Wednesday,28 September 2022   06:34 am
Previous123456789...4243Next

अमेरिका से वापस लाई जाएगी 1,000 साल पुरानी शिव की कालसंहार मूर्ति

23-Sep-2022

तमिलनाडु के तंजावुर स्थित काशी विश्वनाथ स्वामी मंदिर से 50 साल पहले चोरी हुई शिव जी की कालसंहार मूर्ति को अमेरिका से वापस लाया जाएगा। इसके लिए राज्य पुलिस की सीआईडी द्वारा बनाई मूर्ति विंग ने कानूनी प्रस्ताव व दस्तावेज अमेरिका भेजे हैं। बता दें 1,000 साल पुरानी यह मूर्ति एक नीलामी कंपनी क्रिस्टीज द्वारा करीब 35.19 करोड़ रुपये में अपने वेबसाइट पर नीलामी के लिए रख दी गई थी।

मूर्ति को वर्ष 1050 की चोल-कालीन माना जा रहा है। 82.3 सेमी ऊंची यह मूर्ति कांसे की बनी है। इसमें शिव त्रिपुराविजय रूप और विजयी भाव में हैं। उनका शरीर त्रिभंग रूप में है। इसे त्रिपुरांतक मूर्ति भी कहा जाता है। मूर्ति की चोरी की बात छह नवंबर 2020 को तब सामने आई जब चेन्नई पुलिस ने मंदिर के कार्यकारी अधिकारी जी सुरेश से एक अन्य मूर्ति की चोरी के बारे में पूछताछ की गई। उन्होंने बताया कि कालसंहार मूर्ति 50 साल पहले चोरी हो चुकी है, इसकी जगह नकली मूर्ति रख भक्तों से पूजा करवाई जा रही है। जिसके बाद मूर्ति की तलाश शुरू की गई। दुनिया भर के संग्रहालयों, नीलामी कंपनियों, निजी संग्रहकर्ताओं के पास तलाशा गया तो यह क्रिस्टीज की वेबसाइट पर नजर आई। जिसके बाद वापसी की प्रक्रिया शुरू की गई है।

  1. जानिए क्या है लंपी वायरस, जिसे लेकर भारत में भी मचा है हड़कंप, क्या इंसानों को भी खतरा ? 

  2.  मशहूर कॉमेडियन Raju Srivastava का निधन, अस्पताल में ली अंतिम सांस, पूरे देश में शोक की लहर 

  3. छत्तीसगढ़  के सीएम बघेल के सीएम को गणेश की शादी की चिंता, छह फीट की दुल्हन खोजने में लोगों से मांगी मदद

 

17 राज्यों के स्कूलों में डिजिटल क्‍लासरूम बनाएगी एचपी, 9 से 12वीं के छात्रों को मिलेगा मॉडर्न शिक्षा ढांचा

23-Sep-2022

देश की स्कूली शिक्षास्तर को बेहतर और ढांचे को मजबूत करने के लिए केंद्र सरकार तेजी से काम कर रही है। छात्रों के लिए डिजिटल लर्निंग के अवसरों को बढ़ावा देने के उद्देश्य से सरकारें काम कर रही हैं। इसी क्रम में बीते माह पीएमश्री योजना के तहत देश के 14,500 स्कूलों के कायाकल्प का निर्णय लिया गया था। अब एचपी इंडिया ने 17 राज्यों के सरकारी स्कूलों में डिजिटल क्लासरूम बनाने की बात कही है। देशभर में 2,000 डिजिटल क्लासरूम बनाने की तैयारी है। इसके जरिए शिक्षा ढांचे को मॉडर्न तरीके से विकसित करने में मदद मिलेगी।

इन राज्यों में डिजिटल क्‍लासरूम की तैयारी

  • दिल्ली/एनसीआर
  • गुजरात
  • राजस्थान
  • तमिलनाडु
  • आंध्र प्रदेश
  • तेलंगाना
  • कर्नाटक
  • ओडिशा
  • पश्चिम बंगाल
  • मध्य प्रदेश
  • छत्तीसगढ़
  • उत्तर प्रदेश
  • हरियाणा
  • झारखंड
  • पंजाब
  • महाराष्ट्र
  • दमन और दीव

शुरू करने की तैयारी है। इसके लिए इच्छुक कॉरपोरेट फाउंडेशन/एनजीओ के लिए आवेदन की अंतिम तारीख 7 अक्टूबर 2022 है। प्रोजेक्‍ट की जानकारी के लिए https://www.hpindiacsr.com/solution/hpalfa पर विजिट किया जा सकता है।

 

  1. दुर्गा पंडालों के लिए प्रशासन ने जारी की गाइडलाइन, सीसीटीवी लगाना अनिवार्य, डीजे धुमाल के उपयोग पर प्रतिबंध
  2. चीन ने कार में लगा दी बुलेट ट्रेन वाली तकनीक, चलती नहीं, रोड पर तैरती है ये कार
 

OMG: महिला ने KFC से मंगाया चिकन सैंडविच, पैकेट खोलते ही नोटों के बंडल देख उड़ गए होश!

