Wednesday,28 September 2022   06:06 am
Previous123456789...2930Next

रोड सेफ्टी वर्ल्ड सीरीज : रायपुर में फ्री में देख सकेंगे क्रिकेट मैच, सभी को मिलेगी एंट्री

22-Sep-2022

रायपुर: छत्तीसगढ़ के राजधानी रायपुर में होने वाले रोड सेफ्टी वर्ल्ड क्रिकेट टूर्नामेंट के मैच का पास फ्री रखा है। यानी इसके लिए टिकट की जरूरत नहीं हैं। इसमें सभी को एंट्री मिलेगी।

बता दें कि रोड सेफ्टी वर्ल्ड सीरीज 2022 के आखिरी दो नॉकआउट मैच परसदा स्थित शहीद वीर नारायण सिंह अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम में खेले जाएंगे। 27 सितंबर को श्रीलंका-बांग्लादेश और इंग्लैंड-ऑस्ट्रेलिया के बीच मुकाबला होगा। इसके लिए आयोजन समिति ने मैच को पास फ्री रखा है। इसमें सभी को एंट्री दी जाएगी। उसके बाद होने वाले दो सेमीफाइनल और फाइनल मैच के लिए पास की जरूरत होगी या ऑनलाइन टिकट खरीदना पड़ेगा।
रायपुर में 27 सिंतबर को पहला श्रीलंका-बांग्लादेश के बीच मैच खेला जाएगा। इसी दिन दूसरा मैच इंग्लैंड-ऑस्ट्रेलिया के बीच होगा। पहले मैच के लिए टिकट रखा गया था, जो ऑनलाइन बेचा जा रहा था। अब दोनों मैच को पास फ्री कर दिया गया है। इसके लिए टिकट की जरूरत नहीं हैं। दोनों टीम 26 सितंबर तक रायपुर पहुंच जाएगी। वहीं सीरीज में दो सेमीफाइनल होना है। दोनों रायपुर में खेला जाएगा। पहला सेमीफाइनल 28 सितंबर और दूसरा 29 सितंबर को खेला जाएगा। इसका फाइनल 1 अक्टूबर को होगा। तीनों मैच के लिए दर्शकों को टिकट खरीदना होगा।

दुर्गा पंडालों के लिए प्रशासन ने जारी की गाइडलाइन, सीसीटीवी लगाना अनिवार्य, डीजे धुमाल के उपयोग पर प्रतिबंध…

22-Sep-2022

रायपुर।  नवरात्र पर्व की तैयारी एवं व्यवस्था को लेकर बुधवार को समितियों के संचालकों की बैठक ली गई। एडीएम एनआर साहू ने बताया कि बैठक में सभी समितियों के प्रमुखों को आवश्यक व्यवस्था करने के निर्देश दिए गए हैं।

  • इस बार सड़कों पर पंडाल लगाने पर प्रतिबंध लगाया गया है।
  • नवरात्र पर्व पर सभी समितियों को पंडाल में सीसीटीवी कैमरे लगवाना अनिवार्य है। 
  • रात 10 बजे के बाद डीजे धुमाल एवं तीव्र ध्वनि विस्तारक यंत्र के उपयोग किये जाने पर वैधानिक कार्रवाई की चेतावनी दी गई है।
  • सुरक्षा के नाते ऐसा आदेश दिया गया है। विसर्जन के लिए पांच और छह अक्टूबर का समय दिया गया है। इसके बाद विसर्जन की अनुमति नहीं दी जाएगी। 
  • इसके अलावा विभिन्न प्रकार के बड़े आयोजनों के लिए अलग से अनुमति लेने के लिए निर्देशित किया गया है, जिसके तहत एडीएम से अनुमति लेना अनिवार्य होगा।
  • एडीएम ने बताया कि सभी समितियों को यह भी निर्देशित किया गया है, कि असामाजिक तत्वों अथवा अस्त्र-शस्त्र का प्रयोग करने वाले व्यक्तियों की जानकारी अविलंब संबंधित थानों में दे दी जाए। समिति पदाधिकारियों को भी अपनी जानकारी थानों में देने के लिए कहा गया है।

 

कर्मचारियों के लिए आ गई खुशखबरी, सरकार ने क‍िया यह बड़ा ऐलान?

23-Sep-2022

अगर आप के घर में कोई सरकारी कर्मचारी है, आप के लिए बड़ी खुश खबरी है। बता दें कि त्योहारों के शुरू होने से पहले ही सरकार ने सरकारी कर्मचारियों को एक बड़ी सौगात देदी है।  रकार ने कर्मचारियों के महंगाई भत्ते में इजाफा किए जाने के फैसले पर मुहर लगा दी है। सरकारी कर्मचारी काफी लंबे वक्त से डीए में इजाफा करने की मांग कर रहे थे। तो चलिए आप को यहां पर बताते हैं इन कर्मचारियों को कितना फायदा होने वाला है। 

मोदी सरकार ने केंद्रीय कर्मचारियों का महंगाई भत्ता बढ़ाने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है। केंद्रीय कैबिनेट की बैठक में केंद्रीय कर्मचारियों को महंगाई भत्ते (DA) में 4 फीसदी की बढ़ोतरी के प्रस्ताव को मंजूरी दी गई है।
हालांकि अभी इसकी आधिकारिक घोषणा नहीं की गई है। सरकार की ओर से बढ़े हुए डीए की औपचारिक घोषणा 28 सितंबर यानी नवरात्रि के तीसरे दिन की जा सकती है। यह बढ़ा हुआ डीए 1 जुलाई 2022 से लागू होगा। केंद्रीय कर्मचारियों को सितंबर के वेतन के साथ बढ़ा हुआ डीए भी मिलेगा।

  1. छत्तीसगढ़  के सीएम बघेल के सीएम को गणेश की शादी की चिंता, छह फीट की दुल्हन खोजने में लोगों से मांगी मदद 

  2. रायपुर में फ्री में देख सकेंगे क्रिकेट मैच, सभी को मिलेगी एंट्री

  3. CRPF में होगी 400 युवाओं की भर्ती, इस दिन से शुरू होगी प्रक्रिया…जानिए डिटेल

  4. महिला ने KFC से मंगाया चिकन सैंडविच, पैकेट खोलते ही नोटों के बंडल देख उड़ गए होश!

