Saturday,28 May 2022   07:43 am
Previous123456789...2930Next

सुप्रीम कोर्ट: वेश्यावृत्ति गैरकानूनी नहीं बल्कि एक प्रोफेशन है, जानिए फैसले का आधार

27-May-2022

सुप्रीम कोर्ट ने सेक्स वर्कर्स को लेकर ऐतिहासिक फैसला सुनाया है। कोर्ट ने सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में पुलिस बलों को सेक्स वर्कर्स और उनके बच्चों के साथ सम्मानजनक व्यवहार करने और मौखिक या शारीरिक रूप से दुर्व्यवहार नहीं करने का निर्देश दिया है।

सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि प्रेस काउंसिल ऑफ इंडिया से गाइडलाइन्स जारी करने की अपील की जानी चाहिए, ताकि गिरफ्तारी, छापेमारी या फिर किसी अन्य अभियानों के दौरान सेक्स वर्कर्स की पहचान उजागर न हो। इतना ही नहीं सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि सेक्स वर्कर चाहे आरोपी हो या फिर पीड़ित उसकी पहचान उजागर नहीं होनी चाहिए।

सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि आईपीसी की धारा-354 सी के तहत सेक्स वर्कर्स को सुरक्षा मिली हुई है। ऐसे में किसी के भी निजी कार्यों की तस्वीर न तो ली जा सकती है और न ही दिखाई जा सकती है।

भारत में क्या है स्थिति :

हमारे देश में वेश्यावृत्ति गैरकानूनी नहीं है, लेकिन इसके लिए किसी को फोर्स करना और सार्वजनिक वेश्यावृत्ति करना गैरकानूनी है। वेश्यालय का मालिकाना हक भी अवैध है।

भारतीय दंड संहिता (IPC) के अनुसार, वेश्यावृत्ति वास्तव में अवैध नहीं है, लेकिन कुछ गतिविधियां ऐसी हैं जो वेश्यावृत्ति का एक बड़ा हिस्सा हैं और अधिनियम के कुछ प्रावधानों के तहत दंडनीय हैं, जैसे।।।

अगर केंद्र सरकार ने कोर्ट के निर्देश को मान लिया तो भारत में क्या बदलेगा?

  • यौनकर्मियों को समान कानूनी सुरक्षा दी जाएगी।
  • यदि कोई यौनकर्मी किसी आपराधिक/यौन या अन्य प्रकार के अपराध की रिपोर्ट करता है, तो पुलिस इसे गंभीरता से लेगी और कानून के अनुसार कार्रवाई करेगी।
  • यदि किसी वेश्यालय पर छापा मारा जाता है, तो इसमें शामिल यौनकर्मियों को गिरफ्तार नहीं किया जाएगा, दंडित नहीं किया जाएगा।
  • कोई भी यौनकर्मी जो यौन उत्पीड़न का शिकार है, उसे तत्काल चिकित्सा देखभाल सहित जरूरी सेवाएं दी जाएंगी।
  • पुलिस को सभी यौनकर्मियों के साथ सम्मानजनक व्यवहार करना होगा और मौखिक या शारीरिक रूप से दुर्व्यवहार नहीं कर सकते।

Advertisement Act: अगर विज्ञापनों में उड़ाया किसी का मजाक, तो होगा एक्शन; ASCI ने कड़े किए नियम

27-May-2022

विज्ञापन उद्योग के स्व-नियामक निकाय भारतीय विज्ञापन मानक परिषद (ASCI) ने कहा कि विज्ञापन मानक के नियमों का दायरा बढ़ा दिया गया है। अब विज्ञापन पॉलिसी के मुताबिक नस्ल, जाति, स्त्री-पुरुष भेदभाव या राष्ट्रीयता के आधार पर किसी का भी मजाक करना शामिल नहीं है। मालूम हो कि ये नियम बहुत पहले से लागू थे लेकिन अब इनका दायरा बढ़ा दिया गया है।

ASCI ने कहा कि उसे उभरते हुए समाज और उपभोक्ताओं की बदलती चिंताओं के साथ तालमेल बिठाना होगा, ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि विज्ञापन अपेक्षाओं के अनुरूप रहे। अगर कोई इन नियमों का उल्लंघन करता है तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

एक ऑफिशियल बयान में कहा गया कि ‘अब इसमें लिंग पहचान (gender identity), यौन आकर्षण (sexual attraction), शरीर का आकार (body shape), आयु (age), शारीरिक और मानसिक स्थितियों जैसे संभावित भेदभाव या मजाक को अब संहिता में शामिल किया गया है। इन आधारों पर अब अगर विज्ञापनों में मजाक उड़ाया जाता है तो नियमों का उल्लंघन माना जाएगा।’

ASCI ने क्या कहा?

भारतीय विज्ञापन मानक परिषद (ASCI) ने बनाए गए नियमों में साफ कहा है कि किसी भी विज्ञापन में शरीर का आकार, उम्र। शारीरिक और मानसिक स्थितियों से जुड़े किसी भी भेदभाव को नहीं किया जाएगा। अगर कोई ऐसा करता हुआ पाया जाता है तो उसके खिलाफ एक्शन लिया जाएगा।

Drone Mahotsav 2022: ‘भारत ड्रोन महोत्सव’ का PM मोदी ने किया उद्घाटन, ‘मेक इन इंडिया’ का जलवा देख हुए गदगद

27-May-2022

Drone Mahotsav 2022: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज दिल्ली के प्रगति मैदान में देश के सबसे बड़े ड्रोन महोत्सव का उद्घाटन किया। पीएम मोदी ने यहां ड्रोन एग्जिबिशन को देखा और इस टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल कर रहे लोगों से मुलाकात की। इस दौरान उन्होंने यहां मौजूद तमाम लोगों को संबोधित भी किया।

जिसमें उन्होंने कहा कि, मैं इस काम से जुड़े सभी लोगों को शुभकामनाएं देता हूं। इस टेक्नोलॉजी को लेकर जो उत्साह देखने को मिल रहा है वो काफी अद्भुत है। पीएम ने कहा कि, पहले टेक्नोलॉजी का डर दिखाया जाता था, लेकिन हमने इसे लोगों तक पहुंचाने का काम किया।

हमने तकनीक को सर्वजन के लिए सुलभ बनाया: PM मोदी

यह भारत में रोजगार सृजन के एक उभरते हुए बड़े सेक्टर की संभावनाएं दिखाती है। उन्होंने कहा कि ‘मिनिमम गवर्नमेंट मैक्सिमम गवर्नेंस’ के रास्ते पर चलते हुए, ईज ऑफ लिविंग, ईज ऑफ डूइंग बिजनेस को हमने प्राथमिकता बनाया।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि यह उत्सव सिर्फ तकनीक का नहीं है, बल्कि नए भारत की नई गर्वर्नेंस का, नए प्रयोगों के प्रति अभूतपूर्व सकारात्मकता का उत्सव भी है। आठ वर्ष पहले यही वह समय था, जब भारत में हमने सुशासन के नए मंत्रों को लागू करने की शुरुआत की थी। हमारे वहां ये मान लिया गया था कि तकनीक सिर्फ अमीर लोगों का कारोबार है, सामान्य लोगों की जिंदगी में इसका कोई स्थान नहीं है। इस पूरी मानसिकता को बदलकर हमने तकनीक को सर्वजन के लिए सुलभ करने से संबंधित अनेक कदम उठाए हैं और आगे भी उठाने वाले हैं।

