Thursday,28 October 2021   11:23 pm
Previous123456789...7677Next

आदेश Firecrackers Ban: इस राज्य सरकार ने लगाय पटाखों पर रोक, दिवाली और गुरुपर्व पर पटाखों पर बैन

28-Oct-2021

पंजाब सरकार ने दिवाली और गुरुपर्व के मौके पर पटाखों पर रोक लगाई। हालांकि इन त्यौहारों पर सिर्फ 2 घंटे रात 8 बजे से रात 10 बजे तक के लिए ग्रीन पटाखों को ही चला सकेंगे। मंडी गोबिंदगढ़ और जालंधर में पटाखों को चलाने की अनुमति नहीं है। इससे पहले चंडीगढ़, दिल्ली और हरियाणा में पटाखों पर प्रतिबंध लग चुका है। विक्रेताओं के चेहरे पर इस फैसले से मायूसी दिखी।

सरकार की ओर से पटाखों को लेकर जारी गाइड लाइन में निर्देश दिए गए हैं कि दिवाली और गुरुपर्व पर रात 8 बजे से रात 10 बजे तक ग्रीन पटाखों को चलाने की अनुमति दी गई है। सरकार की ओर से कहा गया है कि सूबे के मंडी गोबिंदगढ़ और जालंधर में किसी भी प्रकार के पटाखों को चलाने की अनुमति नहीं है। ज्ञात हो कि इससे पहले चंडीगढ़, दिल्ली और हरियाणा में पटाखों पर प्रतिबंध लगाया जा चुका है।
चंडीगढ़ में इस बार भी दिवाली पर लोग पटाखे नहीं चला सकेंगे। चंडीगढ़ प्रशास ने पटाखे चलाने पर रोक लगा दी। उधर, चंडीगढ़ क्रैकर्स डीलर्स एसोसिएशन ने पटाखों की बिक्री और इस्तेमाल की इजाजत देने के लिए डीसी मनदीप सिंह बराड़ को पत्र लिखा है। बता दें कि पिछली बार दीवाली से कुछ दिन पहले पटाखों की बिक्री और चलाने पर प्रतिबंध लगा दिया गया था। हालांकि मोहाली और पंचकूला में पिछली बार पटाखे बिके और चलाए गए थे।  

ऑस्कर 2022 के लिए 14 भारतीय फिल्में शॉर्टलिस्ट, 'शेरनी' और 'सरदार उधम' भी शामिल

22-Oct-2021

अगले साल होने वाले ऑस्कर अवॉर्ड से लिए फिल्म 'शेरनी' और 'सरदार उधम' को चुना गया है। इन दोनों फिल्मों को ऑस्कर की बेस्ट इंटरनेशनल फीचर फिल्म कैटेगरी के लिए चुना गया। Film Federation of India की 15 सदस्यों की जूरी ने अकादमी अवॉर्ड्स (Academy Awards) में भारत की एंट्री के लिए 14 फिल्मों को शॉर्ट लिस्ट किया। इस जूरी की अध्यक्षता शाजी एन करन ने की। जिन 14 खास फिल्मों को शॉर्ट लिस्ट किया गया, उनमें मलयालम फिल्म नायटू, तमिल फिल्म मंडेला, हिंदी फिल्मों में विद्या बालन की ‘शेरनी’ और हालिया रिलीज विक्की कौशल की ‘सरदार उधम सिंह’ भी शामिल थी। इसके बाद कोलकाता में ऑस्कर के जूरी मेंबर्स के लिए इन फिल्मों की स्क्रीनिंग रखी गई। इनमें से विद्या बालन की फिल्म 'शेरनी' और विक्की कौशल की फिल्म 'सरदार उधम' को ऑस्कर अवार्ड के लिए शॉर्टलिस्ट किया गया। बता दें कि ये दोनों ही फिल्में OTT प्लेटफॉर्म अमेजम प्राइम पर रिलीज की गई हैं। अब जूरी इन फिल्मों को देखेगी और सर्वश्रेष्ठ फिल्म के लिए भारत की आधिकारिक एंट्री का चयन करेगी।