21-Sep-2022

महिला टेकअवे बैग में चिकन सैंडविच पैक करवाकर घर ले जा रही थी। अचानक मिले इतने रुपए देखकर महिला ने इसे संबंधित लोगों को वापस कर दिया। महिला की ईमानदारी की पुलिस ने भी जमकर तारीफ की। 

जोआने ओलिवर जॉर्जिया (अमेरिका) की रहने वाली हैं। उन्‍होंने लंच में जैसे ही चिकन सैंडविच खाना शुरू किया, उन्‍हें सैंडविच के नीचे से 43 हजार रुपए लिफाफे में मिले।

डेलीस्‍टार की रिपोर्ट के मुताबिक, जोआने इस समय कर्जे में डूबी हुई हैं। इसके बाद भी उन्‍होंने ये पैसे देखकर पुलिस को फोन किया। मजाकिया अंदाज में उन्‍होंने कहा कि उनके पास शॉपिंग का विकल्‍प भी मौजूद था और वह कार की टंकी भी भरवा सकती थी।  

इसके बाद जब इसकी जांच की गई तो पाया गया कि KFC की डिपॉजिट राशि गलती से जोआने के बैग में चली गई थी। पुलिस ने फेसबुक पर जोआने को थैंक्‍स कहा। फेसबुक पोस्‍ट में पुलिस ने लिखा-जोआने ने सही काम तो किया ही, उन्‍होंने मैनेजर की नौकरी भी बचा ली। इसके साथ ही सोशल मीडिया पर भी तमाम यूजर्स ने जोआने की ईमानदारी की तारीफ की।

  1. CRPF में होगी 400 युवाओं की भर्ती, इस दिन से शुरू होगी प्रक्रिया…जानिए डिटेल 

  2. कर्मचारियों के लिए आ गई खुशखबरी, सरकार ने क‍िया यह बड़ा ऐलान?

दवा कंपनियों की तरफ से डॉक्टरों को रिश्वत और दूसरे लालच देने से रोकने के लिए सरकार ने लिया बड़ा कदम

21-Sep-2022

केंद्र सरकार ने दवा कंपनियों की मार्केटिंग प्रैक्टिस की समीक्षा की समीक्षा के लिए एक पैनल का गठन किया है।

समीक्षा के साथ-साथ यह पैनल यह भी देखेगा कि क्या इन मेडिकल प्रैक्टिस के नियंत्रण के लिए किसी कानूनी ढांचे की जरूरत है।
इस पैनल को तीन महीनों के भीतर अपनी सिफारिशें सौंपनी होगी। 
न्यूज18 के अनुसार, कोरोना टास्क फोर्स का नेतृत्व कर रहे नीति आयोग (स्वास्थ्य) के सदस्य डॉ वीके पॉल को इस पैनल की कमान सौंपी गई है।
उनके अलावा फार्मास्यूटिकल विभाग की सचिव एस अपर्णा, स्वास्थ्य मंत्रालय के सचिव राजेश भूषण, केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (CBDT) के प्रमुख नितिन गुप्ता और फार्मा विभाग (पॉलिसी) के एक संयुक्त सचिव को इस पैनल में शामिल किया गया है।
12 सितंबर को इसके लिए मेमोरेंडम जारी किया जा चुका है।

किन चीजों की समीक्षा करेगा पैनल?
यह पैनल मौजूदा कोड ऑफ कंडक्ट और 2015 में लाए गए यूनिफॉर्म कोड ऑफ फार्मास्यूटिकल मार्केटिंग प्रैक्टिसेस (UCPMP) की समीक्षा करेगा।
मेमोरेंडम में लिखा गया है कि मौजूदा नियमों के तहत शिकायत और जांच का प्रावधान है, लेकिन ये सरकार के किसी भी नियमों के तहत नहीं आते। मार्केटिंग प्रैक्टिसेस को नियंत्रित करने के एक कानूनी ढांचे की जरूरत के मुद्दे पर सभी हितधारकों के विचार लेने और उनकी समीक्षा के लिए यह पैनल बनाया गया है।

नवरात्रि पर ट्रेन से सफर करने वाले यात्रियों के लिए खुशखबरी, अब सफर के दौरान मिलेगी ये सुविधा

21-Sep-2022

IRCTC Special Vrat Thali: आईआरसीटीसी अपने यात्रियों की सुख-सुविधाओं का विशेष खास ख्याल रखता है. त्योहारों के वक्त ट्रेन में यात्रियों की संख्या बढ़ जाती है, ऐसे में उन्हें किसी भी तरह की परेशानी ना हो इसको लेकर भी आईआसीटीसी सतर्क रहता है. इसी कड़ी में नवरात्रि के दौरान ट्रेन में यात्रियों को खाने-पीने की परेशानी ना हो इसके लिए रेलवे ने खास इंतजाम किए हैं. ट्रेन में सफर करने वाले या व्रत के समय में यात्रा करने के दौरान अब ट्रेन में ही व्रत थाली उपलब्ध कराई जाएगी. इसको लेकर आईआरसीटीसी ने निर्देश भी जारी कर दिया है.

व्रत पर खाने को लेकर नहीं होगी टेंशन

रेलवे के इस फैसले के बाद यात्रियों को व्रत के दौरान खाने के टेंशन से मुक्त हो जाएंगे. IRCTC आपको नवरात्रों की थाली दे रहा है. ये सुविधा 400 स्टेशनों पर उपलब्ध है. इस थाली को मंगाने के लिए यात्री को 1323 पर कॉल कर बुक करना होगा. फिर कुछ ही वक्त के अतंराल पर साफ-सुथरी व्रत की थाली आपकी सीट पर पहुंचा दी जाएगी. इस तरह की व्यवस्था पिछले साल भी लागू की गई थी.