सरकार का फेहसला अब मुख्य मंत्री होंगी राज्य के सभी विश्वविद्यालयों की चांसलर : West Bengal

27-May-2022

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी जल्द ही राज्यपाल की जगह राज्य के विश्वविद्यालयों की चांसलर बन जाएंगी। बंगाल विधानसभा में जल्द ही इसे लेकर संशोधन बिल पेश किया जाएगा। प्रदेश के शिक्षा मंत्री ब्रत्य बसु ने बताया कि गुरुवार को हुई कैबिनेट की बैठक में यह फैसला लिया गया है।

वजाय  : बता दें कि कुछ दिन पहले ही विश्विद्यालयों में कुलपति की नियुक्ति को लेकर बंगाल में रस्साकसी की खबरें सामने आई थीं। बंगाल की ममता सरकार ने आरोप लगाया था कि राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने राज्य सरकार की सहमति के बिना कई कुलपतियों की नियुक्ति कर दी। इसलिए राज्यपाल की शक्तियां कम करने के लिए ममता सरकार ने ये बड़ा कदम उठाया है।

बता दें कि 15 जनवरी को ट्वीट कर राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने ममता सरकार पर गंभीर आरोप लगाए थे। धनखड़ ने ट्वीट कर कहा था कि 25 विश्वविद्यालयों के कुलपतियों को बिना चांसलर की मंजूरी लिए अवैध रूप से नियुक्त कर दिया गया। कोलकाता विश्वविद्यालय की वाइस चांसलर सोनाली चक्रवर्ती को बिना किसी चयन के पूरे 4 साल का दूसरा कार्यकाल दे दिया गया है।

वर्तमान में, राज्यपाल सभी राज्य विश्वविद्यालयों के कुलाधिपति हैं। हालाँकि, इस विधेयक को लाने के प्रस्ताव के साथ, राज्य जल्द ही राज्यपाल को बदल सकता है (यदि अनुमोदित हो) और मुख्यमंत्री को चांसलर बना सकता है।

गेंहू के बाद अब भारत ने रोका चीनी का निर्यात, क्या हैं कारण?

Netflix Users को जोरदार झटका! अब किसी और के साथ शेयर किया अपना Password तो देना होगा Extra Charge

BJP नेता की ओवैसी को चुनौती, हम सभी मस्जिदें खोदेंगे, शिवलिंग मिले तो हमारा और शव मिले तो तुम्हारे

27-May-2022

पूरे देश में मंदिर मस्जिद पर घमासान छिड़ा हुआ है. काशी से कर्नाटक तक बखेड़ा खड़ा हो गया है. वाराणसी के ज्ञानवापी मस्जिद परिसर के सर्वे में कथित तौर पर शिवलिंग मिलने के बाद राजनीति और राजनीतिक बयानबाजी चरम पर है. एआईएमआईएम चीफ असदुद्दीन ओवैसी इस मुद्दे को लेकर तीखे बयान दे रहे हैं. इस बीच तेलंगाना बीजेपी के प्रमुख बंदी संजय कुमार ने एआईएमआईएम चीफ असदुद्दीन ओवैसी पर जुबानी हमला करते हुए उन्हें खुली चुनौती दी है. कहा, ''जहां कहीं भी मस्जिद परिसर की खुदाई की जाती है, वहां शिवलिंग मिलते हैं। मैं ओवैसी को चुनौती दे रहा हूं कि हम राज्य में सभी मस्जिदें खोदेंगे। यदि शव बरामद होते हैं तो यह आपका (मुसलमानों का)।  यदि शिवलिंग मिलेगा तो आप इसे हमें सौंप दें। क्या आप इसे स्वीकार करेंगे?''

तेलंगाना बीजेपी के प्रमुख बंदी संजय कुमार ने विवादास्पद बयान देते हुए कहा है कि अगर ‘राम राज्य’ आता है तो हम उर्दू भाषा पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगा देंगे। देश में जहां भी बम विस्फोट होते हैं, ऐसा इसलिए है क्योंकि मदरसे आतंकवादियों के लिए प्रशिक्षण केंद्र बन गए हैं … हमें उनकी पहचान करनी चाहिए।

Good News : 21 ट्रेनों में आपको मिलेंगे कंफर्म टिकट, रेलवे की नई शुरुआत, वेटिंग की झंझट खत्म, इन ट्रेनों में मिलेंगे कंफर्म टिकट

छत्तीसगढ़ में कांग्रेस का नया फॉर्मूला, इन नेताओं को छोड़ना पड़ेगा पद

इंडियन रेलवे के लिए आफत बना ‘रसगुल्ला! ट्रेनें हुईं रद्द, यात्री हुए परेशान

अब इस प्रदेश में भी मिलेगी सस्ती शराब, सरकार ने किया यह बड़ा ऐलान

27-May-2022

मध्यप्रदेश में शराब सस्ती होने जा रही है। राज्य सरकार जल्द ही कीमतों में कटौती का ऐलान कर नया रेट जारी कर सकती है। जानकारी के अनुसार, मध्य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा के मुताबिक, मध्य प्रदेश सरकार के मंत्रियों के एक समूह ने बीयर और वाइन पर आयात शुल्क (Import Duty) को घटाने के फैसले पर अपनी मंजूरी दे दी है। आयात शुल्क घटाने का फैसला नरोत्तम मिश्रा की अगुवाई वाली मंत्रियों की बैठक में लिया गया। बैठक के दौरान बीयर पर आयात शुल्क को 30 रुपये से घटा कर 20 रुपये प्रति थोक लीटर कर दिया गया है। इसके अलावा मंत्रियों के समूह ने शराब पर आयात शुल्क को 10 रुपये से घटाकर 5 रुपये प्रति प्रूफ लीटर करने के प्रस्ताव को भी मंजूरी दे दी है।

इसके बाद अब इस प्रस्ताव को शिवराज कैबिनेट में पेश किया जाएगा। वहीं चर्चा के बाद शराब की नई कीमतें जारी हो जाएंगी। मंत्री-समूह की बैठक में इस प्रस्ताव को रखा जाएगा। जिस पर अंतिम फैसला लिया जाएगा।

ध्य प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा के बयान के मुताबिक बैठक के दौरान 2022-23 के लिए उत्पाद नीति से संबंधित विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की गई।

क्या दुनिया में पैर पसार रहे मंकीपॉक्स वायरस के खिलाफ मौजूद है कोई वैक्सीन? कैसे फैलता है? क्या हैं लक्षण?

