वह हर मुद्दे पर अपनी राय रखने से पीछे नहीं हटती हैं।

हाल ही में जैसे ही उन्हें कोर्ट के इस फैसले के बारे में पता चला उन्होंने तुरंत सोशल मीडिया पर पोस्ट किया है। आप देख सकते हैं तापसी पन्नू ने अपने ट्वीट में लिखा है- 'अब बस ये ही सुनना बाकी था।' उनके इस ट्वीट को देखकर कई लोग उन्हें सही बता रहे हैं। वैसे तापसी के अलावा सिंगर सोना मोहापात्रा ने भी सोशल मीडिया पर अपना गुस्सा जाहिर किया है। आप देख सकते हैं उन्होंने ट्वीट किया है और लिखा है- 'इस भारत को पढ़कर मुझे जो बीमारी महसूस हो रही है। वह किसी भी चीज से परे है जिसके बारे में मैं लिख सकती हूं।'

 

Bas ab yehi sunna baaki tha . https://t.co/K2ynAG5iP6

— taapsee pannu (@taapsee) August 26, 2021

The sickness I feel reading this #India , is beyond anything I can write here. ???????????? https://t.co/uUm7l9bzxM

— Sona Mohapatra (@sonamohapatra) August 26, 2021

Google Maps' New Feature: रास्ते में आने वाला टोल चार्ज पता चल सकेगा फोन के गूगल मैप्स ऐप पर

26-Aug-2021

Google Maps एक दिलचस्प अपडेट पर काम कर रहा है जो यूजर्स को अपनी ट्रिप को बेहतर तरीके से प्लान करने में मदद करेगा।  इस फीचर की मदद से सफर पर निकल रहे लोग ये पहले ही जान सकेंगे कि रास्ते में पड़ने वाले टोल के चार्ज के बारे में बताएगा।  इससे आपको ट्रिप पर जाने से पहले ये तय करने में आसान होगी कि किस रूट से जाना है और किस से नहीं।  फिलहाल इस फीचर की टेस्टिंग चल रही है।  रिपोर्ट्स बताती हैं कि मैपिंग ऐप अब आपको बताएगा कि किन सड़कों पर टोल गेट हैं और आपको टोल टैक्स के रूप में कितना पेमेंट करना होगा। इससे आपको यह चुनने में मदद मिलेगी कि आपको टोल गेट वाली सड़क पर जाना है या नहीं।  दरअसल प्रिव्यू प्रोग्राम के एक सदस्य को इस फीचर पर काम करते हुए स्पॉट किया गया है।  कैसे टोल की कीमत डिस्प्ले करता है, इस फीचर को लागू करने के लिए यूजर्स का सर्वे करते हुए देखा गया है।  जिससे इस फीचर के बारे में पता चला है।  यूजर्स के लिए ये कब तक रोलआउट कर दिया जाएगा, इसको लेकर कंपनी की तरफ से अभी कोई जानकारी नहीं दी गई है।

नक्सलियों ने किया आईटीबीपी कैंप पर हमला, असिस्टेंट कमांडेंट और एएसआई शहीद

20-Aug-2021

नारायणपुर। छत्तीसगढ़ के नारायणपुर से बड़ी खबर आ रही है। यहाँ कुछ नक्सलियों ने तिब्बत सीमा पुलिस पर हमला कर दिया है, जिसके कारण आईटीबीपी के दो जवान मुठबेड़ में वीरगति को प्राप्त हो गए। खबर के मुताबिक, इस हमले में एक एएसआई और असिस्टेंड कमांडेंट ने राष्ट्रसेवा करते हुए अपने प्राणों का बलिदान दिया है। नारायणपुर के कडेमेटा आईटीबीपी कैंप से 600 मीटर की दूरी एम्बुश ने निगरानी रख रहे नक्सलियों ने जवानों पर हालमा कर दिया।

आईटीबीपी के जवान सड़क निर्माण कार्य की सुरक्षा के लिए गश्त पर निकले थे। पहले से घात लगाकर बैठे नक्सलियों ने उन पर हमला कर दिया। अंधाधुंध फायरिंग में दो जवान घटनास्थल पर ही शहीद हो गए। नक्सलियों ने मृत जवानों के हथियार भी लूट लिए।