  1.  मशहूर कॉमेडियन Raju Srivastava का निधन, अस्पताल में ली अंतिम सांस, पूरे देश में शोक की लहर 

  2. छत्तीसगढ़  के सीएम बघेल के सीएम को गणेश की शादी की चिंता, छह फीट की दुल्हन खोजने में लोगों से मांगी मदद

जानिए क्या है लंपी वायरस, जिसे लेकर भारत में भी मचा है हड़कंप, क्या इंसानों को भी खतरा ?

21-Sep-2022

Lumpy Virus News : देश में इस समय लंपी वायरस तेजी से अपना पैर पसार रहा है। जिससे बड़ी संख्या में मवेशी बीमार हो रहे हैं। झारखंड, गुजरात, महाराष्ट्र और राजस्थान में मवेशियों में बीमारी फैलने की खबर सामने आ रही है। लंपी वायरस का प्रकोप देश के राजस्थान, गुजरात, महाराष्ट्र आदि राज्यों में पाई गई है। लंपी स्किन डिजीज जिसे पशु चेचक भी कहते हैं एक वायरल बीमारी है जो कैपरी पाक्स वायरस से फैलती है। कैपरी पाक्स वायरस से बकरियों में गोट पाक्स नाम की बीमारी फैलती है और भेड़ों में सीप पाक्स तथा गायों में लंपी स्किन डिजीज नाम की बीमारी फैलती है। झारखंड के कई जिलों में लंपी वायरस से पीड़ित पशु मिले हैं, इसे लेकर राज्य सरकार अलर्ट मोड पर है।

  • इस बीमारी के क्या हैं लक्षण 
  • लगातार बुखार रहना
  • वजन कम होना
  • लार निकलना
  • आंख और नाक का बहना
  • दूध का कम होना
  • शरीर पर अलग-अलग तरह के नोड्यूल दिखाई देना
  • शरीर पर चकत्ता जैसी गांठें बन जाना

इस समय मवेशियों को बड़ी मात्रा में लम्पी बीमारी का सामना करना पड़ रहा है, लेकिन पशुपालक इस बीमारी से ना घबराएं, बल्कि सावधानी बरतते हुए अपने मवेशियों का टीकाकरण करवाएं, इसके लिए पशुचिकित्सा विभाग और गोविंद मिल्क एंड मिल्क प्रोडक्ट प्रा। लि। फलटण की ओर से टीकाकरण की सुविधा उपलब्ध कराई गई है। ऐसा आवाहन ‘गोविंद’ के चेयरमन संजीवराजे नाईक-निंबालकर ने किया। मुंजवडी में ‘गोविंद’ की ओर से लम्पी प्रतिबंध टीकाकरण मुहिम की शुरुआत हाल ही में की गई। इस समय संजीवराजे बोल रहे थे।

वायरस से इंसानों को खतरा नहीं

इस वायरस से इंसानों को खतरा नहीं है, इसलिए नागरिकों को घबराना नहीं चाहिए। साथ ही बकरी, भेड़ और अन्य पालतू जानवरों को भी इस वायरस से खतरा नहीं है। पशु चिकित्सा विभाग के उपायुक्त सचिन ढोले ने बताया कि गौशालाओं और गौशालाओं में साफ-सफाई को लेकर नागरिक सतर्क रहें और लम्पी वायरस के बारे में गलत सूचना फैलाने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। इस बैठक में पशु चिकित्सा विभाग के उप आयुक्त सचिन ढोले, स्वास्थ्य विभाग के उप आयुक्त अजय चारठाणकर, सूचना व जनसंपर्क विभाग के उप आयुक्त रविकिरण घोडके, पशु चिकित्सा अधिकारी डॉ। अरुण दगडे के साथ पशु चिकित्सा विभाग के डॉक्टर्स, कर्मचारी उपस्थित थे।

अब up मेट्रो में मना सकेंगे अपना बथर्डे पार्टी के लिए सजा आएगा कोच ऐसे करे ऐसे करे अप्लाई ?