मां का प्यार: बेटी के लिए 36 सालों तक पुरुष बनकर रही महिला, किसी को नहीं लगी भनक, अब बताई वजह

Earthquake: अब भूकंप आने पहले से मिल जाएगी जानकारी, ये तकनीक बचाएगी हमारी जान

27-May-2022

वैज्ञानिक आमतौर पर भूकंप का पता लगाने के लिए भूकंपीय तरंगों या भूकंपीय तरंगों की निगरानी करते हैं, जिन्हें सीस्मोमीटर कहा जाता है। वे जितनी अग्रिम चेतावनी दे सकते हैं, वह भूकंप और सिस्मोमीटर के बीच की दूरी और 6 किलोमीटर प्रति सेकंड से कम की यात्रा करने वाली भूकंपीय तरंगों की गति पर निर्भर करती है। एलन कहते  हैं कि यह छोटे टेम्पलर के लिए अच्छा काम करता है, लेकिन 7 से अधिक तीव्रता वाले भूकंप को पहचानना सबसे चुनौतीपूर्ण हो जाता है।

हाल ही में, गुरुत्वाकर्षण तरंगों की खोज में शामिल शोधकर्ताओं ने महसूस किया कि प्रकाश की गति से गुरुत्वाकर्षण संकेतों का उपयोग भूकंप की निगरानी के लिए भी किया जा सकता है।फ्लोरिडा विश्वविद्यालय के भौतिक विज्ञानी बर्नार्ड व्हिटिंग कहते हैं कि आश्चर्यजनक बात यह है कि सिस्मोमीटर में भी सिग्नल मौजूद होगा।

यह तकनीक बड़े-तीव्रता वाले भूकंपों के अधिक विश्वसनीय आकार का अनुमान दे सकता है, जो महत्वपूर्ण है, विशेष रूप से सूनामी की भविष्यवाणी के लिए, जो अक्सर आने में अतिरिक्त 10 या 15 मिनट लगाते हैं। हालांकि, तकनीक अभी तक चालू नहीं है। इसने वास्तविक समय में डेटा संसाधित नहीं किया है। मॉडल को जापान में तैनात करने की तैयारी है। एल्गोरिथम को अलग-अलग क्षेत्रों में उपयोग के लिए अलग से प्रशिक्षित करने की आवश्यकता है।

मां का प्यार: बेटी के लिए 36 सालों तक पुरुष बनकर रही महिला, किसी को नहीं लगी भनक, अब बताई वजह

26-May-2022

Chennai : मां के प्यार के किस्से तो आपने बहुत सुने होंगे, लेकिन तमिलनाडु की एक महिला ने अपने बेटी के लिए जो कुर्बानी दी, उसकी चर्चा आज देशभर में हो रही है। अब जब महिला की बेटी बड़ी हो गए तो उन्होंने खुद मीडिया के सामने आकर सारी सच्चाई बताई। जिसे सुन लोग भावुक भी हो गए।

द न्यू इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक तमिलनाडु की एक महिला पिछले 36 सालों से पुरुष बनकर रह रही थी और किसी को पता भी नहीं चला। उसने ये कदम सिर्फ अपनी बेटी को सुरक्षित रखने के लिए उठाया। इस असामान्य बलिदान के साथ उन्होंने होटल, चाय की दुकानों, निर्माणाधीन इमारतों आदि में भी काम किया, लेकिन किसी को ये भनक नहीं लगी कि वो महिला हैं। उन्होंने इस दौरान पेंटर, चाय की दुकान आदि पर बहुत से काम किए। उनका सिर्फ एक ही मकसद था कि ज्यादा से ज्यादा पैसे बचाकर बेटी को एक सुरक्षित जीवन दिया जा सके। सिर्फ उनकी बेटी को ही पता था कि वो एक महिला हैं। 
पेचीअम्मल ने कहा कि वो 20 साल पहले कट्टुनायक्कनपट्टी में बस गई थीं।  कुछ दिनों बाद मुथु नाम ही उनकी पहचान बन गया। उन्होंने इसी नाम से आधार, वोटर आईडी आदि बनवा लिए।

सेक्स के दौरान आदमी की मौत, फिर…? पूरी खबर पढ़ें

अब इस राज्य में मस्जिद के नीचे मिला मंदिर का ढांचा, स्थानीय प्रशासन ने लागू की धारा 144

रिपोर्ट के मुताबिक एस.पेचीअम्मल जब 20 साल की थीं, तो उनके पति का निधन हो गया। उस वक्त वो गर्भवती थीं। बेटी के आ जाने के बाद उनको गांव के सख्त, पारंपरिक वातावरण से खतरा महसूस हुआ और उन्होंने वहां से दूर जाने के फैसला किया। वहां से वो तिरुचेंदूर मुरुगन मंदिर पहुंची और अपने बाल कटवा लिए। इसके बाद उन्होंने अपना नाम 'मुथु' रखा।

महिला के मुताबिक अब उनकी बेटी की शादी हो चुकी है, लेकिन वो फिर से महिला बनने को तैयार नहीं है। उन्हें लगता है कि जिस पहचान ने उनकी बेटी को सुरक्षित जीवन दिया, उसी पहचान के साथ ही जीना सही है।

ज्ञानवापी मस्जिद केस में आज पूरी नहीं हो सकी बहस, अगली सुनवाई 30 मई को

26-May-2022

वाराणसी की ज्ञानवापी मस्जिद (gyanvapi masjid) और मथुरा की ईदगाह मस्जिद (idgah masjid) पर आज अलग-अलग कोर्ट में सुनवाई होनी थी। ज्ञानवापी मस्जिद का मामला वाराणसी जिला कोर्ट में सुना जा रहा है। वहीं ईदगाह मस्जिद के मामले पर सिविल कोर्ट में सुनवाई पूरी हो चुकी है। आज कोर्ट में कृष्ण जन्मस्थान ट्रस्ट ने जमीन के मालिकाना हक के पेपर दिखाए।

गुरुवार को दोनों पक्षों ने तर्क और दस्‍तावेजों को सामने रखा। इस दौरान आधे घंटे तक मस्जिद कमेटी पक्ष की ओर से जिरह की गई। कमेटी के वकील अभयनाथ यादव ने वर्शिप एक्‍ट के हवाले से तमाम तरह ही दलीलें पेश की गईं। हिंदू पक्ष की ओर से वकील विष्‍णु जैन ने ज्ञानवापी परिसर में 1991 के पूर्व भी शृंगार गौरी के पूजन की जानकारी देते हुए वर्शिप एक्‍ट से अलग मामला बताया।

कोर्टरूम में दोनों पक्षों से 36 लोग मौजूद रहे। वर्शिप एक्ट का हवाला देते हुए मुस्लिम पक्ष ने कहा कि मामला सुनवाई के लायक ही नहीं है। मुस्लिम पक्ष ने कहा कि शिवलिंग को लेकर अफवाह फैलाई गई, यहां शिवलिंग है ही नहीं। मस्जिद समिति का तर्क है कि ज्ञानवापी के अंदर शिवलिंग का अस्तित्व अभी तक सिद्ध नहीं हुआ है। मस्जिद समिति ने कहा कि शिवलिंग के होने की अफवाह से जनता में खलबली मची हुई है। इसकी अनुमति तब तक नहीं दी जानी चाहिए जब तक कि अस्तित्व सिद्ध न हो जाए। मुस्लिम पक्ष के वकील ने ये भी कहा कि अफवाह से व्यवस्था पर असर पड़ रहा है।

मुस्लिम पक्ष की ओर से अभय नाथ यादव और मुमताज ने दलीलें रखीं। इस दौरान हिंदू पक्ष के वकील भी अपनी बात कहते रहे। इसके बाद जिला जज ने 30 मई सोमवार की तारीख अगली सुनवाई के लिए तय कर दी।

गेंहू के बाद अब भारत ने रोका चीनी का निर्यात, क्या हैं कारण?