अधिकतम मूल वेतन पर गणना
कर्मचारी का मूल वेतन 56,900 रुपये
नया महंगाई भत्ता (38%) रु 21,622/माह
अब तक का महंगाई भत्ता (34%) रु 19,346/माह
कितना महंगाई भत्ता 2260 रुपये प्रति माह बढ़ा?
सालाना वेतन में 27,120 रुपये की बढ़ोतरी

छत्तीसगढ़ की अनोखी नदी जिसमें बहता है सोना, इस नदी से रोज़ निकलता है सोना, जानें कैसे बटोरते हैं लोग?

19-Sep-2022

नदी के बारे में ये बात सुनने में थोड़ी अजीब जरूर लगती है, लेकिन देश में एक ऐसी नदी भी है जिसकी रेत से सैकड़ों साल से सोना निकाला जा रहा है। हालांकि आजतक रेत में सोने के कण मिलने की सही वजह का पता नहीं लग पाया है। भूवैज्ञानिकों का मानना है कि नदी तमाम चट्टानों से होकर गुजरती है। इसी दौरान घर्षण की वजह से सोने के कण इसमें घुल जाते है।

जानकार बताते हैं कि कोटरी गांव के संगम घाट पर ग्रामीण सैकड़ों वर्षों से सोना निकाल रहे हैं। ग्रामीण नदी से निकाले जाने वाली मिट्टी को डोंगीनुमा लकड़ी के बर्तन में धोते हैं। धुलाई के बाद बचे हुए बारीक कण को इकट्ठा किया जाता है। कण के ज्यादा मात्रा में जमा होने पर हिलाया जाता है और कण को पिघलाकर सोने का रूप दिया जाता है। उसे क्वारी सोना कहा जाता है।

क्वारी सोना शुद्ध माना जाता है। सोना निकासी का काम कई पीढ़ियों से परिवार कर रहे हैं। नदी की रेत से सोना निकालने के काम में जुटे आसपास रहने वाले कई परिवारों का घर चलता है। सोनझरिया परिवार आज भी पुश्तैनी व्यवसाय सोना निकालने में जुटा है। पारिवारिक सदस्य पतकसा, बड़गांव, कोंडे, कोटरी नदी, खंडी नदी, घमरे नदी, रावघाट ,बड़े डोंगर के अलावा महाराष्ट्र की कुछ नदियों में जाकर सोने निकालने का काम करते हैं।

सोना निकालने के काम में जुटे परिवार को जेवरात बनाने की जानकारी नहीं है। नदी से निकलनेवाला सोना हाई क्वालिटी का होता है। परिवार औने पौने दाम पर सोना बेच देता है। ग्रामीण रवि मंडावी और रितेश नाग ने बताया कि सोनझरिया परिवार कभी सोना बेचकर रकम इकट्ठा नहीं कर पाए। सोना की बिक्री से हाथ आई रकम परिवार की रोजी रोटी और कपड़े पर खर्च हो जाती है।

Indian Railways: अब अपना कंफर्म टिकट दूसरे यात्री को ट्रांसफर कर सकेंगे पैसेंजर, जानिए Step-by-Step प्रोसेस 

PSC परीक्षा में बैठने वाले युवाओं के लिए खुशखबरी, MP में एज लिमिट में मिली 3 साल की छूट 

Google के लिए  झटका भारत, अमेरिका, यूरोपीय संघ बिग टेक एकाधिकार को चुनौती दे रहा है ?

 

PM Narendra Modi Birthday: PM मोदी 72 साल के हुए, राहुल गांधी-अमित शाह समेत दिग्गजों ने दी बधाई

17-Sep-2022

नेपाल के पीएम शेर बहादुर ने दी पीएम मोदी को जन्मदिन की बधाई, कहा- पशुपतिनाथ करें आपकी रक्षा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आज 72वां जन्मदिन है। इस अवसर पर राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू, राहुल गांधी, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह समेत कई नेताओं ने बधाई दी है।

गृह मंत्री ने नरेंद्र मोदी को सुरक्षित, सशक्त और आत्मनिर्भर नए भारत का निर्माता बताते हुए कहा है कि उनका जीवन सेवा और समर्पण का प्रतीक है। उन्होंने कहा कि आजादी के बाद पहली बार करोड़ों गरीबों को उनका अधिकार देकर नरेंद्र मोदी ने उनमें आशा और विश्वास का भाव जगाया है। आज देश का हर वर्ग चट्टान की तरह नरेंद्र मोदी के साथ खड़ा है।

अमित शाह ने एक अन्य ट्वीट कर कहा है कि भारतीय संस्कृति के संवाहक नरेंद्र मोदी ने देश को अपनी मूल जड़ों से जोड़ हर क्षेत्र में आगे ले जाने का काम किया है। नरेंद्र मोदी की दूरदर्शिता और नेतृत्व में नया भारत एक विश्वशक्ति बनकर उभरा है। मोदी जी ने वैश्विक नेता के रूप में अपनी पहचान बनाई है जिसका पूरी दुनिया सम्मान करती है।

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने भी ट्वीट कर पीएम मोदी को जन्मदिन की बधाई दी है। उन्होंने पीएम मोदी को जन्मदिन की बधाई दी है और जमकर तारीफ की है। राजनाथ सिंह ने ट्वीट कर कहा है कि उन्होंने (पीएम मोदी) अपने नेतृत्व से देश में प्रगति और सुशासन को अभूतपूर्व मजबूती दी है और पूरे विश्व में भारत की प्रतिष्ठा और स्वाभिमान को नई ऊंचाई दी है। ईश्वर उन्हें स्वस्थ रखें और दीर्घायु करें।

उन्होंने एक अन्य ट्वीट कर पीएम मोदी की तारीफ की और कहा कि मोदी ने देश में राजनीति को नया आयाम दिया है और विकास के साथ गरीब कल्याण को भी पूरा महत्व दिया है। जनता से जुड़ाव, जनता से संवाद और देश की नब्ज पर मजबूत पकड़ उन्हें भारत के मन और जन से जोड़ती है। वे भारत के मान और सम्मान को नई बुलंदी पर ले जाएं यही शुभकामना है। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी ट्वीट कर पीएम मोदी को बधाई दी है।