इसके लिए आने वाले हफ्तों में एक 15 सदस्यीय ज्यूरी इन 14 फिल्मों को देखने के बाद इनमें से एक के नाम पर मुहर लगाएगी। वहीं, इस बार ऑस्कर्स में 'बेस्ट इंटरनेशनल फीचर फिल्म' कैटैगरी के लिए भी फिल्म भेजी जाएगी। मशहूर फिल्ममेकर शाजी इन करुण इस ज्यूरी के चेयरमैन हैं।
94वें ऑस्कर अवॉर्ड का यह समारोह अगले साल मार्च में आयोजित किया जाएगा। बीते साल कोरोना की वजह से यह फंक्शन वर्चुअली आयोजित किया गया था। हालांकि, इस बार के ऑस्कर अवॉर्ड्स को पहले की तरह आयोजित किया जा सकता है। भारत की ओर से शॉर्टलिस्ट की गई इन फिल्मों की स्क्रीनिंग कोलकाता के बिकोली सिनेमा में होगी। 

तंबाकु की लत, आपकी जिंदगी के लिए कितनी गलत? लत छुड़वाने के ये हैं घरेलू उपाय

20-Oct-2021

Tobacco Addiction: 'तंबाकू का सेवन बुरा है। इससे कई तरह की बीमारियां होती हैं, जिनमें मुंह का कैंसर भी शामिल है।' यह सब जानते हैं, लेकिन नशा नहीं छोड़ पाते हैं। डॉ. लक्ष्मीदत्ता शुक्ला के अनुसार, तंबाकू एक तरह का जहर है जो सेवन करने वाले को धीरे-धीरे मारता है। लोग इसे शौक के रूप में शुरू करते हैं, लेकिन पता नहीं चलता कि यह कब लत बन जाता है, फिर इसके बिना रहा नहीं जाता है। हालत ये हो जाती है कि खाना खाने के बाद लोग तंबाकू खाते हैं और पेट साफ करने से पहले भी खाते हैं। तंबाकू छोड़ने के कुछ आसान उपाय भी हैं। खुद पर थोड़ा नियंत्रण रखा जाए और ये देसी उपाय अपनाए जाएं तो लत छोड़ी जा सकती है।

किसी भी लत को छोड़ने के लिए दो बातें सबसे जरूरी होती हैं। पहली - इच्छा शक्ति और दूसरी - संगत। सबसे पहले खुद तय करें कि तंबाकू से पीछा छुड़ाना है। किसी के कहने या दबाव डालने पर ऐसा न करें। यदि मन पक्का कर लेंगे तो निश्चित रूप से सफलता मिलेगी। दूसरी बात कि ऐसे दोस्तों के दूर रहें जो खुद तंबाकू खाते हैं और दूसरों को भी जबरदस्ती खिलाते हैं। तंबाकू एक दम से न छोड़ें। धीरे-धीरे मात्रा कम करें। रक्त में निकोटिन की मात्रा एकदम से कम होने पर समस्या हो सकती है।
1 बारीक सौंफ के साथ मिश्री के दाने मिलाकर धीरे-धीरे चूसें, नरम हो जाने पर चबाकर खा जाएं। लगातार ऐसा करने से कुछ समय बाद आप तंबाकू की लत छोड़ पाएंगे।
2 अजवाइन साफ कर नींबू के रस व काले नमक में दो दिन तक भींगने दें। इसे छांव में सुखाकर रख लें। इसे मुंह में रखकर चूसते रहें। 
3 छोटी हरड़ को नींबू के रस व सेंधा नमक (पहाड़ी नमक) के घोल में दो दिन तक फूलने दें। इसे निकाल छांव में सुखाकर शीशी में भर लें और इसे चूसते रहें। नरम हो जाने पर चबाकर खा लें।  
4 तंबाकू सूंघने की आदत छोड़ने के लिए गर्मी के मौसम में केवड़ा, गुलाब, खस आदि के इत्र का फोहा कान में लगाएं। सर्दी के मौसम में तंबाकू खाने की इच्छा होने पर हिना की खुशबू का फोहा सूंघें।  
5 खाने की आदत को धीरे-धीरे छोड़ें। एकदम बंद न करें, क्योंकि रक्त में निकोटिन के स्तर को क्रमशः ही कम किया जाना चाहिए।