26-May-2022

विदेश व्यापार महानिदेशालय (DGFT) की तरफ से जारी अधिसूचना में कहा गया है कि 1 जून से चीनी (कच्ची, परिष्कृत और सफेद चीनी) का निर्यात प्रतिबंधित श्रेणी में रखा गया है।
इसका कारण बताते हुए कहा गया है कि सरकार ने 2021-22 अक्टूबर से सितंबर के दौरान घरेलू उपलब्धता और मूल्य में बढ़ोतरी से रोकने के लिए चीनी निर्यात को विनियमित करने का फैसला लिया है।
जानकारी के लिए बता दें कि भारत चीनी का सबसे बड़ा उत्पादक देश है।

कब तक जारी रहेगा प्रतिबंध?
DGFT की तरफ से कहा गया है कि यह प्रतिबंध 31 अक्टूबर, 2022 या अगले आदेश तक, जो भी पहले हो, तक लागू रहेगा। इस दौरान अगर चीनी का निर्यात किया जाता है तो उसके लिए विशेष अनुमति लेनी होगी।
हालांकि, यह आदेश CXL और TRQ के तहत यूरोपीय संघ और अमेरिका को भेजी जा रही चीनी पर लागू नहीं होगा। इन दोनों क्षेत्रों में एक निश्चित मात्रा में चीनी का निर्यात किया जाता है।

अब इस राज्य में मस्जिद के नीचे मिला मंदिर का ढांचा, स्थानीय प्रशासन ने लागू की धारा 144

Chhattisgarh की इस योजना में बेटियों को शादी के लिए मिलेंगे 25 हजार रुपए, जानिए कैसे करें आवेदन

मुख्यमंत्री ने छत्तीसगढ़ के पहले फीफा एप्रूव्ह सिंथेटिक फ़ुटबाल ग्राउंड विथ रनिंग ट्रैक का उद्गघाटन कर खिलाड़ियों को सौगात दी

अब इस राज्य में मस्जिद के नीचे मिला मंदिर का ढांचा, स्थानीय प्रशासन ने लागू की धारा 144

26-May-2022

मंगलुरु। कर्नाटक के मंगलुरु के मलाली में स्थित जुमा मस्जिद के आसपास 500 मीटर के दायरे में पुलिस ने 24 मई की शाम से 26 मई को सुबह 8 बजे तक धारा 144 लागू कर दिया है। साथ ही पुलिस ने मस्जिद के पास भारी संख्या बल में पुलिसकर्मियों की तैनाती कर दी गई है।

मंगलौर के बाहरी इलाके गुरुप्रा तालुक में ये पुरानी मस्जिद है। यहां मलाली मार्केट में मस्जिद परिसर में मरम्मत का काम चल रहा था। मस्जिद के एक हिस्से को पहले ही गिरा दिया गया था। 21 मई को काम के दौरान जब मस्जिद का मलबा हटाया जा रहा था, तब यहां मंदिर नुमा एक ढांचा नजर आया। हिंदू संगठन मांग कर रहे हैं कि उन्हें उनका मंदिर वाला इलाका वापस कर दिया जाए।

मंगलौर में मस्जिद के नीचे कथित तौर पर हिंदू मंदिर का डिजाइन मिलने के बाद बजरंग दल और विश्व हिंदू परिषद ने पुरातत्व विभाग (ASI) से सर्वे कराने की मांग की है। संगठन के लोगों का कहना है कि सर्वे में आइने की तरह साफ हो जाएगा कि वहां पर मंदिर था या फिर नहीं।

जिसके बाद क्षेत्र में तनाव न बढ़े इसलिए प्रशासन ने मस्जिद के जमीन से संबंधित दस्तावेजों को इकठ्ठा किया। फिलहाल ये मामला अभी लोकल कोर्ट में है। जब तक ये स्पष्ट नहीं हो जाता कि जमीन पर मस्जिद थी या यहां पर कोई मंदिर था, तब तक के लिए कोर्ट ने मस्जिद की मरम्मत पर रोक लगा दी है।

वहीं मस्जिद के बाहर ही हिंदू संगठन के लोगों ने विशेष पूजा की। मलाली में श्री रामंजनेय भजन मंदिर में विहिप और बजरंग दल के लोगों ने तांबुल प्राशन किया।वहीं इस मामले में गृह मंत्री अरगा ज्ञानेंद्र ने कहा कि जिला प्रशासन हालात पर नजर रखे हुए है। मंगलुरु पुलिस आयुक्त एनएस कुमार ने कहा कि हिंदू संगठन ने आज यानी कि 25 मई को एक अनुष्ठान किया, जो सुबह 8।30 बजे शुरू हुआ और 11 बजे तक जारी रहा।

Good News : 21 ट्रेनों में आपको मिलेंगे कंफर्म टिकट, रेलवे की नई शुरुआत, वेटिंग की झंझट खत्म, इन ट्रेनों में मिलेंगे कंफर्म टिकट

26-May-2022

भारतीय रेलवे बड़े बदलाव की ओर अग्रसर है। रेलवे जोन की तरफ से 21 जोड़ी ट्रेनों में स्‍थाई कोच जोड़ने का न‍िर्णय ल‍िया है ज‍िससे क‍ि यात्र‍ियों की वेट‍िंग को कम करने के साथ-साथ उनको ज्‍यादा बर्थ की सुव‍िधा दी जा सकेगी। इन कोच में थर्ड एसी के अलावा द्व‍ितीय शयनयान, द्व‍ितीय कुर्सीयान के कोच प्रमुख रूप से शाम‍िल हैं। इसी सिलसिले में अब 21 जोड़ी ट्रेनों में हमेशा कंफर्म टिकट देने का फैसला किया गया है। इन ट्रेनों में वेटिंग की झंझट नहीं होगी। 

फिलहाल यह व्यवस्था उत्तर पश्चिम रेलवे ने शुरू की है, जल्द ही इसे अन्य रेल मंडलों में भी लागू किया जा जा सकता है। उत्तर पश्चिम रेलवे के प्रवक्ता कैप्टन शशि किरण के अनुसार रेलवे ने लंबी प्रतीक्षा सूची को देखते हुए यह फैसला किया है।

उत्तर पश्चिम रेलवे (North Western Railway) ने 21 ट्रेनों में स्थाई कोच जोड़ने का फैसला लिया है। इसमें थर्ड एसी के अलावा सेकंड एसी और दूसरी श्रेणी के चेयरकार कोच शामिल होंगे। इससे मध्य प्रदेश, हरियाणा, दिल्ली, उत्तर प्रदेश, बिहार, पश्चिम बंगाल, महाराष्ट्र, असम, ओडिसा और राजस्थान के यात्रियों को कंफर्म टिकट मिल सकेंगे।

इन ट्रेनों में मिलेंगे कंफर्म टिकट

ट्रेन संख्या 19608/19607: मदार-कोलकाता-मदार एक्सप्रेस में मदार से दिनांक 06.06.22 से एवं कोलकाता से दिनांक 09.06.22 से 01 थर्ड एसी श्रेणी कोच को स्थाई रूप से बढ़ाया गया।

ट्रेन संख्या 19715/19716: जयपुर-गोमतीनगर (लखनऊ) -जयपुर एक्सप्रेस में जयपुर से दिनांक 01.06.22 से एवं गोमतीनगर से दिनांक 02.06.22 से 01 थर्ड एसी श्रेणी कोच कोच को स्थाई रूप से बढ़ाया।

ट्रेन संख्या 14801/14802: जोधपुर-इंदौर-जोधपुर एक्सप्रेस में जोधपुर से दिनांक 01.06.22 से एवं इंदौर से दिनांक 04.06.22 से 01 थर्ड एसी श्रेणी कोच को स्थाई रूप से बढ़ाया।