छत्तीसगढ़ : दो बच्चों को लेकर कुएं में कूदी महिला, तीनों की मौत

16-Sep-2022

Chhattisgarh News: छत्तीसगढ़ के कोरबा जिले में मानसिक रूप से बीमार एक महिला दो बच्चों को लेकर कुंए में कूद गई। गुरुवार सुबह तीनों के शव बरामद कर लिए गए। पुलिस अधिकारियों ने शुक्रवार को इसकी जानकारी दी। यह पूरा घटनाक्रम दीपका थाना क्षेत्र के ग्राम मांगामार गांव का बताया जा रहा है। जानकारी के मुताबिक गांव में रामगोपाल उइके का परिवार निवास करता है। बताया जा रहा है कि गुरुवार की देर रात 2 से 3 बजे के बीच रामगोपाल की पत्नी गिरजा बाई अपने 6 महीने की बेटी और 2 वर्ष के बेटे सिद्धांत के साथ घर से निकली थी। इसके बाद उसने पड़ोस में स्थित कुएं में बच्चों के साथ छचांग लगा दी। घटना के वक्त तब उसका पति घर में सो रहा था। आज सुबह गांव के लोगों ने शव को कुएं में देखा और पुलिस को खबर दी। पुलिस की मौजूदगी में कांटा फेंका गया तो एक-एक कर तीनों शव नजर पानी मैं नजर आए। पुलिस ने बताया कि रामगोपाल उइके की पत्नी गिरजा बाई (26 वर्ष) अपनी 6 महीने की बेटी सानिया और 2 वर्ष के बेटे सिद्धांत उर्फ सिद्धू के साथ घर से निकली और बगल में बने कुएं में बच्चों कूद गई।

  1. हिंदी दिवस पर छत्‍तीसगढ़ हाईकोर्ट ने शुरू की नई परंपरा, अब हिंदी में जारी होगी आदेश की कॉपी 

  2. छत्तीसगढ़: जानें किन 3 गांवों में 17 साल बाद खुले स्‍कूल, पढ़ें इसके प‍ीछे की कहानी 

  3. ED Raids: दिल्ली शराब घोटाले में ED की बड़ी कार्रवाई, देशभर में 40 ठिकानों पर छापेमारी

Engineer’s day 2022: जानें क्यों आज मनाया जाता है इंजीनियर्स डे, पीएम मोदी ने भी दिया संदेश

15-Sep-2022

भारत में हर साल 15 सितंबर इंजीनियर्स डे (Engineer’s Day 2022) के रूप में मनाया जाता है। यह वह दिन है जो देश भर में इंजीनियरों के महत्व और मूल्यवान योगदान पर प्रकाश डालता है। इस दिन सर मोक्षगुंडम विश्वेश्वर्या का जन्म हुआ था। जिन्हें सर एमवी विश्वेश्वरैया के नाम से भी जाना जाता है। उनका 1861 को एक तेलुगु परिवार में हुआ था। उनके माता-पिता संस्कृत के विद्वान थे। उनका परिवार कर्नाटक के चिक्कबल्लापुर का रहने वाला था।

भारत रत्न से सम्मानित थे एम विश्वेश्वरैया
इंजीनियर्स डे देश के महान इंजीनियर मोक्षगुंडम विश्वेश्वरैया को ही समर्पित है। आधुनिक भारत के बांधो, जलाशयों और जल विद्युत परियोजनाओं के निर्माण में उन्होंने काफी अहम योगदान दिया था। उनके इस योगदान के सम्मान में भारत सरकार ने उन्हें वर्ष 1955 में भारत रत्न से सम्मानित किया था। 
विभिन्न कार्यों में निभाई थी अहम भूमिका
भारत रत्न से सम्मानित एम विश्वेश्वरैया का जन्म 15 सितंबर 1861 को मैसूर के कोलार जिले के एक तेलुगू परिवार में हुआ था। उनके पिता श्रीनिवास शास्त्री संस्कृत के विद्वान और आयुर्वेद के डॉक्टर थे। उन्होंने 1883 में पूना के साइंस कॉलेज से सिविल इंजीनियरिंग की डिग्री हासिल की थी। एम विश्वेश्वरैया द्वारा मैसूर में किए गए आधुनिक विकास कार्यों के कारण उन्हें मॉर्डन मैसूर का पिता भी कहा जाता है। उन्होंने मांड्या जिले में बने कृष्णराज सागर बांध निर्माण में अहम भूमिका निभाई थी। साल 1962 में 102 साल की उम्र में डॉ. मोक्षगुंडम का निधन हुआ। 
पीएम मोदी ने दी बधाई
पीएम मोदी ने इस मौके पर बधाई देते हुए लिखा इंजीनियर दिवस पर सभी इंजीनियरों को बधाई। हमारे देश के लिए एक कुशल और प्रतिभाशाली इंजीनियरों का वर्ग है जो राष्ट्र निर्माण में योगदान दे रहे हैं। हमारी सरकार इंजीनियरिंग का अध्ययन करने के लिए बुनियादी ढांचे को बढ़ाने के लिए काम कर रही है, जिसमें और अधिक इंजीनियरिंग कॉलेज बनाना शामिल है। उन्होंने कहा, इंजीनियर दिवस पर, हम सर एम विश्वेश्वरैया के अभूतपूर्व योगदान को याद करते हैं। वह भविष्य के इंजीनियरों की पीढ़ियों को खुद को अलग करने के लिए प्रेरित करते रहें। पीएम मोदी ने अपने मन की बात प्रसारण से एक अंश भी पोस्ट किया जहां उन्होंने इस विषय पर बात की थी।

जानिए सिर्फ 10 मिनट में घर बैठे कैसे बनाएं आयुष्मान कार्ड ?