आतंकियों ने फिर गैर कश्मीरियों को बनाया निशाना, जम्मू कश्मीर से आतंकियों का सफाया करने के लिए एक्शन में आई मोदी सरकार, गृहमंत्री ने बुलाई बड़ी बैठक

18-Oct-2021

जम्मू-कश्मीर में एक बार फिर आतंकियों ने कायराना हरकत को अंजाम दिया। कुलगाम में हुई आतंकियों की फायरिंग में दो गैर कश्मीरी मजदूरों की मौत हो गई है। मरने वालों की पहचान बिहार के रहने वाले राजा ऋषिदेव और जोगिंदर ऋषिदेव के तौर पर हुई है वहीं चुनचुन ऋषि देव नामक मजदूर घायल है। 24 घंटे में ये तीसरा ऐसा आतंकी हमला है जिसमें गैर कश्मीरियों को निशाना बनाया है।  जम्मू कश्मीर में  पिछले कुछ दिनों से हो रही आम नागरिकों की हत्या के बाद मोदी सरकार एक्शन में दिखाई दे रही हैं। दरअसल, राष्ट्रीय सुरक्षा के मुद्दे पर गृह मंत्री अमित शाह सभी राज्यों के डीजीपी और आईजी के साथ बैठक बुलाई है।  जम्मू कश्मीर में टारगेटेड किलिंग मामले में गृह मंत्रालय की पैनी नजर बनाए हुए हैं। गृह मंत्रालय सूत्रों के मुताबिक गृह मंत्रालय ने सीआरपीएफ के डीजी  कुलदीप सिंह को जम्मू कश्मीर भेजा है। कुलदीप सिंह NIA के भी डीजी हैं।  सूत्रों के मुताबिक जम्मू कश्मीर में IB, NIA, सेना, CRPF के सीनियर अधिकारी इस समय कैम्प कर रहे हैं, जो हर एक इंटेलिजेंस इनपुट्स को मॉनिटर कर रहे हैं। पिछले 9 दिनों में सुरक्षा बलों ने अलग अलग मुठभेड़ में 13 आतंकी को ढेर किया है। इस साल जनवरी से लेकर अब तक के आँकड़ों के मुताबिक जहां 132 से ज्यादा आतंकियों को सुरक्षा बलों ने ऑपरेशन में मारा है। वहीं 254 आतंकियो को गिरफ्तार भी किया गया है। आंकड़ों के मुताबिक सुरक्षा बलों ने इस साल 30 सितंबर तक 105 AK-47 राइफेल, 126 पिस्टल और 276 हैंड ग्रेनेड बरामद कर चुके हैं। 126 पिस्टल की बरामदगी से साफ पता चलता है कि आतंकी हमले के लिए छोटे हथियारों का ज्यादा इस्तेमाल कर रहे हैं।

छत्तीसगढ़ में चाय और कॉफी की खेती को बढ़ावा देने के लिए टी-काफी बोर्ड की होगी गठन

17-Oct-2021

रायपुर।  प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने राज्य में चाय और काफी की खेती को बढ़ावा देने के लिए छत्तीसगढ़ टी कॉफी बोर्ड का गठन किये जाने का निर्णय लिया है। सीएम भूपेश बघेल ने आज यह जानकारी देते हुए कहा कि कृषि मंत्री की अध्यक्षता में गठित किए जाने वाले इस बोर्ड के उद्योग मंत्री उपाध्यक्ष होंगे।