19-Sep-2022


आने वाले समय में लोग नोएडा मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन का कोच बुक करके चलती मेट्रो ट्रेन में अपना बर्थडे सेलिब्रेशन, प्री-वेडिंग शूट और अन्य कार्यक्रमों का आयोजन कर सकेंगे. अब आम जनता के लिए भी नोएडा मेट्रो में बर्थडे पार्टी, प्री-वेडिंग शूट और अन्य कार्यक्रम करना आसान हुआ. कई सालों से लगातार नोएडा मेट्रो रेल कॉरपोरेशन यह कोशिश कर रहा था कि मेट्रो कोच को लोग अपने निजी कार्यक्रम के लिए बुक कर सके और चलती मेट्रो में बर्थडे सेलिब्रेशन, प्री-वेडिंग शूट और अन्य कार्यक्रम मना सकें।इन सभी के लिए अब नोएडा मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन द्वारा हरी झंडी मिल चुकी है. आने वाले समय में लोग नोएडा मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन का कोच बुक करके चलती मेट्रो ट्रेन में अपना बर्थडे सेलिब्रेशन, प्री-वेडिंग शूट और अन्य कार्यक्रमों का आयोजन कर सकेंगे. इसके लिए उन्हें एक निर्धारित कीमत चुकानी होगी।अगर आप निजी कार्यक्रमों के लिए कोच बुक कराएंगे तो एनएमआरसी द्वारा 1 घंटे के लिए एक कोच बुक किया जाएगा. बिना सजावट के कोच की कीमत करीब 5 हजार होगी. वहीं, अगर कोच 1 घंटे के लिए सजावट के साथ बुक कराया जाएगा तो नोएडा मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन द्वारा इसकी 8 से 10 हजार रुपये कीमत तय की गई है.इसके साथ-साथ एक कोच में लोगों को किसी सेलिब्रेशन में शामिल होने की कैपेसिटी 50 रखी गई है. इस योजना को शुरू करने से आने वाले समय में नोएडा मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन को राजस्व का भी फायदा होगा. इसके अलावा लोगों को चलती मेट्रो ट्रेन में अपने कार्यक्रमों को करने में सहूलियत मिलेगी और आनंद आएगा. इस योजना को नोएडा मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन ने काफी समय से धरातल पर लाने की कोशिश की थी, लेकिन बीच में कोरोना महामारी के चलते यह योजना ठंडे बस्ते में चली गई थी .अब एक बार फिर यह योजना जनता के लिए शुरू होने जा रही है. इससे लोगों की एक नया अनुभव मिलेगा.

Chandigarh University में 60 लड़कियों का नहाते हुए वीडियो वायरल, 8 ने की सुसाइड की कोशिश जानिए पूरा मामला ?

19-Sep-2022


पंजाब की चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी (Chandigarh University) में शनिवार रात को जमकर हंगामा हुआ. यूनिवर्सिटी की सैकड़ों लड़कियां प्रदर्शन पर उतर आईं और न्याय की मांग करते हुए 'We Want Justice' के नारे लगाए. लड़कियों का आरोप है कि नहाते समय लगभग 60 लड़कियों का वीडियो बनाकर सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया गया है. वीडियो वायरल होने के बाद 8 लड़कियों ने अपनी जान देने की कोशिश की. इसी मामले को लेकर लड़कियों का आरोप है कि यूनिवर्सिटी प्रशासन मामले को दबाने की कोशिश कर रहा है.सोशल मीडिया पर इन लड़कियों के वॉट्सऐप मैसेज भी वायरल हैं जिनमें उन्होंने जान देने की बात कही है. सुसाइड की कोशिश करने वाली लड़कियों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है. रिपोर्ट के मुताबिक, यूनिवर्सिटी की ही एक लड़की ने वीडियो बनाए और अपने बॉयफ्रेंड समेत अपने कई दोस्तों को भेज दिए. उसके दोस्तों ने ये वीडियो वायरल कर दिए.वीडियो बनाए जाने जैसी गंभीर घटना सामने आने के बाद गुस्साई लड़कियों ने शनिवार देर रात कैंपस में ही जमकर हंगामा किया. कैंपस में हंगामे की खबर पर पुलिस भी पहुंची लेकिन छात्राएं पुलिस पर भी भड़क गईं. आक्रोशित छात्राओं ने गाड़ियों में जमकर तोड़फोड़ भी की. पुलिस ने वीडियो बनाने वाली लड़की को हिरासत में ले लिया है.रिपोर्ट के मुताबिक, जिन लड़कियों ने जान देने की कोशिश की है, उन्होंने सोशल मीडिया पर वायरल हुआ अपना वीडियो देख लिया. जान देने की कोशिश करने वाली लड़कियों की हालत बिगड़ने के बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है. इन लड़कियों के घरवालों को भी सूचना दी गई है और उन्हें बुलाया है.शुरुआती जांच में पता चला है कि यह लड़की लंबे समय से अपने ही साथ पढ़ने वाली छात्राओं के वीडियो बना रही थी. शिमला में रहने वाले जिन दोस्तों को उसने वीडियो भेजे हैं अब उनकी भी तलाश की जा रही है. लड़कियों का आरोप है कि यूनिवर्सिटी प्रशासन ने कार्रवाई के बजाय इस मामले को दबाने की कोशिश की है

PSC परीक्षा में बैठने वाले युवाओं के लिए खुशखबरी, MP में एज लिमिट में मिली 3 साल की छूट

19-Sep-2022

भोपाल। मध्य प्रदेश के CM शिवराज सिंह चौहान ने बताया कि कोविड के कारण MPPSC परीक्षा नहीं हुईं थीं, जिससे कई बच्चे आयु सीमा से बाहर हो गए थे। उन्होंने आग्रह किया कि यह सीमा एक बार बढ़ाई जाए जिससे न्याय हो।  सीएम ने कहा कि COVID-19 के चलते PSC की परीक्षाएं न होने पर आवेदन के जो पात्र युवा आयु सीमा पार कर गए हैं, उनके साथ न्याय हो सके, इसलिए