13-Sep-2022

Ayushman Card  Online Apply: जैसा कि आप सभी लोग जानते हैं। देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने देश में सबसे बड़ी स्वास्थ्य बीमा योजना का संचालन कर रहे हैं। इस बीमा योजना को आयुष्मान भारत योजना अथवा प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के नाम से जाना जाता है। इस योजना के अंतर्गत सरकार का 10 करोड़ से अधिक परिवारों को ₹5,00,000 तक का हेल्थ इंश्योरेंस प्रदान करने का लक्ष्य रखा गया है। आयुष्मान कार्ड से BPL के तहत 5 लाख रुपये, APL में 50 हज़ार तक का फायदा ले सकते हैं. 

सेतु पोर्टल के माध्यम से पंजीयन कराना होगा. उसके लिए इस लिंक पर https://setu.pmjay.gov.in/setu/ क्लिक करें. इसके बाद आप Register Yourself & Search Beneficiary पर क्लिक करे सभी डिटेल भर दें. इसके बाद Do Your eKYC & wait for Approval पर अपडेट करें. ये सब कंपलीट होने के बाद Download Your Ayushman Card पर क्लिक कर आप आसानी Ayushman Card घर बैठे बना सकते हैं. इस टोल फ्री नंबर पर संपर्क करें. ( Toll-Free – 14555)

  1. Fire in Electric Scooter :  इलेक्ट्रिक बाइक शोरूम में आग लगने से आठ की मौत। पीएम मोदी ने जताया दुख

  2. Electric Highway: सरकारी योजना के तहत हो रहा इलेक्ट्रिक हाईवे का निर्माण,जानिए ? 

  3. घर में सोलर प्लांट लगाने वाले उपभोक्ताओं को बड़ा झटका, गहलोत सरकार ने लागू किया ये नया नियम जानिए ? 

Fire in Electric Scooter : इलेक्ट्रिक बाइक शोरूम में आग लगने से आठ की मौत। पीएम मोदी ने जताया दुख

13-Sep-2022

Fire in Electric Scooter : तेलंगाना के सिकंदराबाद में सोमवार देर रात बड़ा हादसा हो गया। यहां एक इलेक्ट्रिक स्कूटर शोरूम में आग लग गई। बताया जा रहा है कि घटना उस वक्त हुई जब यहां इलेक्ट्रिक बाइक चार्ज की जा रही थी। आग लगने के कारण अब तक हादसे में आठ लोगों की मौत हो चुकी है। 

डीसीपी नॉर्थ जोन चंदना दीप्ति ने बताया, पहले छह लोगों की मौत (Fire in Electric Scooter) की पुष्टि हुई थी, लेकिन दम घुटने के कारण दो अन्य की मौत सामने आई है। उन्होंने बताया, अभी तक की जांच में सामने आया हे कि यह हादसा शॉर्ट सर्किट की वजह से हुआ। 

लॉज में भर गया धुंआ
अधिकारियों ने बताया, शोरूम के ऊपर लॉज भी स्थित है। आग लगने के कारण पहले व दूसरे माले पर धुंआ भर गया, जिससे लोगों का दम घुटने लगा। इसके बाद लोगों ने इमारत से कूदकर अपनी जान बचाई। स्थानीय लोगों द्वारा उन्हें अस्पताल पहुंचाया गया। हालांकि, कई लोग इसमें फंस गए और दम घुटने से उनकी मौत हो गई। इसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने मोर्चा संभाला और लोगों को इमारत से बाहर निकाला। बताया जा रहा है कि इस घटना में पांच नए स्कूटर व सर्विसिंग के लिए आए 12 पुराने स्कूटर जल कर खाक हो गए।  

पीएम मोदी ने जताया शोक
घटना पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शोक जताया है। उन्होंने कहा, सिकंदराबाद में आग लगने से हुई आठ लोगों की मौत से दुखी हूं। शोक संतप्त परिवारों के प्रति संवेदना। घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना। इसके साथ ही उन्होंने प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष से मृतक के परिजनों को दो लाख रुपये व घायलों को 50,000 रुपये के भुगतान का एलान किया। 

घटना के बाद मौके पर पहुंचे तेलंगाना के गृहमंत्री मोहम्मद महमूद अली (Fire in Electric Scooter) ने कहा, यह बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण घटना है। फायर ब्रिगेड की टीमों ने लॉज से लोगों को निकालने की पूरी कोशिश की लेकिन भारी धुएं के कारण कुछ लोगों की मौत हो गई। लॉज से कुछ लोगों को बचा लिया गया। घटना की वजह जानने के लिए जांच बिठाई गई है। 

आज से मुख्यमंत्री भूपेश बघेल 15 सितंबर तक रायगढ़ जिले में करेंगे भेंट मुलाक़ात...

12-Sep-2022

छत्तीसगढ़ में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने अपने प्रदेशव्यापी भेंट-मुलाकात अभियान का आगाज इसी वर्ष बीते 4 मई से किया था। इसकी अगली कड़ी में मुख्यमंत्री बघेल 12 सितंबर से 15 सितंबर तक रायगढ़ जिले के लैलूंगा, खरसिया और धरमजयगढ़ विधानसभा क्षेत्र के दौरे पर रहेंगे और आमजनता से भेंट-मुलाकात करेंगे।

उल्लेखनीय है कि भेंट-मुलाकात अभियान के पीछे मुख्यमंत्री का उद्देश्य आमजन, जनप्रतिनिधियों व सामाजिक-व्यापारिक संगठनों से सीधे चर्चा कर शासकीय योजनाओं का जमीनी स्तर पर क्रियान्यवन की हकीकत को जानना और जनसमस्याओं से रूबरू होना है। वहीं मुख्यमंत्री बघेल जहां भी आमजन से भेंट-मुलाकात के लिए जा रहे हैं, वहां जनआकांक्षाओं के अनुरूप घोषणाएं भी कर रहे हैं, जिनमें शासन-प्रशासन के स्तर पर त्वरित अमल भी किया जा रहा है।