बस्तर के आईजी पी सुंदरराज ने घटना की पुष्टि की है। उन्होंने बताया कि आईटीबीपी कैंप पर हमला कर नक्सली एक एके-47 राइफल, दो बुलेट प्रूफ जैकेट और एक वायरलेस सेट भी लूट कर ले गए।

पुलिस के अनुसार सुरक्षा बलों की मदद के लिए अतिरिक्त फोर्स को घटनास्थल के लिए रवाना किया गया है। मुठभेड़ में कई नक्सलियों को भी गोली लगने की सूचना है।

शौर्य के माथे अब गर्व की बिंदी: अब एनडीए परीक्षा में भाग ले सकेंगी महिलाएं, सेना में स्थायी कमीशन के साथ महिलाएं अब सेनाध्यक्ष भी बन सकेंगी

19-Aug-2021

NDA FEMALE ENTRY । सुप्रीम कोर्ट ने महिलाओं को राष्ट्रीय रक्षा अकादमी में प्रवेश के लिए परीक्षा में बैठने का निर्देश दिया। परीक्षा 5 सितंबर के लिए निर्धारित है। प्रवेश आदि अदालत के अंतिम आदेशों के अधीन होंगे। सुप्रीम कोर्ट ने महिलाओं के लिए अवसरों का विरोध करने के लिए सेना को फटकार लगाई, सेना को रवैया बदलने को कहा गया और कहा कि सिर्फ न्यायिक आदेश पारित होने पर ही कदम नहीं उठाएं।

परीक्षा 5 सितंबर को होनी है. परीक्षा के रिज़ल्ट/ प्रवेश आगे चलकर आने वाले सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर निर्भर करेगा. सुप्रीम कोर्ट ने महिलाओं को समुचित अवसर न दिए जाने को लेकर आर्मी के रुख की आलोचना की. SC का ये आदेश इसलिए अहम है क्योंकि अभी तक लड़कियों को NDA परीक्षा में बैठने की इजाज़त नहीं थी.

कोर्ट रूम लाइव: हमारे कहे बिना सुधार क्यों नहीं होता

जस्टिस कौल (केंद्र सरकार से): सेना में महिलाओं को परमानेंट कमीशन देने के फैसले को लागू करने के बाद भी अब आप इस दिशा में आगे क्यों नहीं बढ़ रहे। आपका तर्क निराधार है और बेतुका सा लग रहा है। क्या देश की सेना न्यायिक आदेश पारित करने पर ही काम करेगी अन्यथा नहीं? जब तक कोर्ट निर्णय पारित नहीं करता तब तक सेना स्वेच्छा से कुछ भी सुधारात्मक प्रयास करने में विश्वास नहीं करती है।

ऐश्वर्या भाटी (एडिशनल सॉलीसिटर जनरल): हमने सेना में महिलाओं को परमानेंट कमीशन दिया है।

जस्टिस कौल (टोकते हुए): जब तक कोर्ट ने आदेश नहीं दिया, तब तक आप विरोध करते रहे। आपने खुद कुछ नहीं किया। लगता है सेना पूर्वाग्रह से ग्रसित है। सेना को महिलाओं के प्रति रवैया बदलना चाहिए।

ऐश्वर्या भाटी: ऐसा नहीं है। सेना में प्रवेश के 3 तरीके हैं। एनडीए, आईएमए व ओटीए। महिलाओं को आईएमए व ओटीए से प्रवेश की अनुमति है।

जस्टिस कौल: सह-शिक्षा समस्या क्यों है?