सीएम ने कहा, कई छात्रों ने आग्रह किया था कि कोरोना के कारण PSC की परीक्षाएं नहीं हो पाईं। इससे वे परीक्षा देने से रह गए। उन छात्रों का तर्क मुझे ठीक लगा, इसलिए यह फैसला किया है कि आगामी एक परीक्षा में अधिकतम आयु सीमा में 3 साल की छूट दी जाएगी। ऐसा करने से कोरोना के कारण जो छात्र परीक्षा से वंचित रह गए, वे सभी इसमें शामिल हो पाएंगे। उनकी मांगों के आधार पर PSC की परीक्षा में केवल 1 वर्ष के लिए आवेदक की अधिकतम आयु सीमा 3 साल बढ़ाने का फैसला हम कर रहे हैं।

  1. पैसे लेन-देन के विवाद में हत्या करने की नीयत से रेलवे ट्रैक पर युवक को धकेला, बच गई जान पर कट गया पैर, अब आरोपी पहुँचा हवालात 

  2. सरकारी नौकरियों में  Sports Persons को मिलेगा 2% आरक्षण

  3. कल रविवार को दो पाली में आयोजित होगी टी. ई. टी.परीक्षा , जिले के इन 11 परीक्षा केंद्रों मे होगी परीक्षा

जम्मू-कश्मीर में पहली बार वोट डालेंगे पाकिस्तान से आए परिवार

19-Sep-2022

जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने पश्चिमी पाकिस्तान से आए शरणार्थियों को जमीन का मालिकाना हक देने की प्रक्रिया शुरू की। दरअसल, 1947 के बाद 5,400 परिवार पाकिस्तान से जम्मू के सीमावर्ती क्षेत्रों में आए थे। अधिकांश हिंदू और सिख थे। ये परिवार कठुआ, सांबा और जम्मू जिलों में बस गए। पिछले कुछ दशकों में शरणार्थी परिवारों की संख्या बढ़कर 22,000 हो गई है। इसलिए यह एक मजबूत वोट बैंक बनकर उभरा है।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार राजस्व विभाग ने जमीन का मालिकाना हक देने के लिए उनके परिवारों की संख्या, उनके कब्जे के तहत कुल जमीन, भूमि की स्थिति सहित अन्य जानकारियां एकत्रित की जा रही है, जिसके आधार पर शरणार्थियों को जमीन का मालिकाना हक दिया जाएगा। इसके साथ ही मीडिया रिपोर्ट में दावा किया गया है कि आने वाले महीनों में एक बड़ा कार्यक्रम करके पाकिस्तानी शरणार्थियों को मालिकाना हक देने की घोषणा की जाएगी।

  1. CBSE Exam Sample Paper 2023: सीबीएसई ने जारी किया एग्जाम सैंपल पेपर, cbseacademic.nic.in से करें डाउनलोड 

  2. Gold Price Today: आज सोना हुआ सबसे सस्ता , 6 महीने के न‍िचले स्‍तर पर आया भाव जानिए लेटेस्‍ट रेट

  3. नासा का मिशन DART:500 किलो का स्पेसक्राफ्ट उल्का पिंड से टकराकर उसकी दिशा बदलेगा जानिए कैसे ?

Indian Railways: अब अपना कंफर्म टिकट दूसरे यात्री को ट्रांसफर कर सकेंगे पैसेंजर, जानिए Step-by-Step प्रोसेस

19-Sep-2022

क्या आपने कभी ऐसी स्थिति का सामना किया है जब आपके पास कन्फर्म ट्रेन टिकट है लेकिन किसी कारणवश आप यात्रा नहीं कर पा रहे हैं? उस स्थिति में कई बार आप टिकट समय से कैंसिल नहीं कराते और आपके पैसे भी कट जाते हैं। लेकिन आपको बता दें कि अब आप उन पैसों को बचा सकते हैं। 

दरअसल, कई बार यात्री टिकट तो बुक करवा लेते हैं, लेकिन किसी वजह से वह यात्रा नहीं कर पाते। वे अपनी जगह किसी और शख्स को अपने टिकट पर यात्रा करवाना चाहते हैं। बहुत कम लोगों को पता है कि रेलवे ने इसको  लेकर भी नियम बनाया हुआ है। यदि आप भी परिवारवाले के टिकट पर यात्रा करना चाहते हैं तो फिर आसान तरीके से ऐसा कर सकते हैं।

इन स्टेप्स को फॉलो करके ट्रांसफर करें टिकट

स्टेप-1: सबसे पहले टिकट का प्रिंट आउट ले लें।

स्टेप-2: अब आपको रिजर्वेशन काउंटर पर जाना होगा। यह नजदीकी रेलवे स्टेशन पर स्थित होते हैं।

स्टेप-3: यहां आपको जिसके नाम टिकट ट्रांसफर करना है, उसका आधार कार्ड या वोटर आईडी कार्ड भी ले जाना होगा।

स्टेप-4: अब आप काउंटर से टिकट को ट्रांसफर करने के लिए ऐप्लीकेशन दे सकते हैं।

अब घर बैठे पेंशनर्स जमा करा सकते हैं 'डिजिटल लाइफ सर्टिफिकेट', EPFO ने लॉन्च किया ऐप, जानें प्रोसेस