ट्रेन संख्या 12465/12466: इंदौर-जोधपुर-इंदौर एक्सप्रेस में इंदौर से दिनांक 02.06.22 से एवं जोधपुर से दिनांक 03.06.22 से 01 थर्ड एसी श्रेणी कोच को स्थाई रूप से बढ़ाया गया।

ट्रेन संख्या 14806/14805: बाडमेर-यशवन्तपुर-बाडमेर एक्सप्रेस में बाडमेर से दिनांक 02.06.22 से एवं यशवन्तपुर से दिनांक 06.06.22 से 01 थर्ड एसी श्रेणी कोच को स्थाई रूप से बढ़ाया गया।

ट्रेन संख्या 12495/12496: बीकानेर-कोलकाता-बीकानेर एक्सप्रेस में बीकानेर से दिनांक 02.06.22 से एवं कोलकाता से दिनांक 03.06.22 से 01 थर्ड एसी श्रेणी कोच को स्थाई रूप से बढ़ाया।

ट्रेन संख्या 20471/20472: बीकानेर-पुरी-बीकानेर एक्सप्रेस में बीकानेर से दिनांक 05.06.22 से एवं पुरी से दिनांक 08.06.22 से 01 थर्ड एसी श्रेणी कोच को स्थाई रूप से बढ़ाया गया।

ट्रेन संख्या 22473/22474: बीकानेर-बान्द्रा टर्मिनस-बीकानेर एक्सप्रेस में बीकानेर से दिनांक 06.06.22 से एवं बान्द्रा टर्मिनस से दिनांक 07.06.22 से 01 थर्ड एसी श्रेणी कोच को स्थाई रूप से बढ़ाया गया।

ट्रेन संख्या 12489/12490: बीकानेर-दादर-बीकानेर एक्सप्रेस में बीकानेर से दिनांक 04.06.22 से एवं दादर से दिनांक 05.06.22 से 01 थर्ड एसी श्रेणी कोच को स्थाई रूप से बढ़ाया।

ट्रेन संख्या 22475/22476: हिसार-कोयम्बटूर-हिसार एक्सप्रेस में हिसार से दिनांक 01.06.22 से एवं कोयम्बटूर से दिनांक 04.06.22 से 01 थर्ड एसी श्रेणी कोच को स्थाई रूप से बढ़ाया।

ट्रेन संख्या 12486/12485: श्रीगंगानगर-नांदेड-श्रीगंगानगर एक्सप्रेस में श्रीगंगानगर से दिनांक 04.06.22 से एवं नांदेड से दिनांक 06.06.22 से 02 थर्ड एसी श्रेणी कोच को स्थाई रूप से बढ़ाया गया।

ट्रेन संख्या 12440/12439: श्रीगंगानगर-नान्देड-श्रीगंगानगर एक्सप्रेस में श्रीगंगानगर से दिनांक 03.06.22 से एवं नांदेड से दिनांक 05.06.22 से 01 थर्ड एसी श्रेणी कोच को स्थाई रूप से बढ़ाया।

ट्रेन संख्या 14724/14723: भिवानी-कानपुर-भिवानी एक्सप्रेस में भिवानी से दिनांक 01.06.22 से एवं कानपुर से दिनांक 02.06.22 से 01 थर्ड एसी व 01 द्वितीय शयनयान श्रेणी कोच को स्थाई रूप से बढ़ाया गया।

ट्रेन संख्या 22977/22978: जयपुर-जोधपुर-जयपुर एक्सप्रेस में दिनांक 01.06.22 से 02 द्वितीय कुर्सीयान श्रेणी कोच को स्थाई रूप से बढ़ाया गया।

ट्रेन संख्या 12065/12066: अजमेर-दिल्ली सराय-अजमेर एक्सप्रेस में दिनांक 01.06.22 से 02 द्वितीय कुर्सीयान श्रेणी कोच को स्थाई रूप से बढ़ाया गया।

ट्रेन संख्या 22987/22988: अजमेर-आगराफोर्ट-अजमेर एक्सप्रेस में दिनांक 01.06.22 से 02 द्वितीय कुर्सीयान श्रेणी कोच को स्थाई रूप से बढ़ाया।

ट्रेन संख्या 19601/19602: उदयपुर सिटी-न्यूजलपाईगुडी-उदयपुर सिटी एक्सप्रेस में उदयपुर सिटी से दिनांक 04.06.22 से एवं न्यूजलपाईगुडी से दिनांक 06.06.22 से 01 थर्ड एसी श्रेणी कोच की स्थाई व्यवस्था की गई।

ट्रेन संख्या 20971/20972: उदयपुर सिटी -शालीमार-उदयपुर सिटी एक्सप्रेस में उदयपुर सिटी से दिनांक 04.06.22 से एवं शालीमार से दिनांक 05.06.22 से 01 थर्ड एसी श्रेणी कोच की स्थाई व्यवस्था।

ट्रेन संख्या 12996/12995: अजमेर-बांद्रा टर्मिनस-अजमेर एक्सप्रेस में अजमेर से दिनांक 02.06.22 से एवं बांद्रा टर्मिनस से दिनांक 03.06.22 से 01 थर्ड एसी श्रेणी कोच की स्थाई वृद्धि।

ट्रेन संख्या 19615/19616: उदयुपर सिटी-कामाख्या-उदयपुर सिटी एक्सप्रेस में उदयपुर सिटी से दिनांक 06.06.22 से एवं कामाख्या से दिनांक 09.06.22 से 01 थर्ड एसी श्रेणी कोच की स्थाई वृद्धि।

ट्रेन संख्या 12991/12992: उदयुपर सिटी-जयपुर-उदयपुर सिटी एक्सप्रेस में दिनांक 01.06.22 से 02 द्वितीय कुर्सीयान श्रेणी कोच की स्थाई वृद्धि की गई

सेक्स के दौरान आदमी की मौत, फिर…? पूरी खबर पढ़ें

25-May-2022

Sex Relation : मुंबई से एक हैरान करने वाली खबर सामने आई है। कुर्ला के एक होटल में सोमवार सुबह 61 साल के शख्स की पार्टनर के साथ सेक्स करते हुए मौत हो गई। पुलिस का कहना है कि अपने पार्टनर के साथ यौन संबंध बनाने के दौरान एक बुजुर्ग उत्तेजित हो गए थे और फिर वहीं बेहोश हो गए। उनकी पार्टनर ने होटल स्टाफ को सूचित किया लेकिन तब तक देर हो चुकी है। पुलिस ने बताया कि प्राथमिक जांच में पता चला है कि सेक्स के दौरान अचानक शख्स उत्तेजित होकर बेहोश हो गया था जिसके बाद मौत हो गई. हम हर एंगल से जांच कर रहे हैं। एक अधिकारी (Sex Relation) ने बताया कि व्यक्ति सुबह करीब 10 बजे 40 वर्षीय महिला के साथ उपनगर कुर्ला के एक होटल में पहुंचा। अधिकारी ने महिला के बारे में उसने दावा किया कि वह उसकी प्रेमिका है। उन्होंने बताया कि होटल में जाने के कुछ वक्त बाद महिला ने रिसेप्शन को सूचित किया कि व्यक्ति बेहोश हो गया है। इसके बाद होटल के कर्मचारियों ने फौरन स्थानीय पुलिस को सूचित किया। बुजुर्ग शख्स को नगर निकाय के अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