ऐश्वर्या भाटी: पूरा ढांचा ऐसे ही बना है। यह एक नीतिगत निर्णय है। इससे बाहर नहीं जा सकते।

जस्टिस कौल: आपका नीतिगत निर्णय लैंगिक भेदभाव पर आधारित है। महिलाओं को परमानेंट कमीशन देने के फैसले के मद्देनजर इस मामले पर रचनात्मक दृष्टिकोण रखना चाहिए।

इस सरकारी स्कीम के जरिये पति-पत्नी को हर महीने मिलेगी 10,000 रुपये पेंशन, जानें योग्यता और फायदों के बारे में

16-Aug-2021

Atal Pension Yojana: बुढ़ापे की फिक्र हर किसी को होती है. अगर आप भी अपने रिटायर्मेंट को सिक्योर रखने के लिए सुरक्षित जगह निवेश करने का प्लान बना रहे हैं तो सरकार की अटल पेंशन योजना (Atal Pension Yojana- APY) में पैसा लगा सकते हैं. इस स्कीम में पति और पत्नी अलग अलग अकाउंट के जरिए मंथली 10,000 रुपये की पेंशन हासिल कर सकते हैं. सरकार की इस स्कीम में 40 साल तक की उम्र तक का व्यक्ति आवेदन कर सकता है। आइए जानते हैं अटल पेंशन योजना में 60 साल के बाद आपको कितनी पेंशन मिलेगी।

अटल पेंशन योजना का मकसद हर तबके को पेंशन के दायरे में लाना है। हालांकि, पेंशन निधि विनियामक व विकास प्राधिकरण (PFRDA) ने सरकार से अटल पेंशन योजना (APY) के तहत अधिकतम उम्र बढ़ाने की सिफारिश की हुई है।

 आप पेमेंट के लिए 3 तरह का प्लान चुन सकते हैं, मंथली निवेश, तिमाही निवेश या छमाही निवेश।

- इनकम टैक्स के सेक्शन 80CCD के तहत इसमें टैक्स छूट का फायदा मिलता है।

- एक सदस्य के नाम से सिर्फ 1 ही अकाउंट खुलेगा।                                    

- अगर 60 साल के पहले या बाद में सदस्य की मौत हो जाती है, तो पेंशन की राशि वाइफ को मिलेगी।

- अगर सदस्य और वाइफ दोनों की मौत हो जाती है तो सरकार नॉमिनी को पेंशन देगी।

योजना के तहत अकाउंट में हर महीने एक तय योगदान करने पर रिटायरमेंट के बाद 1 हजार रुपये से 5 हजार रुपये मंथली तक की पेंशन मिलेगी। सरकार हर 6 महीने में सिर्फ 1239 रुपए निवेश करने पर 60 साल की उम्र के बाद आजीवन 5000 रुपये महीना यानी 60,000 रुपये सालाना पेंशन की गारंटी सरकार दे रही है। मौजूदा नियमों के अनुसार अगर 18 साल की उम्र में योजना से अधिकतम 5 हजार रुपये मंथली पेंशन के लिए जुड़ते हैं तो आपको हर महीने 210 रुपये देने होंगे। अगर यही पैसा हर तीन महीने में देते हैं तो 626 रुपये और छह महीने में देने पर 1,239 रुपये देने होंगे। महीने में 1,000 रुपये पेंशन पाने के लिए अगर 18 साल की उम्र में निवेश करते हैं तो मासिक 42 रुपये देने होंगे।

अगले 25 साल भारत के अमृत काल, पीएम मोदी ने बताया क्या हैं इसके लिए देश के संकल्प

15-Aug-2021

 

नई दिल्ली (इंडिया) प्रधानमंत्री  नरेंद्र मोदी ने देश के 75वें स्वतंत्रता (75th Independence Day) दिवस के मौके पर लाल किले की प्राचीर से देश को संबोधित किया। उन्होंने अपने संबोधन की शुरुआत में  देश के स्वतंत्रता सेनानियों और वीरांगनाओं का नमन किया। साथ ही भविष्य में देश के संकल्प को विस्तार से बताया। उन्होंने कहा कि हर देश की विकास यात्रा में एक समय ऐसा आता है, जब वह देश खुद को नए सिरे से परिभाषित करता है और खुद को नए संकल्पों के साथ आगे बढ़ाता है। उन्होंने कहा, "भारत की विकास यात्रा में भी आज वो समय आ गया है। यहां से शुरू होकर अगले 25 वर्ष की यात्रा नए भारत के सृजन का अमृतकाल है। इस अमृतकाल में हमारे संकल्पों की सिद्धि, हमें आजादी के 100 वर्ष तक ले जाएगी।"