19-Sep-2022

अगर आप सरकारी पेंशनर हैं तो ये खबर आप ही के लिए है। इंप्लॉई प्रोविडेंट फंड(ईपीएफओ) ने बुजुर्ग पेंशनरों की सुविधा के लिए एक मोबाइल ऐप लॉन्च किया है। इस ऐप के जरिए पेंशनर अब कभी भी अपने मोबाइल की मदद से अपना डिजिटल लाइफ सर्टिफिकेट जमा करा सकते हैं। यह सर्टिफिकेट एक साल तक वेलिड रहेगा। इस प्रक्रिया को और आसान बनाने के लिए ईपीएफओ ने फेस ऑथेंटिकेशन सर्विस की शुरूआत की है। ईपीएफओ की ओर से ट्वीट कर इसकी जानकारी दी गई है। पेंशनर इस आधार फेसआरडी ऐप (Aadhar FaceRD App) को गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड कर सकते हैं।

ईपीएफओ द्वारा ट्वीट कर दी गई जानकारी के मुताबिक पेंशनर्स कुछ स्टेप को फॉलो करके इस सर्विस का फायदा उठा सकते हैं।
1. गूगल प्लेस्टोर से ‘आधार फेसआरडी ऐप’ को डाउनलोड करें।
2. जीवन प्रमाण पोर्टल से फेस (एंड्रॉइड) ऐप को डाउनलोड करें।
3. ऑपरेटर ऑथेंटिकेशन पर टैप करें।
4. पेंशनर्स ऑथेंटिकेशन पर टैप करें।
5. दिए गए ऑप्शन का चयन कर अपनी डिटेल्स भरें जैसे आधार नंबर, मोबाइल नंबर, पीपीओ नंबर आदि।
6. इसके बाद फेस ऑथेंटिकेशन के लिए आने वाले ऑप्शन पर टैप करें और अपने फेस ऑथेंटिकेशन पूरा करें।
7. प्रक्रिया के पूरे होने के बाद आप को एक सर्टिफिकेट जारी किया जाएगा। अगर किसी कारण से एप्लिकेशन जमा नहीं होती है, तो आप के रजिस्टर मोबाइल नंबर पर इसका मैसेज आ जाएगा।

अब आप अपनी मर्जी से बदल सकते हैं LIC सहित पॉलिसियों लागू होंगे कुछ नियम जानिए ?

17-Sep-2022

 

देश में बहुत जल्द ही बीमा पॉलिसी  को लेकर बीमाधारक को एजेंट पोर्टिबिलिटी का विकल्प मिलने जा रहा है.अगर कोई बीमाधारक अपने एजेंट से खुश नहीं है तो वह अपना एजेंट बदल सकता है. इरडा के इस प्रस्ताव में सामान्य बीमा में एजेंट बदलने का विकल्प नहीं होगा।लेकिन 20 साल वाले जीवन बीमा  में यह विकल्प होगा।आपके प्रीमियम पर एजेंट को मिलने वाला कमीशन पोर्टिबिलिटी के बाद नए एजेंट को मिलने लगेगा।देश में इस तरह का विकल्प नहीं था. इससे एलआईसी सहित कई बीमा पॉलिसीज लेने वाले करोड़ों ग्राहकों के पास एक और विकल्प मिल जाएगा।किसी और कारणों से खुश नहीं रहते हैं. ऐसे में अब आप अपना एजेंट बदल सकते हैं. देश के अधिकांश लोग बीमा पॉलिसी के लिए बीमा एजेंट पर ही निर्भर करते हैं.ऐसे में इरडा ने बीमाधारक को विकल्प दिया है कि आप अपना एजेंट बदल सकते हैं.पिछले दिनों ही इरडा ने बीमा कंपनियों को अपनी मर्जी से अस्पतालों को पैनल में शामिल करने की छूट दी थी. इरडा ने मरीजों के कैशलेश सुविधा के लिए मानदंड़ों में ढील देने के उद्देश्य से यह निर्णय लिया था. इस फैसले से अब ज्यादा से ज्यादा अस्पतालों में मरीजों को कैशलेस इलाज की सुविधा मिल रही है. इरडा ने इसके तहत बीमा कंपनियों को बोर्ड स्तर पर एक नीति बनाने को कहा था, जिसके बाद बीमा कंपनी किसी भी अस्पताल को पैनल में ला सकती है.

कूनो नेशनल पार्क पहुंचे PM, थोड़ी देर में चीतों का करेंगे वेलकम

17-Sep-2022

करीब 70 साल बाद भारत में चीते लौट आए हैं। इन चीतों को नामीबिया (Namibia) से खास विमान के जरिए लाया गया है। पीएम मोदी (PM Modi) आज अपने जन्मदिन पर मध्य प्रदेश के कूनो नेशनल पार्क में चीतों को छोड़ने पहुंचे। लुप्त श्रेणी में रखे गए ये चीते अब श्योपुर कूनो नेशनल पार्क (Kuno National Park) में नजर आएंगे। कूनो नेशनल पार्क में इन चीतों के लिए खास बाड़े तैयार किए गए हैं। 