बोर्ड में अतिरिक्त मुख्य सचिव मुख्यमंत्री सचिवालय, कृषि उत्पादन आयुक्त, प्रबंध संचालक सीएसआईडीसी, कृषि/उद्यानिकी एवं वन विभाग के एक-एक अधिकारी सहित दो विशेष सदस्य भी शामिल किये जायेंगे। चाय और काफी की खेती को बढ़ावा देने के लिए कृषि मंत्री की अध्यक्षता में छत्तीसगढ़ टी-काफी बोर्ड का गठन किये जाने का निर्णय लिया है। उद्योग मंत्री छत्तीसगढ़ बोर्ड के उपाध्यक्ष होंगे।

बोर्ड में अतिरिक्त मुख्य सचिव, मुख्यमंत्री सचिवालय, कृषि उत्पादन आयुक्त, प्रबंध संचालक सीएसआईडीसी, कृषि/उद्यानिकी एवं वन विभाग के एक-एक अधिकारी सहित दो विशेष सदस्य भी शामिल किये जायेंगे।

प्रदेश के उत्तरी भाग, विशेषकर जशपुर जिले में चाय तथा दक्षिणी भाग, विशेषकर बस्तर जिले में कॉफी की खेती एवं उनके प्रसंस्करण की व्यापक संभावनाये है। इसमें उद्यानिकी एवं उद्योग विभाग की महत्वपूर्ण भूमिका होगी। इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए राष्ट्रीय स्तर के प्रतिष्ठित संस्थानों से तकनीकी मार्ग दर्शन लेने के साथ ही निजी क्षेत्र के विशेषज्ञों, निवेशकों एवं कन्सल्टेंट्स की सहायता सरकार लेगी।

जशपुर जिले के पठारी क्षेत्र की जलवायु  चाय की खेती के लिए अनुकूल है। मध्य भारत में जशपुर जिला ही ऐसा है जहां पर चाय की सफल खेती की जा रही है। शासन के जिला खनिज न्यास मद योजना, वन विभाग के सयुक्त वन प्रबंधन सुदृढ़ीकरण, डेयरी विकास योजना एवं मनरेगा योजना से चाय खेती को प्रोत्साहित किया जा रहा है।

शासन के सहयोग से लगभग 50 कृषकों के 80 एकड़ कृषि भूमि पर चाय की खेती का कार्य प्रगति पर है। चाय बगान लगने के 5 साल के बाद ही चाय का उत्पादन पूरी क्षमता से होता है। पूरी क्षमता से उत्पादन होने की स्थिति में प्रति एकड़ 2 लाख रुपये प्रतिवर्ष का लाभ होने की संभावना है।

 

मोदी मंत्रिमंडल ने दी 100 सैनिक स्कूलों को मंजूरी, अगले सत्र से शुरू होगी प्रवेश प्रक्रिया

16-Oct-2021

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कैबिनेट ने 100 नए सैनिक स्कूलों को मंजूरी दे दी है। इन स्कूलों में शैक्षणिक सत्र 2022-23 से कक्षा 6 में 5,000 नए छात्रों को प्रवेश मिलेगा।

सरकार ने कहा है कि ये विद्यालय विशिष्ट स्तंभ के रूप में कार्य करेंगे जो रक्षा मंत्रालय के मौजूदा सैनिक स्कूलों से विशिष्ट और भिन्न होंगे।

इस वक्त देश में कुल 33 सैनिक स्कूल हैं, जहां करीब 3,300 छात्र-छात्राएं शिक्षा ले रहे हैं।