शराब पीते हुए कर रहा था सेक्स
अधिकारी के मुताबिक, व्यक्ति वर्ली का रहने वाला है और एक निजी कंपनी में काम करता था। पुलिस को महिला ने बताया कि शख्स ने कमरे में शराब पी और उसके साथ सेक्स करना शुरू किया। वह सेक्स के बीच शराब पी रहा था इसी बीच अचानक बेहोश हो गया।

मेडिकल रिपोर्ट का पुलिस को है इंतजार
अधिकारी ने बताया, “ शुरुआती सूचना के आधार पर, हमने दुर्घटनावश मौत की रिपोर्ट दर्ज की है और मौत के सटीक कारण के बारे में जानकारी के लिए मेडिकल रिपोर्ट का इंतजार कर रहे हैं और यह भी पता लगा रहे हैं कि क्या उसने पहले कोई गोली खाई थी।”

मृतक वर्ली का रहने वाला था और वह एक निजी कंपनी में काम करता था। महिला के मुताबिक यौन संबंध बनाने के दौरान व्यक्ति ने शराब पीने की कोशिश की थी, लेकिन वह बेहोश हो गया। अधिकारी ने बताया, शुरुआती सूचना के आधार पर, हमने दुर्घटनावश मौत की रिपोर्ट दर्ज की है और मौत के सटीक कारण की जानकारी के लिए मेडिकल रिपोर्ट का इंतजार कर रहे हैं। पुलिस ये भी पता लगाने की कोशिश कर रही है कि क्या यौन संबंध बनाने से पहले व्यक्ति ने कोई गोली खाई थी।

पुलिस लेकर पहुंची अस्पताल
कुर्ला थाने के अधिकारी ने बताया कि होटल के कर्मचारियों ने फौरन स्थानीय पुलिस को सूचित किया जो बुजुर्ग शख्स को सायन में स्थित नगर निकाय के अस्पताल लेकर गए जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। महिला को बाद में कुर्ला थाने लाकर पूछताछ की गई।

उत्तेजना बढ़ाने के लिए ली थी दवा?

अधिकारी ने बताया कि शुरुआती सूचना (Sex Relation) के आधार पर, हमने दुर्घटनावश मौत की रिपोर्ट दर्ज की है और मौत के सटीक कारण के बारे में जानकारी के लिए मेडिकल रिपोर्ट का इंतजार कर रहे हैं। पुलिस यह भी पता लगा रही हैं कि क्या उसने सेक्स करने से पहले कोई उत्तेजना के लिए दवा ली थी।

Indian Railway इंडियन रेलवे के लिए आफत बना ‘रसगुल्ला’! ट्रेनें हुईं रद्द, यात्री हुए परेशान

इंडियन रेलवे के लिए आफत बना ‘रसगुल्ला’! ट्रेनें हुईं रद्द, यात्री हुए परेशान

Good News: खाने के तेल जल्द होंगे सस्ते, सरकार ने दो साल के लिए शुल्क-मुक्त आयात की अनुमति दी

इंडियन रेलवे के लिए आफत बना ‘रसगुल्ला’! ट्रेनें हुईं रद्द, यात्री हुए परेशान

25-May-2022

दूध से बना स्पंजी मिठाई रसगुल्ला (Rasgulla) बहुत से लोगों का मनपसंद होता है। लेकिन, क्या कभी आपने सोचा है कि रसगुल्ले की वजह से इंडियन रेलवे (Indian Railway) को भारी नुकसान उठाना पड़ा हो।? जी हां, सोचकर बेहद अजीब लग रहा होगा कि भला रसगुल्ले की वजह से इंडियन रेलवे को कैसे नुकसान हो सकता है, तो चलिए अब हम आपको बताते हैं पूरा माजरा आखिर है क्या?

सीजीपीएससी ने इन पदों पर भर्ती के लिए जारी किया नोटिफिकेशन, जान लें सभी डिटेल

अब सिर्फ ‘कांग्रेस’ नहीं ‘इंडियन नेशनल कांग्रेस’ कहिए: कांग्रेस पार्टी

Ration Card: सरकार ने राशन बांटने के लिए नियमों में किया बड़ा बदलाव, 1 जून से होने जा रहा लागू

रसगुल्ले से क्या संबंध?  
इस समय बहुत कम लोग जानते हैं कि लखीसराय के रसगुल्ले बेहद अनूठे और देश भर में प्रसिद्ध हैं। इसकी बहुत मांग होती है, इसे आस-पास के राज्यों में भी ट्रांसपोर्ट किया जाता है। लोग विशेष रूप से शादी पार्टी में इसकी मांग करते हैं। कस्बे में 200 से अधिक दुकानें हैं जो इस व्यवसाय में है और हर रोज़ सैकड़ों रसगुल्ले तैयार करते हैं। हालांकि, ट्रेनों के न रुकने से कारोबार पर बुरी तरह असर पड़ता है। इसी वजह से लोग काफी नाराज हैं। क्योंकि वे देश के विभिन्न हिस्सों में स्टॉक की आपूर्ति नहीं कर पाते हैं। 
वहीं कोविड के दौरान भी बरहिया में ट्रेनों के न रुकने से मिठाई का कारोबार बुरी तरह प्रभावित हुआ था। रेलवे स्टेशन पर फिलहाल कोई ट्रेन नहीं रुकने से स्थानीय लोग और हलवाई आक्रोशित। लखीसराय के जिला मजिस्ट्रेट संजय कुमार ने बताया कि, बड़ी संख्या में लोग स्टेशन पर पटरियों पर बैठ गए, जिनकी मांग है कि बरहिया में कई एक्सप्रेस ट्रेनों का ठहराव नहीं किया गया है, इसलिए उनकी सुविधा के लिए स्टेशन पर निर्धारित ठहराव किया जाए। 
इस प्रदर्शन में स्थानीय लोगों ने रेलवे ट्रैक पर ही टेंट लगा दिया और वहीं पर 40 घंटे बैठकर ट्रेनों की आवाजाही रोक दी। जिसकी वजह से हावड़ा-दिल्ली रेल लाइन (Howrah-Delhi Rail Line) पर एक दर्जन ट्रेनों को 24 घंटे के लिए रद्द करना पड़ा। जबकि 100 से अधिक ट्रेनों को डायवर्ट किया गया, इस वजह से यात्रियों को भी बहुत सी परेशानियों का सामना करना पड़ा। 

Ration Card: सरकार ने राशन बांटने के लिए नियमों में किया बड़ा बदलाव, 1 जून से होने जा रहा लागू

25-May-2022

अगर आप राशन कार्ड से लाभ उठाते हैं तो ये खबर आपके काम की है। दरअसल, सरकार ने राशन बांटने के नियमों में बदलाव किया है और ये बदलाव जून से लागू किया जा रहा है। ऐसे में यहां जान लें कि वह कौन से नियम हैं जिन्हें बदला जा रहा है।

दरअसल, केंद्र सरकार की तरफ से राज्यों में राशन कार्ड धारकों को मुफ्त में गेंहू और चावल बांटा जाता है। ये तकसीम पीएम गरीब कल्‍याण अन्‍न योजना (Pradhan Mantri Garib Kalyan Anna Yojana) के तहत अमल में लाई जाती है। इसमें ये बदलाव किया गया है कि अब गेंहू की जगह चावल दिया जाएगा। इसके लागू होने के साथ ही गेंहू की जगह चावल ज्यादा मिकदार में दी जाएगी।