कूनो राष्ट्रीय उद्यान मध्य प्रदेश (MP) में स्थित एक नेशनल पार्क है। साल 1981 में इसका निर्माण किया गया था। ये राष्ट्रीय उद्यान करीब 750 वर्ग किलोमीटर में फैला हुआ है। 
पेड़ पौधे और घने जंगल के साथ नेचुरल घास का यह मैदान चीतों के लिए काफी मुफीद मानी जा रही है। चीतों को पूरी तरह से सुरक्षित रखने के लिए खास इंतजाम किए गए हैं। इसके लिए चीता मित्र नाम का संगठन बनाया गया है। सरकार ने आसपास के गांवों के 250 लोगों को चिता मित्र बनाया है। जिन लोगों की चीता मित्र बनाया गया है, उसमे एक नाम है रमेश सिंह सिकरवार। रमेश, जो पहले डकैत थे, लेकिन अब चीतों की रक्षा करेंगे।

1947 में छत्तीसगढ़ के कोरिया जिले में आखिरी चीते को मार दिया गया था। महाराजा रामानुज प्रताप ने गांव वालों की गुहार पर तीन चीतों को मार दिया था। इसके बाद भारत में चीतों को नहीं देखा गया। जानकारी के अनुसार महाराज रामानुज प्रताप सिंहदेव शिकार के बेहद शौकीन थे।

Video: यात्रियों ने चलती ट्रेन में मोबाइल चोर पकड़ा, 15 किलोमीटर तक खिड़की से लटकाया

16-Sep-2022

चोर ने जैसे ही मोबाइल चुराने के लिए ट्रेन में हाथ डाला तो यात्री ने उसका हाथ पकड़ लिया।

इस दौरान ट्रेन के स्टेशन से निकलने के कारण यात्री ने 15 किलोमीटर तक चोर को खिड़की से लटकाए रखा।
बाद में खगडि़या स्टेशन पर उसे राजकीय रेलवे पुलिस (GRP) के हवाले कर दिया गया।

GRP अधिकारियों ने बताया कि यात्रियों ने चोर को सुपुर्द करने के बाद कहा कि उन्होंने सबक सिखाने के लिए उसे ट्रेन से लटकाए रखा था। वह चाहते तो चेन पुलिंग करके ट्रेन रोक सकते थे, लेकिन ऐसा करने से चोर को फर्क नहीं पड़ता।
अधिकारियों ने बताया कि यात्रियों ने घटना का वीडियो भी बनाया था और सोशल मीडिया पर अपलोड भी कर दिया। यह वीडियो अब वायरल हो रहा है। इससे चोरों में भी दहशत का माहौल है।

 

 

  1. हिंदी दिवस पर छत्‍तीसगढ़ हाईकोर्ट ने शुरू की नई परंपरा, अब हिंदी में जारी होगी आदेश की कॉपी 

  2. छत्तीसगढ़: जानें किन 3 गांवों में 17 साल बाद खुले स्‍कूल, पढ़ें इसके प‍ीछे की कहानी 

  3. ED Raids: दिल्ली शराब घोटाले में ED की बड़ी कार्रवाई, देशभर में 40 ठिकानों पर छापेमारी

ED Raids: दिल्ली शराब घोटाले में ED की बड़ी कार्रवाई, देशभर में 40 ठिकानों पर छापेमारी

16-Sep-2022

ED Raids: दिल्ली के शराब घोटाले के मामले में सीबीआई की कार्रवाई के बाद अब ईडी ने अपनी कार्रवाई तेज कर दी है। एजेंसी ने हैदराबाद, बेंगलुरु और चेन्नई समेत देश भर में 40 ठिकानों पर इस मामले को लेकर छापेमारी की है। एजेंसी ने हैदराबाद में ही 25 जगहों पर छापेमारी की है। इसी केस में ईडी आज दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन से भी पूछताछ करने वाली है। गुरुवार को ही सीबीआई की स्पेशल जज गीतांजलि गोयल ने सत्येंद्र जैन से पूछताछ की इजाजत दी थी। कोर्ट ने आदेश दिया है कि जैन से तिहाड़ जेल में ही पूछताछ की जाए, जहां वह बंद हैं। ये पूछताछ 16, 22 और 23 सितंबर को की जानी है। जैन इस समय मनी लॉन्ड्रिंग मामले में तिहाड़ जेल में हैं। उससे पहले एजेंसी ने यह बड़ी कार्रवाई की है। 

CM भूपेश बघेल ने जांच एजेंसियों के दुरुपयोग का लगाया आरोप, गोवा मुद्दे पर दिया बड़ा बयान 

हिंदी दिवस पर छत्‍तीसगढ़ हाईकोर्ट ने शुरू की नई परंपरा, अब हिंदी में जारी होगी आदेश की कॉपी 

छत्तीसगढ़: जानें किन 3 गांवों में 17 साल बाद खुले स्‍कूल, पढ़ें इसके प‍ीछे की कहानी

 

अब भारत इलेक्ट्रिक हाइवे का शुरू, दौड़ती गाड़ियां हो जाएंगी चार्ज, जानिए पूरी डिटेल

15-Sep-2022

Electric Highway India : देश में अब इलेक्ट्रिक हाइवे बनाने का काम तेजी से चल रहा है। इसमें इलेक्ट्रिक कारें, बसें व अन्य वाहन बीच में रिचार्ज किए जा सकेंगे। इस मामले में काम कितना तेज चल रहा है, उसकी पूरी डिटेल।  भारत ऐसे हाईवेज बना रहा है, जिस पर चलते हुए ही गाड़ियां चार्ज हो जाएंगी। इसकी तस्दीक ट्रांसपोर्ट मिनिस्टर नितिन गडकरी ने भी की है। उन्होंने कहा कि सरकार सोलर एनर्जी से चलने वाले इलेक्ट्रिक हाईवेज बनाने पर काम कर रही है। इन हाईवेज पर चलते हुए भारी-भरकम ट्रक और बसें चार्ज हो सकेंगे।