बयान में कहा गया, ‘सैनिक स्कूलों के मौजूदा पैटर्न में प्रतिमान विस्थापन करते हुए केन्द्रीय मंत्रिमंडल ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में 12 अक्तूबर 2021 को आयोजित हुई बैठक में सैनिक स्कूल सोसाइटी, रक्षा मंत्रालय के साथ सम्बद्ध होने वाले विद्यालयों को लांच करने संबंधी प्रस्ताव को अनुमोदित किया है। ये विद्यालय विशिष्ट स्तंभ के रूप में कार्य करेंगे जो रक्षा मंत्रालय के मौजूदा सैनिक स्कूलों से विशिष्ट और भिन्न होंगे। प्रथम चरण में 100 सम्बद्ध होने वाले भागीदारों को राज्यों/एनजीओ/निजी भागीदारों से लिया जाना प्रस्तावित है।’

बयान के मुताबिक, ‘देशभर में फैले 33 सैनिक स्कूलों के प्रशासनिक अनुभव का लाभ उठाने के लिए 100 नए संबद्ध सैनिक स्कूलों की स्थापना का निर्णय लिया गया है जिसमें सैनिक स्कूल सोसाइटी से संबद्ध होने के लिए आवेदन हेतु सरकारी/निजी स्कूलों/एनजीओ से प्रस्ताव आमंत्रित किए जाएंगे। इच्छुक पक्ष https://sainikschool.ncog.gov.in की URL पर अपने प्रस्ताव प्रस्तुत कर सकते हैं जहां योजना की महत्वपूर्ण विशेषताएं और अर्हक पात्रता, हितधारकों अर्थात रक्षा मंत्रालय और स्कूल प्रबंधन के उत्तरादायित्व सूचीबद्ध हैं।’

बयान में कहा गया है कि इस योजना से शिक्षा क्षेत्र में सार्वजनिक/निजी सहभागिता को बल मिलेगा जिससे प्रतिष्ठित निजी और सरकारी स्कूलों में उपलब्ध मौजूदा अवसंरचना का लाभ उठाने में मदद मिलेगी और सैनिक स्कूल परिवेश में शिक्षा प्राप्त करने के इच्छुक बच्चों की बढ़ती आकांक्षाओं को पूरा करने के लिए नई क्षमताओं का विकास होगा। बयान के मुताबिक, अकादमिक वर्ष 2022-23 की शुरुआत से तकरीबन 5,000 छात्रों के कक्षा-VI में ऐसे 100 संबद्ध स्कूलों में प्रवेश लेने की उम्मीद है। वर्तमान में मौजूदा 33 सैनिक स्कूलों में  कक्षा-VI में तकरीबन 3,000 छात्रों के प्रवेश की क्षमता है।

टाटा की झोली में एयर इंडिया, बिक गई Air India, क्या होगा एयर इंडिया के कर्मचारियों का? जानें सभी अहम बातें

08-Oct-2021

लंबे इंतजार के बाद एक बार फिर सरकारी एयरलाइन एयर इंडिया की कमान टाटा समूह के हाथों में सौप दी गई है। एयर इंडिया के लिए टाटा समूह ने करीब 18 हजार करोड़ रुपए की बोली लगाई थी। मीडिया को संबोधित करते हुए डिपार्टमेंट ऑफ इनवेस्टमेंट एंड पब्लिक एसेट मैनेजमेंट (DIPAM) के सचिव तुहिन कांत पांडे ने बताया कि टाटा संस की टैलेस प्राइवेट लिमिटेड ने 18,000 करोड़ रुपये की बोली लगाकर बाजी मारी है। तुहिन कांत पांडे ने कहा कि लेनदेन दिसंबर 2021 के अंत तक पूरी होने की उम्मीद है। सरकार की शर्तों के मुताबिक सफल बोली लगाने वाली कंपनी यानी टाटा को एयर इंडिया के अलावा सब्सिडरी एयर इंडिया एक्सप्रेस का भी शत प्रतिशत नियंत्रण मिलेगा। वहीं, एआईएसएटीएस में 50 प्रतिशत हिस्सेदारी पर कब्जा होगा। आपको यहां बता दें कि एआईएसएटीएस प्रमुख भारतीय हवाईअड्डों पर कार्गो और जमीनी स्तर की सेवाओं को उपलब्ध कराती है। विनिवेश नियमों के मुताबिक टाटा को एयर इंडिया के घरेलू हवाई अड्डों पर 4,400 घरेलू और 1,800 अंतरराष्ट्रीय उड़ान के लैंडिंग की मंजूरी मिलेगी। वहीं, पार्किंग आवंटनों का नियंत्रण दिया जाएगा। 