यूपी-बिहार और केरल में नहीं मिलेगा गेंहू :

नए नियमों में गेंहू की तकसीम को घटाया गया है। अब यूपी, बिहार और केरल में गेंहू नहीं बांटा जाएगा। वहीं द‍िल्‍ली, गुजरात, झारखंड, एमपी, महाराष्‍ट्र, उत्‍तराखंड और पश्‍च‍िम बंगाल के गेहूं के कोटे में कमी की गई है। इन राज्‍यों में कार्ड धारकों को गेहूं कम और चावल ज्‍यादा म‍िलेगा। बाकी राज्‍यों में क‍िसी तरह का बदलाव नहीं क‍िया गया।

दरअसल कम गेंहू खरीद की वजह से ये फैसला लिया गया है। खाद्य सचिव सुधांशु पांडे ने बताया क‍ि इस दौरान करीब 55 लाख मीट्रिक टन चावल का अतिरिक्त आवंटन किया जाएगा। यह बदलाव केवल पीएमजीकेएवाई (PMGKAY) के लिए है। इस असर यह होगा क‍ि कुछ राज्‍यों में गेहूं कम करके पहले से ज्‍यादा चावल द‍िया जाएगा।

रेलवे ने रद्द की 36 ट्रेनें, एमपी, ओडिशा, राजस्थान, महाराष्ट्र, पश्चिम बंगाल जाने वाले यात्रियों की बढ़ी परेशानी, यह है ट्रेनों की सूची

25-May-2022

बिलासपुर। रेलवे बोर्ड ने कोयला की मालगाड़ी चलाने के लिए आगामी 1 माह के लिए 36 ट्रेनों को रद्द कर दिया है। अप्रैल व मई की तरह जून में भी रेलवे के इसी तरह के निर्णय से यात्रियों को परेशान होना पड़ेगा।

रेलवे प्रशासन ने बिलासपुर जोन और यहां से गुजरने वाली जिन ट्रेनों को रद्द किया है वे आम जनता के लिए काफी महत्वपूर्ण है। इनमें से बिलासपुर जोन की एक्सप्रेस और मेमू-डेमू तो यहां की जनता के लिए लाइफ लाइन के समान हैं। खासकर वे ट्रेनें जो बिलासपुर-कटनी रूट पर चलती हैं। ज्यादातर ट्रेनें इसी रूट की है। बिलासपुर-भोपाल, बिलासपुर-रीवा जैसी ट्रेन को काफी महत्वपूर्ण हैं। इसके अलावा मेमू लोकल भी बहुत मायने रखती है। ये सभी ट्रेनें उसलापुर, घुटकू, कलमीटर, करगीरोड कोटा, सल्का, बेलगहना, टेंगनमाड़ा, खोंगसरा,खोडरी, सारबहरा, पेंड्रारोड, अनूपपुर होते हुए शहडा़ेल तक काफी महत्वपूर्ण हैं। अधिकांश ट्रेनों को रद्द कर कोयले की सप्लाई सुनिश्चित की जा रही है।

रद्द होने वाली मेल/एक्सप्रेस गाडिय़ां : 

  • - 25 मई से 24 जून तक बिलासपुर एवं भोपाल से रवाना होने वाली गाड़ी संख्या 18236/18235 बिलासपुर-भोपाल -बिलासपुर एक्सप्रेस रद्द रहेगी।
  • - 24 मई से 23 जून तक बिलासपुर से रवाना होने वाली गाड़ी संख्या 18247 बिलासपुर –रीवा एक्सप्रेस रद्द रहेगी।
  • - 25 मई से 24 जून तक रीवा से रवाना होने वाली गाड़ी संख्या 18248 रीवा -बिलासपुर एक्सप्रेस रद्द रहेगी।
  • - 24 मई से 23 जून तक जबलपुर से रवाना होने वाली गाड़ी संख्या 11265 जबलपुर- अम्बिकापुर एक्सप्रेस रद्द रहेगी।
  • -  25 मई से 24 जून तक अम्बिकापुर से रवाना होने वाली गाड़ी संख्या 11266 अम्बिकापुर-जबलपुर एक्सप्रेस रद्द रहेगी।
  • - 30 मई व 6,13, 20 जून को नांदेड से रवाना होने वाली गाड़ी संख्या 12767 नांदेड- सांतरागाछी एक्सप्रेस रद्द रहेगी।
  • - 1, 8,15, 22 जून को सांतरागाछी से रवाना होने वाली गाड़ी संख्या 12768 सांतरागाछी- नांदेड एक्सप्रेस रद्द रहेगी।
  • - 25 मई व 1, 8, 15, 22 जून को रानी कमलापति से रवाना होने वाली गाड़ी संख्या 22169 रानी कमलापति-सांतरागाछी एक्सप्रेस रद्द रहेगी।
  • - 26 मई से 2, 9, 16, 23 जून को सांतरागाछी से रवाना होने वाली गाड़ी संख्या 22170 सांतरागाछी-रानी कमलापति एक्सप्रेस रद्द रहेगी।
  • - 26, 30 मई एवं 2, 6, 9, 13, 16, 20, 23 जून को गाड़ी संख्या 12880 भुनेश्वर एलटीटी द्वि-साप्ताहिक एक्सप्रेस भुवनेश्वर रद्द रहेगी।
  • - 25, 28 मई एवं 1, 4, 8, 11, 15, 18, 22 जून को (11) गाड़ी संख्या 12879 एलटीटी भुवनेश्वर द्वि-साप्ताहिक एक्सप्रेस एलटीटी रद्द रहेगी।
  • - 24, 31 मई एवं 7, 14, 21 जून को गाड़ी संख्या 22866 पुरी-एलटीटी साप्ताहिक एक्सप्रेस पुरी से रद्द रहेगी।
  • - 26 मई एवं 02,09,16,23 जून को गाड़ी संख्या 22865 एलटीटी पुरी साप्ताहिक एक्सप्रेस एलटीटी से रद्द रहेगी।
  • - 27, 28 मई एवं 2, 3, 10, 11, 17, 18 जून को गाड़ी संख्या 12812 हटिया एलटीटी द्वि साप्ताहिक एक्सप्रेस रद्द रहेगी।
  • - 29, 30 मई एवं 5, 6, 12, 13, 19, 20 जून को गाड़ी संख्या 12811 एलटीटी हटिया द्विसाप्ताहिक एक्सप्रेस एलटीटी से रद्द रहेगी।
  • - 29 मई एवं 5, 12,19 जून को गाड़ी संख्या 22847 विशाखापट्टनम एलटीटी साप्ताहिक एक्सप्रेस विशाखापट्टनम से रद्द रहेगी।
  • - 31 मई एवं 07,14,21 जून को गाड़ी संख्या 22848 एलटीटी विशाखापटनम साप्ताहिक एक्सप्रेस एलटीटी से रद्द रहेगी।
  • - 24, 30, 31 मई एवं 6, 7, 13, 14, 20, 21 जून को गाड़ी संख्या 20843 बिलासपुर -भगत की कोठी द्वि साप्ताहिक एक्सप्रेस बिलासपुर से रद्द रहेगी।
  • - 28 मई एवं 2, 4, 9, 11, 16, 18, 23, 25 जून को गाड़ी संख्या 20844 भगत की कोठी-बिलासपुर द्वि साप्ताहिक एक्सप्रेस भगत की कोठी से रद्द रहेगी।
  • - 26, 28 मई एवं 2, 4, 9, 11, 16, 18, 23 जून को गाड़ी संख्या 20845 बिलासपुर- बीकानेर द्वि साप्ताहिक एक्सप्रेस बिलासपुर से रद्द रहेगी।
  • - 29, 31 मई एवं 5, 7, 12, 14, 19, 21, 26 जून को गाड़ी संख्या 20846 बीकानेर- बिलासपुर द्वि साप्ताहिक एक्सप्रेस बीकानेर से रद्द रहेगी।