गौरतलब है कि 4 मई से शुरू हुए भेंट-मुलाकात अभियान में मुख्यमंत्री श्री बघेल अब तक 15 जिलों की 28 विधानसभा क्षेत्र का दौरा कर चुके हैं। इसमें सरगुजा संभाग की 14 विधानसभा क्षेत्र, बस्तर संभाग के 12 विधानसभा क्षेत्र, बिलासपुर संभाग में गौरेला-पेंड्रा-मरवाही जिले की मरवाही विधानसभा व रायगढ़ जिले के रायगढ़ विधानसभा का दौरा कर चुके हैं।

भेंट-मुलाकात कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल न केवल आम जनता से राज्य शासन की योजनाओं पर फीडबैक ले रहे हैं, बल्कि स्थानीयजनों की मांग पर क्षेत्र के विकास के लिए मौके पर ही अनेक घोषणाएं भी कर रहे हैं साथ ही शिकायत आने पर भी उसका तत्काल निराकरण किया जा रहा है।

मुख्यमंत्री बघेल आम जनता से योजनाओं का फीडबैक लेने के साथ ही दौरा कार्यक्रम के दौरान विधानसभाओं में स्थित स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी माध्यम स्कूल, शासकीय प्राथमिक शालाओं, आंगनबाड़ियों, तहसील कार्यालय, स्वास्थ्य केंद्रों, राशन दुकानों एवं अन्य सरकारी कार्यालयों का भी निरीक्षण कर वहां पर व्यवस्था की जानकारी ले रहे हैं।

इस दौरान मुख्यमंत्री श्री बघेल आवश्यक सुधार के निर्देश एवं आवश्यक कार्रवाई भी कर रहे हैं। स्कूलों में बच्चों से भेंट-मुलाकात कर उनके द्वारा बच्चों से बातचीत कर स्कूल में अध्यापन एवं अन्य व्यवस्थाओं की जानकारी भी ली जा रही है।

भेंट-मुलाकात कार्यक्रम को लेकर प्रदेश की जनता भी उत्साह में है एक ओर उन्हें अपने मुख्यमंत्री से सीधे संवाद का मौका मिल रहा है। वहीं दूसरी ओर मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल की तत्काल निराकरण की पहल से भेंट-मुलाकात कार्यक्रम के प्रति जनता का विश्वास और उत्साह दुगुना हुआ है।
 

2025 तक देश होगा टीबी से मुक्त! मरीजों को फूड बास्केट, परिजनों को रोजगार की ट्रेनिंग, सोशल सपोर्ट पर जोर

10-Sep-2022

2025 तक तपेदिक (टीबी) को खत्म करने के लक्ष्य की ओर काम करते हुए केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय शुक्रवार को प्रधानमंत्री टीबी मुक्त भारत अभियान शुरू कर रहा है। जिसमें सामुदायिक सपोर्ट से रोगियों के लिए पोषण, अतिरिक्त इलाज में मदद और उनके परिवार के लोगों के लिए व्यावसायिक प्रशिक्षण का प्रबंध करना शामिल होगा। जबकि उत्तर प्रदेश और महाराष्ट्र जैसे कुछ राज्यों में इसके लिए ‘नि-क्षय मित्र’ नामक पहल पहले से ही चल रही है। राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू शुक्रवार को औपचारिक रूप से इसका शुभारंभ करेंगी।

इंडियन एक्सप्रेस की एक खबर के मुताबिक इस योजना के तहत व्यक्ति, गैर सरकारी संगठन और कॉरपोरेट 1-3 साल के लिए समर्थन देकर टीबी रोगियों को गोद ले सकते हैं।  इस पहल में शामिल होने के लिए उन्हें साइट https://communitysupport।nikshay.in पर पंजीकरण करना होगा। जिसमें प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों, ब्लॉक, जिलों और राज्यों के अनुसार वर्गीकृत टीबी रोगियों की एक सूची है। प्रायोजक अपनी क्षमता के अनुसार रोगियों की संख्या को चुन सकते हैं।

सरकार ने 2025 तक टीबी मुक्त भारत बनाने का लक्ष्य तो रख दिया है। सवाल यह है कि लक्ष्य पूरा कैसे होगा? क्योंकि TB (ट्यूबरकुलोसिस) मरीजों की संख्या कम होने के बजाय बढ़ता ही जा रहा है। प्रयागराज की बात करें तो यहां पिछले 5 माह में 60 टीबी मरीजों की जान चली गई। मरने वाले सभी मरीज MDR यानी गंभीर टीबी की चपेट में थे। जिला क्षयरोग अधिकारी डॉ. अरूण कुमार तिवारी ने बताया कि अभी जनपद में करीब 6 हजार टीबी मरीज हैं जिनका इलाज चल रहा है। उन्होंने कहा कि टीबी मरीजों की संख्या में हो रही वृद्धि में कमी लाने के लिए क्या किया जाए इस पर शासन स्तर से व स्वास्थ्य विभाग के एक्सपर्ट काम कर रहे हैं।

निडल फ्री ‘नेजल वैक्सीन’ को लेकर सारे सवालों के जबाव मिलेंगे यहां, देखें कीमत और फायदे की पूरी डिटेल

07-Sep-2022

वायरस से पैदा होने वाली अधिकांश बीमारियां या तो मुंह या फिर नाक के लिए शरीर में प्रवेश करती हैं। ऐसे में जहां से वायरस की एंट्री होती है, वहीं से इसके खिलाफ एंटीबॉडी बनाने या इसे रोकने के लिए नेजल वैक्सीन बेहतर साबित होगी। नेजल वाली वैक्सीन नाक के अंदरुनी हिस्सों में प्रतिरोधक क्षमता को तैयार करेगी। फिलहाल देश में कोरोना की इंट्रा मस्कुलर वैक्सीन की डोज दी जा रही है। इन वैक्सीन को मांसपेशियों में दिया जाता है। वहां से दवा ब्लड में जाती है और फिर एंटीबॉडी बनाती है। इससे कोरोना के वायरस से लड़ने की ताकत मिलती है।

हैदराबाद की कंपनी भारत बायोटेक ने नेजल वैक्सीन का 4 हजार वॉलिंटियर्स पर क्लीनिकल ट्रायल किया है। इनमें से किसी पर इसका कोई साइड इफेक्ट देखने को नहीं मिला है। अगस्त महीने में तीसरे चरण के क्लीनिकल ट्रायल के बाद साफ हो गया था कि BBV154 वैक्सीन इस्तेमाल के लिए सुरक्षित है।

  1. Ration Card: इस महीने के बाद नहीं मिलेगा मुफ्त राशन, सरकार बंद करने जा रही योजना! देने होंगे इतने रुपए

  2. बारिश से थम गई बेंगलुरु की रफ्तार,UBER बुलाने पर आया ट्रेक्टर देखिए हर तरफ तबाही का मंजर

कैसे काम करती है नेजल वैक्सीन?