क्या होते हैं इलेक्ट्रिक हाईवे?
आम हाईवे या एक्सप्रेसवे पक्की सड़कों से बने होते हैं, जिन पर हर तरह की गाड़ियां दौड़ सकती हैं।

वहीं इलेक्ट्रिक हाईवे ऐसे हाईवे होते हैं, जिनमें कुछ इक्विपमेंट्स के जरिए ऐसा सिस्टम होता है, जिससे उनसे गुजरने वाली गाड़ियां बिना रुके ही अपनी बैटरी चार्ज कर सकती हैं। इसके लिए हाईवे पर ओवरहेड वायर या रोड के नीचे से ही इलेक्ट्रिक फ्लो करने का सिस्टम बना होता है।

इलेक्ट्रिक हाईवे से केवल इलेक्ट्रिक गाड़ियां ही चार्ज हो सकती हैं। इससे पेट्रोल-डीजल वाली गाड़ियां नहीं चार्ज होती। इनसे हाइब्रिड गाड़ियां भी चार्ज हो सकती हैं। हाइब्रिड गाड़ियों में इलेक्ट्रिक के साथ-साथ पेट्रोल-डीजल से चलने की भी सुविधा होती है।

JEE टॉपर निकला फर्जी, ऑल इंडिया टॉप में था नाम 3 दिन तक मीडिया में इंटरव्यू भी चले जानिए ?

14-Sep-2022

 

हाल ही में जेईई का परिणाम सामने आया है। परिणाम के बाद राजस्थान से बेहद चौकाने वाली खबर सामने आई है। जयपुर शहर के एक किशोर ने जेईई एडवांस में टॉप करने की कहकर 3 दिन तक मीडिया और स्कूल मैनेजमेंट की अटेंशन पाई, लेकिन जब उसकी मार्कशीट का मिलान किया गया तो पता चला इस नाम का तो कोई छात्र पूरी लिस्ट में ही नहीं है। बाद में जब स्कूल मैनेजमेंट और मीडिया ने उससे सख्ती से पूछताछ की तब जाकर राज खुलकर सामने आया। पता चला उसने तो परीक्षा दी ही नहीं वह फर्जी मार्कशीट बनवा कर पहले स्कूल आया और बाद में स्कूल वालों ने बड़े मीडिया हाउसेज में इस खबर का प्रकाशन करवाया। अब मीडिया हाउस के साथ-साथ स्कूल प्रबंधन भी खुद को ठगा सा महसूस कर रहे है। किशोर की उम्र 18 वर्ष से कम है इसलिए उसका नाम और पहचान जारी नहीं की गई है।दरअसल करीब 17 साल का छात्र खुद को ऑल इंडिया में 23 वी रैंक बता रहा था । उसने परिवार को भी यह सूचना भेजी थी । उसने मीडिया और स्कूल मैनेजमेंट को बताया कि उसने सेल्फ स्टडी की और एग्जाम टॉप कर लिया। शहर के टॉप 3 में शामिल विद्याश्रम स्कूल का यह छात्र जब स्कूल पहुंचा और प्रिंसिपल प्रतिमा शर्मा को इसकी जानकारी दी तो प्रिंसिपल और मैनेजमेंट की बांछें खिल गई । उन्होंने तुरंत मीडिया को इसकी सूचना दी । मीडिया की टीम वहां पहुंची और छात्र का इंटरव्यू किया।  उसने बताया कि वह 23 वी रैंक पर है।  उसने अपनी मार्कशीट और अन्य दस्तावेज भी दिखाए।  स्कूल की तरफ से जारी किए गए इन तमाम दस्तावेज को मीडिया ने सही माना और उसका प्रकाशन भी उचित तरीके से किया।उसने खुद को टॉप 25 में बताया । प्रिंसिपल ने बताया कि जिस छात्र की जेईई मेंस में तीन लाख 45 हजार के करीब रैंक थी, वह एडवांस जेइइ में एलिजिबल ही नहीं था । उसने मार्कशीट में बदलाव किए और अन्य दस्तावेज भी फर्जी बनाएं। प्रिंसिपल का कहना है कि उसके परिजन भी इस बात से अनजान है। उसने पढ़ाई के नाम पर घर से पैसा भी लिया है ।बच्चे का लैपटॉप और अन्य दस्तावेज जप्त किए गएइस पूरे घटनाक्रम को लेकर मनोचिकित्सक अनिल तांबी का कहना है कि परिवार को अपने बच्चों पर दबाव नहीं बनाना चाहिए। असफलता हैंडल करना बच्चों को सिखाना चाहिए। असफलता पर डांट फटकार की जगह उचित तरीके से उन्हें समझाना चाहिए। उधर स्कूल प्रबंधन ने बच्चे का लैपटॉप और अन्य दस्तावेज जप्त कर लिए हैं।  बच्चे के परिजनों द्वारा माफी मांगने पर फिलहाल कानूनी कार्यवाही नहीं की जा रही है ।


Previous123456789...4243Next