रद्द होने वाली पैसेंजर स्पेशल गाडिय़ां

  • - 25 मई से 24 जून तक बिलासपुर एवं रायगढ़ रवाना होने वाली गाडी संख्या 08738/08737 बिलासपुर-रायगढ़- बिलासपुर मेमू पैसेंजर स्पेशल रद्द रहेगी।
  • - 25 मई से 24 जून तक बिलासपुर एवं शहडोल रवाना होने वाली गाडी संख्या 08740/08739 बिलासपुर- शहडोल-बिलासपुर मेमू पैसेंजर स्पेशल रद्द रहेगी।
  • - 24 मई से 23 जून तक गाड़ी संख्या 08709 रायपुर-डोंगरगढ़ मेमू पैसेंजर स्पेशल रायपुर से रद्द रहेगी।
  • - 25 मई से 24 जून 2022 तक गाड़ी संख्या 08710 डोंगरगढ़-रायपुर मेमू पैसेंजर स्पेशल डोंगरगढ़ से रद्द रहेगी।
  • - 25 मई से 24 जून तक इतवारी से रवाना होने वाली गाड़ी संख्या 08754 इतवारी-रामटेक मेमू पैसेंजर स्पेशल रद्द रहेगी।
  • - 25 मई से 24 जून तक रामटेक से रवाना होने वाली गाड़ी संख्या 08755 रामटेक-नागपुर मेमू पैसेंजर स्पेशल रद्द रहेगी।
  • - 25 मई से 24 जून तक रायपुर से रवाना होने वाली गाड़ी संख्या 08705 रायपुर -डोंगरगढ़ मेमू पैसेंजर स्पेशल रद्द रहेगी।
  • - 25 मई से 24 जून तक डोंगरगढ़ से रवाना होने वाली गाड़ी संख्या 08706 डोंगरगढ़-रायपुर- बिलासपुर मेमू पैसेंजर स्पेशल रद्द रहेगी।
  • - 24 मई से 23 जून 2022 तक गाड़ी संख्या 08861 गोंदिया-झारसुगुड़ा मेमू पैसेंजर स्पेशल गोंदिया से रद्द रहेगी।
  • - 25 मई से 24 जून तक गाड़ी संख्या 08862 झारसुगुड़ा-गोंदिया मेमू पैसेंजर स्पेशल झारसुगुड़ा से रद्द रहेगी।

आंशिक रूप से रद्द होने वाली गाड़ी

- 25 मई से 24 जून तक गाड़ी संख्या 18239 गेवरारोड-इतवारी एक्सप्रेस कोरबा-गेवरा रोड़ के मध्य रद्द रहेगी।

शादी में मिले गिफ्ट से हुआ धमाका, दूल्हे का हाथ और आंख डैमेज, पत्नी के पूर्व प्रेमी पर शक

25-May-2022

शादी में मिले एक गिफ्ट को खोलने के बाद बड़ा धमाका हो गया। जिससे दूल्हा जख्मी हो गया। दूल्हे के साथ उसका भतीजा भी घायल हो गया।

दरअसल, शादी के बाद नवविवाहित लतेश गावित ने शादी में मिले तोहफों को देखना शुरू किया। तभी शादी में आए एक टेडी बियर में जोरदार धमाका हुआ। इस धमाके में दूल्हे के साथ ही उसका तीन साल का भतीजा बुरी तरह से घायल हो गया। उन्हें गंभीर हालत में अस्पताल में भी भर्ती करवाना पड़ा।

शादी में मिला गिफ्ट गुजरात के एक परिवार के लिए काफी खतरनाक साबित हुआ। घटना गुजरात में नवसारी जिले के वंसदा तालुका स्थित मीठांबरी में हुई है। यहां हाल ही में एक शादी हुई थी। इस शादी में आए मेहमानों ने दूल्हा और दुल्हन को शादी में कई गिफ्ट दिए थे। हालांकि इस शादी में मिले एक गिफ्ट ने पूरी शादी को ही बर्बाद करके रख दिया।

पूर्व प्रेमी पर शक : घटना को लेकर दूल्हे के ससुर ने उनकी बेटी के पूर्व प्रेमी पर शक जताया है। उन्होंने बताया कि उनकी बेटी सलमा की शादी लतेश के साथ हुई थी। सलमा की बड़ी बहन के पूर्व प्रेमी राजू धनसुख पटेल ने एक आशा वर्कर के हाथ से टेडी बियर जैसा इलेक्ट्रॉनिक गिफ्ट शादी में भेजा था। वहीं पुलिस को भी राजू पर शक है।

पुलिस का कहना है कि राजू सलमा के साथ भी पहले प्रेम संबंध में रह चुका है और राजू ने बदले की भावना से घटना को अंजाम दिया। वहीं पुलिस ने मामले में जांच शुरू कर दी है। पुलिस ने पीड़ित परिवार के बयान भी दर्ज कर लिए हैं।

Gyanvapi Case:: ज्ञानवापी सर्वे रिपोर्ट पर दोनों पक्ष दाखिल करेंगे जवाब, अब 26 मई को सुनवाई

24-May-2022

ज्ञानवापी मामले में मुस्लिम पक्ष की याचिका पर पहले सुनवाई होगी। वाराणसी कोर्ट ने सुनवाई के बाद यह फैसला दिया है। अब मामले पर वाराणसी जिला अदालत में 26 मई को सुनवाई होगी। 26 मई को ऑर्डर 7/11 पर सुनवाई होगी। साथ ही सर्वे पर कोर्ट ने दोनों पक्षों से एक हफ्ते में आपत्ति मांगी हैं।

जज ने दोनों पक्षों को सुनने के बाद नई तारीख दी। आपको बता दें कि इस मामले में विशेष उपासना स्थल अधिनियम 1991 लागू होता है या नहीं।  26 मई को मुस्लिम पक्ष के आवेदन 35 ग पर सुनवाई होगी कि पोषणीय है या नही।

ज्ञानवापी केस में अब 26 मई को होगी सुनवाई, कमिशन की रिपोर्ट पर दोनों पक्ष दाखिल करेंगे जवाब। कोर्ट ने दोनों पक्षों से सर्वे रिपोर्ट पर मांगी आपत्तियां, वीडियोग्राफी और फोटोग्राफी की सीडी उपलब्ध कराने के आदेश। 26 मई को दोनों पक्षों की दलील सुनने के बाद जिला जज तय करेंगे आगे की सुनवाई की प्रक्रिया। आज 32 लोगों को जज के चेंबर में जाने की मिली इजाज़त। सुप्रीम कोर्ट ने ज्ञानवापी मामले से जुड़ीं सभी याचिकाओं को सेशन कोर्ट से जिला अदालत में ट्रांसफर करने का आदेश दिया था। 26 मई को पहले ज्ञानवापी केस की वैधता पर होगी सुनवाई, देखें नॉनस्टॉप 100।


Previous123456789...2930Next