नेजल स्प्रे वैक्सीन को इंजेक्शन की बजाय नाक से दिया जाता है। यह नाक के अंदरुनी हिस्सों में इम्यून तैयार करती है। इसे ज्यादा कारगर इसलिए भी माना जाता है क्योंकि कोरोना समेत हवा से फैलने वाली अधिकांश बीमारियों के संक्रमण का रूट प्रमुख रूप से नाक ही होता है और उसके अंदरूनी हिस्सों में इम्युनिटी तैयार होने से ऐसे बीमारियों को रोकने में ज्यादा असरदार साबित होती है।

नेजल वैक्सीन के फायदे :

  • इंजेक्शन से छूटकारा
  • नाक के अंदरुनी हिस्सों में इम्यून तैयार होने से सांस से संक्रमण होने का खतरा घटेगा
  • इंजेक्शन से छुटकारा होने के कारण हेल्थवर्कर्स को ट्रेनिंग की जरूरत नहीं
  • बच्चों का टीकाकरण करना आसान होगा
  • उत्पादन आसान होने से दुनियाभर में डिमांड के अनुरूप उत्पादन और सप्लाई संभव

सोनाली फोगाट मौत मामला: CBI जांच की मांग को लेकर हाईकोर्ट जाएगा परिवार, गोवा पुलिस की जांच से है नाखुश

05-Sep-2022


सोनाली फोगाट के परिवार ने इससे पहले मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर से मुलाकात कर इस मामले की सीबीआई जांच की मांग की थी। इस पर मुख्यमंत्री ने भी इस केस की सीबीआई जांच का आश्वासन दिया था।भाजपा नेता सोनाली फोगाट की मौत के मामले में गोवा पुलिस की जांच पर असंतोष व्यक्त करते हुए उनका परिवार इस मामले की सीबीआई जांच की मांग को लेकर गोवा हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाएगा। बताया जा रहा है कि हरियाणा के हिसार में करीब चार दिनों से गोवा पुलिस की जांच चल रही है, जिसमें उसने अहम सबूत भी जुटाए हैं।सोनाली फोगाट के परिवार ने इससे पहले मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर से मुलाकात कर इस मामले की सीबीआई जांच की मांग की थी। मुख्यमंत्री ने भी सीबीआई जांच का आश्वासन दिया था। हालांकि, अब गोवा पुलिस की चल रही जांच से असंतुष्ट होकर परिवार ने अपनी मांग को लेकर गोवा हाईकोर्ट जाने का फैसला किया है।


गोवा पुलिस सरकार के दबाव में है

उन्होंने कहा कि सोनाली फोगाट को साजिश और हत्या के प्रयास के तहत गोवा ले जाया गया था, जहां उनकी बेरहमी से हत्या कर दी गई थी। उन्हें जबरन ड्रग्स दिया गया था जिसे आप सीसीटीवी वीडियो में स्पष्ट रूप से देख सकते हैं। हमें गोवा पुलिस पर कतई भरोसा नहीं है। वो सही जांच नहीं कर रही है। मुझे लगता है कि गोवा पुलिस भी कहीं न कहीं सरकार के दबाव में है, क्योंकि अगर जांच करनी ही थी तो सुधीर सांगवान को अपने साथ हरियाणा लेकर आना चाहिए था ताकि कुछ पता चल सके और जांच अच्छे से हो सके। उसके बिना वे क्या जांच कर रहे हैं? 


प्रमोद सावंत बोले- मैं अपनी पुलिस टीम की जांच से संतुष्ट हूं

इस बीच, सोनाली फोगाट की कथित हत्या के जवाब में गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत ने पहले कहा था कि हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर को एक गोपनीय रिपोर्ट भेजी गई थी और जल्द ही आरोप पत्र दायर किया जाएगा। पुलिस टीम सोनाली से जुड़ी संपत्ति और खातों की जांच करेगी। गोवा के सीएम ने कहा कि हमने गोपनीय रिपोर्ट हरियाणा के सीएम को भेज दी है। मैं अपनी पुलिस टीम द्वारा की गई जांच से संतुष्ट हूं। पांच लोगों को गिरफ्तार किया गया है। जल्द ही चार्जशीट दाखिल की जाएगी। 42 वर्षीय सोनाली फोगट को 23 अगस्त को उत्तरी गोवा के अंजुना के सेंट एंथोनी अस्पताल में मृत घोषित कर दिया गया था। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में उनके शरीर पर चोट के निशान पाए गए थे, जिसके बाद गोवा पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज किया था।ससे पहले, गोवा पुलिस ने कहा था कि सोनाली फोगाट को उनके दो सहयोगियों ने जबरन ड्रग्स दिया था, जिन्हें अब मामले में आरोपी बनाए जाने के बाद गिरफ्तार किया गया है। 

दीवाली के बाद 46,000 तक गिर जाएगा गोल्ड! जानें एक्‍सपर्ट की नजर में क्‍या है सोने का भविष्‍य

03-Sep-2022

आज 10 ग्राम 24 कैरेट सोने का भाव 50,470 रुपये पर कारोबार करता नजर आया। सोने के भाव में 61 रुपये की तेजी आई। आज 23 कैरेट गोल्ड की औसत कीमत 50,268 रुपये रही। 22 कैरेट सोने का हाजिर भाव 46,230 रुपये रहा। 14 कैरेट का भाव 29,525 रुपये रहा।
एक्‍सपर्ट्स का कहना है कि वैश्विक और घरेलू मार्केट में फिलहाल ऐसा कोई फैक्‍टर नजर नहीं आ रहा, जिससे सोने के भाव (Gold Price) को सहारा मिले.