  • पीएम ने देश के संकल्प को विस्तार से बताते हुए कहा, ''भारत को आधुनिक इंफ्रास्ट्रक्चर के साथ ही इंफ्रास्ट्रक्चर निर्माण में होलिस्टिक अप्रोच अपनाने की भी जरूरत है।
  • भारत आने वाले कुछ ही समय में प्रधानमंत्री गतिशक्ति- नेशनल मास्टर प्लान को लॉन्च करने जा रहा है।
  • देश ने संकल्प लिया है कि आजादी के अमृत महोत्सव के 75 सप्ताह में 75 वंदेभारत ट्रेनें देश के हर कोने को आपस में जोड़ेंगीं।
  • आज जिस गति से देश में नए एयरपोर्ट का निर्माण हो रहा है, उड़ान योजना दूर-दराज के इलाकों को जोड़ रही है, वो भी अभूतपूर्व है।''
  • देश के 80 प्रतिशत से ज्यादा किसान ऐसे हैं, जिनके पास 2 हेक्टेयर से भी कम जमीन है। पहले जो देश में नीतियां बनीं, उनमें इन छोटे किसानों पर जितना ध्यान केंद्रित करना था, वो रह गया। अब इन्हीं छोटे किसानों को ध्यान में रखते हुए निर्णय लिए जा रहे हैं। छोटा किसान बने देश की शान, ये हमारा सपना है। आने वाले वर्षों में हमें देश के छोटे किसानों की सामूहिक शक्ति को और बढ़ाना होगा। उन्हें नई सुविधाएं देनी होंगी।
  • गांव में जो हमारी सेल्फ हेल्प ग्रुप से जुड़ी 8 करोड़ से अधिक बहनें हैं, वो एक से बढ़कर एक प्रॉडक्ट्स बनाती हैं। इनके प्रॉडक्ट्स को देश में और विदेश में बड़ा बाजार मिले, इसके लिए अब सरकार ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म तैयार करेगी।
  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि आज हम अपने गांवों को तेजी से परिवर्तित होते देख रहे हैं। बीते कुछ वर्षों में गांवों तक सड़क और बिजली जैसी सुविधाओं को पहुंचाते रहे हैं। अब गांवों तक ऑप्टिकल फाइबर नेटवर्क, डेटा की ताकत पहुंच रही है, इंटरनेट पहुंच रहा है।
  • देश के जिन ज़िलों के लिए ये माना गया था कि ये पीछे रह गए, हमने उनकी आकांक्षाओं को भी जगाया है। देश मे 110 से अधिक आकांक्षी ज़िलों में शिक्षा, स्वास्थ्य, पोषण, सड़क, रोज़गार, से जुड़ी योजनाओं को प्राथमिकता दी जा रही है।

पराक्रमी बच्चों को मिलेगा राष्ट्रीय वीरता पुरस्कार, रायपुर में 15 अगस्त तक जमा होंगे आवेदन

13-Aug-2021

रायपुर। भारतीय बाल कल्याण परिषद नई दिल्ली की ओर से राष्ट्रीय वीरता पुरस्कार वर्ष 2021-22 के लिए आवेदन आमंत्रित किया गया है। ऐसे बालक-बालिका जिन्होंने अपनी जान की परवाह किए बिना एक जुलाई 2020 से 30 सितंबर 2021 के मध्य किसी दूसरे की जान बचाने का पराक्रम किया हो, वे अपने जिले के महिला एवं बाल विकास विभाग को निर्धारित प्रारूप में आवेदन प्रेषित कर सकते हैं।

रायपुर जिले के बच्चे 15 अगस्त तक जिला कार्यक्रम अधिकारी कार्यालय में आवेदन कर सकते हैं। इसके लिए बच्चे की उम्र घटना दिनांक को 6 वर्ष से 18 वर्ष तक होनी चाहिए।

राष्ट्रीय वीरता पुरस्कार प्राप्तकर्ता बच्चे को पदक, नगद पुरस्कार तथा प्रशस्ति पत्र प्रदान किया किया जाएगा। इस संबंध में विस्तृत जानकारी भारत सरकार महिला एवं बाल विकास विभाग मंत्रालय की वेबसाइट www.iccw.co.in से प्राप्त की जा सकती है।