पहले रूस और यूक्रेन की जंग की वजह सोने के कीमतों में तेजी आई थी, लेकिन अब इस तनाव का असर भी जाता रहा है.
ओरिगो ई मंडी के असिस्टेंट जनरल मैनेजर (कमोडिटी रिसर्च) तरुण तत्संगी के मुताबिक साल के अंत तक स्पॉट मार्केट में सोने का भाव 46,000 रुपये तक गिर सकता है। उन्होंने कहा कि इंटरनेशनल और घरेलू मार्केट में कोई भी फैक्टर सोने की कीमतों को बढ़ाने में मदद नहीं करने वाला है। उन्होंने कहा कि पहले रूस और यूक्रेन के वार के कारण सोने के कीमतों में तेजी आई लेकिन अब इसका असर गोल्ड की कीमतों पर नहीं है।

PM Modi, CM Jaganmohan Reddy और Gautam Adani पर केस दर्ज, डॉक्टर ने भ्रष्टाचार और पेगासस जासूसी समेत कई मुद्दों को लेकर दर्ज कराया

01-Sep-2022

भारतीय मूल के एक अमेरिकी चिकित्सक ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री वाई एस जगनमोहन रेड्डी और दिग्गज करोबारी गौतम अडाणी के खिलाफ भ्रष्टाचार, पेगासस स्पाइवेयर के इस्तेमाल तथा अन्य मुद्दों को लेकर एक वाद दायर किया है। 

कोलंबिया के ‘यूएस डिस्ट्रिक कोर्ट' ने इन सभी लोगों को नोटिस जारी किए हैं। न्यूयॉर्क के प्रख्यात भारतीय-अमेरिकी अटॉर्नी रवि बत्रा ने इसे ‘पॉइंट लेस्स' करार दिया।

रिचमंड के गैस्ट्रोएंटेरोलॉजिस्ट डॉ लोकेश वुयुररु ने यह वाद प्रधानमंत्री मोदी, रेड्डी और अडाणी के खिलाफ दायर किया है। इस वाद में ‘वर्ल्ड इकनॉमिक फोरम' के अध्यक्ष तथा संस्थापक प्रोफेसर क्लॉस श्वाब का भी नाम शामिल है। 
आंध्र प्रदेश से ताल्लुक रखने वाले चिकित्सक ने आरोप लगाया है कि प्रधानमंत्री मोदी, रेड्डी, अडाणी तथा अन्य लोग भ्रष्टाचार में लिप्त हैं जिसमें अमेरिका में बड़े पैमाने पर नकदी हस्तांतरण और राजनीतिक विरोधियों के खिलाफ जासूसी सॉफ्टवेयर पेगासस का इस्तेमाल शामिल है।

हालांकि,डॉक्टर लोकेश वुयुररु ने इस संबंध में कोई सबूत पेश नहीं किए हैं।  वुयुररु ने 24 मई को केस दर्ज कराया था जिसके बाद अदालत ने 22 जुलाई को नोटिस जारी किए। लेकिन भारत में उन्हें ये समन 4 अगस्त मिले हैं। इस केस में वर्ल्ड इकनॉमिक फोरम के अध्यक्ष और संस्थापक प्रोफेसर क्लॉस श्वाब का भी नाम शामिल है। श्वाब को स्विट्जरलैंड में 2 अगस्त को नोटिस भेजा गया। 

  1. OMG: यहां परिजनों की मौत पर खुशियां मनाता है पूरा परिवार, अंतिम संस्कार के लिए किया जाता है शुभ मुहूर्त का इंतजार 

  2. सीएम हाउस में धूम-धाम से मनाया गया पोरा-तीजा तिहार, भूपेश बघेल ने नंदी-बैल की पूजाकर प्रदेशवासियों को दी शुभकामनाएं 

  3. भूपेश ने दी गृहमंत्री अमित शाह को छत्तीसगढ़िया भेंट....टुकनी में दिखी छत्तीसगढ़ की समृद्ध संस्कृति की झलक

Case filed against PM Modi, Chief Minister and Adani, doctor filed on many issues including corruption and Pegasus espionage

भूल जाएं अपनी पुरानी कार को बनाएं इलेक्ट्रिक, सिर्फ 74 रुपये में चलेगी 100 किमी?

31-Aug-2022

दिल्ली सरकार पेट्रोल और डीजल इंजन वाले पुराने वाहनों को इलेक्ट्रिक कार (Electric Car) में तब्दील कराने के लिए ऑनलाइन सुविधा उपलब्ध कराने जा रही है। परिवहन विभाग इसके लिए एनआईसी के साथ मिलकर एक सॉफ्टवेयर डेवलप कर रहा है। इसके जरिए पुराने वाहनों को इलेक्ट्रिक वाहन (Electric Car) में बदलने वाली कंपनियों से लेकर उत्पाद, खर्च और रजिस्ट्रेशन तक की जानकारी मिलेगी। परिवहन विभाग के इस डिसीजन से लाखों वाहन मालिकों को फायदा मिलेगा। दिल्ली सरकार ने बीते साल नवंबर में 10 साल पुराने डीजल और 15 साल पुराने पेट्रोल वाहनों को इलेक्ट्रिक वाहनों (Electric Car) में तब्दील करके और उन्हें सड़कों पर चलाने की मंजूरी दी थी।

पुराने डीजल या पेट्रोल इंजन वाली कारों को इलेक्ट्रिक कार (Electric Car) में बदलने में कम से कम 3 लाख रुपये से लेकर 10 लाख रुपये तक का खर्च आता है। क्योंकि किसी वाहन को इलेक्ट्रिक वाहन (Electric Car) में बदलवाने की कीमत उसमें लगने वाले मोटर, कंट्रोलर, रोलर और बैटरी पर निर्भर करती है। आप जितनी बेहतरीन मोटर, बैटरी और क्वालिटी लेंगे उसी हिसाब से कीमत भी महंगी होगी। लेकिन एक अच्छी बात यह है कि यह इलेक्ट्रिक कार (Electric Car) 74 रूपये में 100 किलोमीटर का सफर तय करेगी।

  1. आज है किसानों का सबसे बड़ा पारंपरिक पर्व पोला,  त्यौहार का नाम पोला क्यों पड़ा? ऐसे मनाते हैं ये उत्सव?