WhatsApp पर अब कभी मिस नहीं होगी Group Video Call! जानें कैसे इस्तेमाल करें नया फीचर

12-Aug-2021

(Note: ध्यान रहे कि इस फीचर का इस्तेमाल करने के लिए आप वॉट्सऐप का लेटेस्ट वर्जन इस्तेमाल कर रहे हो। आइए जानते हैं कैसे WhatsApp पर मिस्ड ग्रुप कॉल को join किया जाता है।)

कई बार हमें ग्रुप Video/Voice की आई कॉल मिस हो जाती है और हमें उस कॉल के मेंबर से खुद को फिर से ऐड करने के लिए कहना पड़ता है, लेकिन नए फीचर के आने के बाद इस मिस्ड कॉल को यूज़र अपने हिसाब से जॉइन कर सकेंगे।

WhatsApp ने हाल ही में नया फीचर Joinable Calls लॉन्च किया है। इस नए फीचर से यूज़र्स चल रही वीडियो कॉल को भी जॉइन कर सकते हैं। जॉइनेबल कॉल फीचर का मकसद है कि यूज़र्स अपने दोस्तों, रिश्तेदारों के कॉल को मिस न करें। इस फीचर के तहत यूज़र चल रही कॉल को छोड़ कर दोबारा फिर से जॉइन भी कर सकते हैं। यूज़र्स को उनके कॉल लॉग में ‘tap to join’ ऑप्शन मिलता है, जिसपर जाकर वह मिस्ट ग्रुप कॉल में जुड़ सकते हैं।

>>इसके लिए सबसे पहले WhatsApp ओपेन करें, और Calls पर टैप करें।

>>यहां आपकी कॉल लॉग के टॉप पर उस कॉल के लिए ‘tap to join’ ऑप्शन दिखेगा, जिस ग्रुप कॉल को आपने मिस कर दिया है।

>>Group कॉल पर टैप कर करें, और ग्रुप कॉल को इंटर करने के लिए Join पर प्रेस करें।

Bachpan Ka Pyaar गाना रिलीज: स्वैग में नजर आए दोनों, देखें Video

11-Aug-2021

Badshah ने लगाई Bachpan Ka Pyar फेम बच्चे Sahdev की लॉटरी, रिलीज किया नया गाना। Bachpan Ka Pyaar गाने से सोशल मीडिया के जरिए पूरे देश में लोकप्रिय हो चुके सहदेव दिर्दो (Sahdev Dirdo) का पहला ऑफिशियल गाना रिलीज कर दिया गया है। गाने को मशहूर रैपर बादशाह (Badshah) ने क्रिएट किया है। गाने का टाइटल भी 'बचपन का प्यार' (Bachpan Ka Pyaar) ही रखा गया है। इस सॉन्ग में रैप के जरिए बचपन से लेकर बड़े होने तक की लव स्टोरी को दर्शाया गया है। इस गाने को लेकर काफी दिनों से सोशल मीडिया पर बज बना हुआ था। आखिरकार यह गाना रिलीज हो गया है।

 

Upcoming Movies: अगस्त में रिलीज होंगी ये बेहतरीन फिल्में

03-Aug-2021

ओटीटी प्लेटफॉर्म्स पर जुलाई महीने में हसीन दिलरुबा, स्टेट ऑफ सीज: टेंपल अटैक, तूफान, कॉलर बॉम्ब और फील्स लाइक इश्क जैसी वेब सीरीज और फिल्मों की बरसात के बाद अगस्त में कई शानदार फिल्में रिलीज होने वाली हैं. इसमें मनोज बाजपेयी और नीना गुप्ता की डायल 100, अक्षय कुमार और सारा अली खान की अतरंगी रे, अजय देवगन की भुज, सिद्धार्थ मल्होत्रा और कियारा आडवाणी की शेरशाह जैसी शानदार फिल्में शामिल हैं. इन्हें आप नेटफ्लिक्स, अमेजन प्राइम वीडियो, ZEE5, डिज्नी प्लस हॉटस्टार, एरोज नाउ, वूट स्पेशल, MX प्लेयर और ALT बालाजी जैसे ओटीटी प्लेटफॉर्म्स पर देख सकते हैं.

आइए, अगस्त महीने में रिलीज होने वाली वेब सीरीज और फिल्मों के बारे में जानते हैं...

फिल्म- अतरंगी रे (Atrangi Re)

स्टारकास्ट- अक्षय कुमार, सारा अली खान और धनुष

डायरेक्टर- आनंद एल राय

कहां देख सकते हैं- थियेटर

रिलीज कब होगी- 6 अगस्त

 

फिल्म- डायल 100 (Dial 100)

स्टारकास्ट- मनोज बाजपेयी, नीना गुप्ता और साक्षी तंवर

डायरेक्टर- रेंसिल डिसिल्वा

कहां देख सकते हैं- ZEE5

रिलीज कब होगी- 6 अगस्त

 

टीवी रियलिटी शो- बिग बॉस ओटीटी (Bigg Boss OTT)

स्टारकास्ट- करण जौहर, नेहा भसीन, अक्षरा सिंह, अनुशा दांडेकर, रिद्ध‍िमा पंडित, करण नाथ, दिव्‍या अग्रवाल और जीशान अली

डायरेक्टर- एंडमॉल इंडिया

कहां देख सकते हैं- वूट

रिलीज कब होगी- 8 अगस्त

 

फिल्म- शेरशाह (Shershaah)

स्टारकास्ट- सिद्धार्थ मल्होत्रा, कियारा आडवाणी, शिव पंडित, राज अर्जुन, प्रणय पचौरी और पवन चोपड़ा

डायरेक्टर- विष्णु वर्धन

कहां देख सकते हैं- अमेजन प्राइम वीडियो

रिलीज कब होगी- 12 अगस्त

 

फिल्म- भुज: प्राइड ऑफ़ इंडिया (Bhuj: The Pride of India)

स्टारकास्ट- अजय देवगन, संजय दत्त, सोनाक्षी सिन्हा, शरद केलकर, प्रणीता सुभाष और नोरा फतेही

डायरेक्टर- अभिषेक दुधैया

कहां देख सकते हैं- डिज़्नी प्लस हॉटस्टार

रिलीज कब होगी- 13 अगस्त

 

फिल्म- गॉडजिला वर्सेस कॉन्ग (Godzilla vs Kong)

स्टारकास्ट- एलेक्जेंडर स्कार्सगार्ड, रेबेका हॉल, शन ओगुरी, जूलियन डेनिसन, डेमियन बिचिर और ब्रयान टायरी हेनरी

डायरेक्टर- एडम विनगार्ड

कहां देख सकते हैं- अमेजन प्राइम वीडियो

रिलीज कब होगी- 14 अगस्त

केरल बनेगा कोरोना की तीसरी लहर का केंद्र, 50% मामले अकेले केरल से, केंद्र भेजेगा टीम

30-Jul-2021

केरल।   केरल में बकरीद के दौरान सरकार की ओर से दी गई छूटों का खामियाजा अब आम जनता को उठाना पड़ रहा है। यहां कोरोना के केस अब दोगुनी तेजी से बढ़ रहे हैं। आलम यह है कि पिछले दो दिनों में राज्य मेें कोरोना के 22 हजार से ज्यादा केस दर्ज किए जा रहे हैं। यानी पूरे देश में आ रहे 43 हजार केसों में आधे केरल से ही हैं। इतना ही नहीं देश में मौजूदा समय में 4 लाख एक्टिव केस हैं, जिनमें 1।5 लाख सक्रिय मामले केरल से ही हैं। इस स्थिति को देखते हुए केरल की लेफ्ट सरकार ने 31 जुलाई और 1 अगस्त को पूर्ण लॉकडाउन का ऐलान किया है। केंद्र सरकार ने भी एक छह सदस्यीय टीम केरल की मदद के लिए भेजी है। बीते 50 दिनों में देश के किसी भी राज्य में इतनी बड़ी संख्या में कोरोना के नए मामले दर्ज नहीं किए गए हैं। केरल में कोरोना के ये आंकड़े तीसरी लहर के यहीं से शुरू होने का अंदेशा दे रहे हैं।