  2.  सलमान खान ने किया ऐलान, अगली फिल्म है 'किसी का भाई, किसी की जान' 

  3. Asia Cup 2022 IND vs PAK : BCCI ने गलती से शेयर कर दी भारत की प्लेइंग XI ! पकिस्तान के खिलाफ इन खिलाड़ियों को मिल सकती है जगह

WhatsApp के जरिए पैंसजर्स कर सकते हैं ऑनलाइन खाना ऑर्डर IRCTC ने शुरू की नई सुविधा जानिए ?

30-Aug-2022

भारतीय रेल यात्री अब अपने पीएनआर नंबर (PNR No.) का उपयोग करके यात्रा करते समय व्हाट्सएप के माध्यम से ऑनलाइन खाना ऑर्डर कर सकते हैं, इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉरपोरेशन (IRCTC) फूड डिलीवरी सर्विस जूप ने ट्रेनों में आसान और अधिक सुविधाजनक फूड डिलीवरी सेवाएं प्रदान करने के लिए Jio Hapik संग साझेदारी की है। पैसेंजर्स को कुछ आसान स्टेप में अपनी व्हाट्सएप चैटबॉट सेवा के माध्यम से खाना ऑर्डर करने की परमीशॉन मिल सके इसके लिए इसे शुरू किया गया है।यह सेवा यात्रियों को किसी भी आगामी स्टेशन पर अपना भोजन पहुंचाने की सुविधा प्रदान करती है जो कि ज़ूप ऐप को डाउनलोड किए बिना उनकी यात्रा का एक हिस्सा है।

आप भी जान लें जूप पर खाना ऑर्डर करने के लिए यह है तरीका- 

अपना खाना ऑर्डर करने के लिए, आपको बस अपने व्हाट्सएप नंबर का उपयोग करके +91 7042062070 पर ज़ूप व्हाट्सएप चैटबॉट को टेक्स्ट करना होगा। आप अपने व्हाट्सएप में बॉट जोड़ने के लिए हाइपरटेक्स्ट [https://wa.me/917042062070] का यूज कर सकते हैं।
चैटबॉट आपकी ट्रेन की सीट पर खाना ऑर्डर करने की प्रक्रिया को पूरा करने के लिए आवश्यक विवरण मांगेगा। आपको अपना पीएनआर नंबर शेयर करना होगा ऐसा होते ही यह आपकी ट्रेन और बर्थ का पता लगा लेगा, जिसके बाद आप आगामी स्टेशन का चयन कर सकते हैं, जहां आप अपना खाना पहुंचाना चाहते हैं।
Zoop chatbot आपको ऐप के भीतर से एक रेस्तरां चुनने, अपना खाना ऑर्डर करने और भुगतान करने की प्रक्रिया के बारे में बताएगा
जूप चैटबॉट आपको कुछ रेस्टोरेंट्स का ऑप्शन देगा, जहां से आप खाना ऑर्डर कर पाएंगे यहां आपको पेमेंट मोड भी मिलेगा।
खाना ऑर्डर करने और ट्रांजेक्शन्स पूरा करने के बाद आप चैटबॉट से ही ऑर्डर को ट्रैक भी कर पाएंगे।
आखिर में चुने गए स्टेशन पर ट्रेन पहुंचते ही Zoop आपको खाना डिलीवर कर देगा।
बताया जा रहा है कि फिलहाल ये सेवाएं विजयवाड़ा, वडोदरा, मुरादाबाद, वारंगल, पीटी , दीन दयाल उपाध्याय, कानपुर, आगरा कैंट, टूंडला जंक्शन, बल्हारशाह जंक्शन और 100 से अधिक ए 1, ए और बी श्रेणी के रेलवे स्टेशनों पर उपलब्ध हैं।

 

मध्य प्रदेश: गांव के हैंडपंप से पानी के साथ आग निकलने के पीछे क्या विज्ञान है?

26-Aug-2022

कभी हैंडपंप से पानी के साथ आग निकलते देखी है? जी हां, मध्य प्रदेश के एक गांव में हैंडपंप से आग और पानी साथ निकलने की घटना कैमरे में कैद की गई, जिसका चौंकाने वाला वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। लोग सोच में पड़ गए हैं कि आखिर पानी-आग हैंडपंप से एक साथ कैसे निकल सकती हैं। बता दें, यह घटना छतरपुर के बकस्वाहा से 10 किलोमीटर दूर स्थित कछार गांव का है।


ऐसे मामलों में विज्ञान क्या कहता है?
ग्रामीणों ने घटना की जानकारी अधिकारियों को दी है, जिसके बाद अब प्रशासन मामले की जांच कर रहा है। वैज्ञानिक ऐसे मामलों में कहते हैं कि मीथेन गैस भूमिगत हो जाती है और यही चीज कभी-कभी पानी के साथ बाहर आ जाती है।
"तलछटी (महीन रेत) चट्टानों में दलदली क्षेत्रों में तलछट के साथ पौधों के अवशेष होते हैं, मीथेन गैस भौतिक-रासायनिक प्रक्रियाओं द्वारा विघटन-अपघटन से बनती है।"
उन्होंने आगे कहा, "गैस गर्म करने या जलाने से घनत्व में कम हो जाती है, जिसके परिणामस्वरूप यह ऊपर उठती है।"

 

 

  1. WHO ने बताये खाने-पीने के  जबरदस्त नियम, पास भी नहीं भटकेंगे कैंसर-हार्ट अटैक जैसे ये 5 रोग 

  2. नारी शक्ति  के टैलेंट और हुनर को भरपूर मौका देने 'वर्क फ्रॉम होम' में बड़ा बदलाव संभव : प्रधानमंत्री 

  3. सीएम बघेल ने कहा- गांधीगिरी का इससे अच्छा उदाहरण क्या हो सकता है?


Previous123456789...2930Next