859 लोग प्रति वर्ग किमी के साथ राज्य का जनसंख्या घनत्व ज्यादा है। साथ ही बुजुर्ग आबादी की संख्या भी ज्यादा है। आंकड़े बताते हैं कि कम से कम 15 प्रतिशत जनसंख्या 60 साल से ज्यादा उम्र की है। इसके अलावा डायबिटीज जैसी बीमारियों के ज्यादा मामलों के चलते राज्य की कोरोना के खिलाफ जंग मुश्किल बनी हुई है। हिंदुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट में एक्सपर्ट्स के हवाले से बताया गया कि धीमी जांच दर, रैपिड एंटीजन टेस्ट से खास लगाव और नौकरशाही पर निर्भरता जैसे कई कारण भी केरल की कोविड लड़ाई को धीमा कर रहे हैं।

राज्य में ऑक्सीजन वाले बिस्तरों की कमी नहीं है, लेकिन राज्य की स्वास्थ्य व्यवस्था फिर भी दबाव में है। स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, बीते हफ्ते से तुलना की जाए, तो बिस्तरों की मांग 14 फीसदी बढ़ी है और इस हफ्ते 80 प्रतिशत कोविड बिस्तरों पर मरीजों का इलाज जारी था। देश के 30 सबसे प्रभावित जिलों में से 10 केरल के हैं। कोरोना वायरस की दूसरी लहर (Coronavirus Second Wave) रोकने के लिए केरल की रणनीतियों की काफी तारीफ हुई थी, लेकिन लगातार बढ़ रहे संक्रमण के मामले अब बिगड़ते हालात की गवाही दे रहे हैं। इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) की तरफ से किए गए सीरोसर्वे में भी पता चला है कि केरल में सबसे कम 44।4 फीसदी एंटीबॉडीज हैं।

छत्तीसगढ़ में 16 महीने बाद खुलेंगे स्कूल, राज्य शासन ने जारी की गाइडलाइन

29-Jul-2021

रायपुर,छत्तीसगढ़,इंडिया।   छत्तीसगढ़ में 2 अगस्त से 10वीं और 12वीं कक्षा के साथ स्कूल खोले जाएंगे। सोमवार को राज्य सरकार ने इसके आदेश जारी कर दिए। आदेश के साथ स्कूल-कॉलेजों के लिए एक गाइडलाइन भी जारी की गई है। प्रदेश के स्कूल शिक्षा मंत्री प्रेमसाय सिंह टेकम ने सोमवार शाम को यह जानकारी दी। कॉलेज में 2 अगस्त से सबसे पहले पोस्ट ग्रेजुएट की क्लासेज शुरू होंगी। यूजी की क्लासेस 15 दिन बाद शुरू होंगी।

इस संबंध में राज्य शासन द्वारा जारी विस्तृत दिशा-निर्देश अनुसार स्कूलें तभी खोली जाएंगी जब जिले में कोरोना पॉजिटिव रेट सात दिनों तक लगातार एक प्रतिशत से कम होगा।

टेकम ने बताया कि कोरोना के दिशानिर्देशों का पालन करते हुए स्कूल-कॉलेजों में 50% छात्रों को आने की अनुमति होगी। इसके लिए अभिभावकों की सहमति जरूरी होगी। शिक्षण संस्थानों को खेसने की अनुमति उन्हीं जिलों में होगी, जहां सात दिनों तक कोरोना की पॉजिटिविटी दर एक प्रतिशत से कम रही है। सर्दी, खांसी या बुखार से पीड़ित छात्रों को ऑफलाइन क्लास में बैठने की इजाजत नहीं दी जाएगी।

स्कूल में छोटी कक्षाओं की ऑफलाइन क्लास का फैसला ग्रामीण क्षेत्रों में ग्राम पंचायत और स्कूल की पालक समिति करेगी। शहरी इलाकों में संबंधित वार्ड के पार्षद और स्कूल की पालक समिति की मंजूरी के बाद क्लासेज शुरू की जा सकेंगी।