1. हैंडओवर प्रक्रिया दिसंबर 2021 तक पूरी हो जाएगी। वित्त मंत्रालय दिसंबर तक लेनदेन को बंद करने पर विचार कर रहा है, जिसका मतलब है कि दिसंबर तक टाटा संस को शेयर मिल जाएंगे।

2-भविष्य में विलय को लेकर टाटा संस पर कोई रोक नहीं होगी। 
3. मंत्रालय ने कहा कि, एयर इंडिया के मौजूदा कर्मचारियों को एक साल के लिए बरकरार रखा जाएगा। कोई बर्खास्तगी नहीं होगी। 12485 कर्मचारी हैं, इनमें से 8084 परमानेंट एंप्लॉयी हैं और 4001 कॉन्ट्रैक्ट वाले हैं। इनमें से 3400 परमानेंट एंप्लॉयी वित्त वर्ष 2023-24 में रिटायर भी हो जाएंगे। एयर इंडिया एक्सप्रेस में कुल 1434 कर्मचारी है। 191 परमानेंट एंप्लॉयी हैं। 1156 कॉन्ट्रैक्ट वाले एंप्लॉयी हैं। 
4-एक वर्ष के लिए एयर इंडिया को सभी कर्मचारियों को बनाए रखना होगा। दूसरे वर्ष में यदि नया बोलीदाता किसी को बर्खास्त करता है, तो उन्हें वीआरएस का भुगतान करना होगा। सभी भत्ते बरकरार रहेंगे। ग्रेच्युटी भी समय पर दी जाएगी। कर्मचारियों के लिए यह एक साल की सुरक्षा पूर्ण नहीं है। प्रदर्शन, आचरण आदि जैसे मुद्दों के आधार पर भी फैसले लिए जा सकते हैं।

5- एयर इंडिया ब्रांड के आठ लोगो हैं। नया मालिक इन लोगो को कम से कम पांच साल तक स्थानांतरित नहीं कर सकता है। पांच साल बाद, वे लोगो को स्थानांतरित कर सकते हैं लेकिन केवल एक भारतीय इकाई को। सरकार ने निर्दिष्ट किया है कि एयर इंडिया ब्रांड का लोगो कभी भी किसी विदेशी संस्था के पास नहीं जा सकता है।68 साल बाद एयर इंडिया की हुई घर वापसी, रतन टाटा बोले-वेलकम बैक Air India!

6- सरकार ने कहा कि टाटा की 100% हिस्सेदारी है इसलिए वे व्यवसाय से जुड़ा कोई भी निर्णय ले सकते हैं। डील में एयर इंडिया की जमीन और इमारतों सहित किसी भी नॉन एसेट को नहीं बेचा जाएगा। कुल कीमत 14,718 करोड़ रुपए के ये एसेट सरकारी कंपनी AIAHL के हवाले कर दी जाएंगी।कार्गो और ग्राउंड हैंडलिंग कंपनी AISATS की आधी हिस्सेदारी भी मिलेगी। 7- बोली जीतने वाले टाटा ग्रुप को 15,300 करोड़ रुपए का कर्ज भी लेना होगा। एअर इंडिया पर कुल 43 हजार करोड़ रुपए का कर्ज है। इसमें से 20 हजार करोड़ रुपए का कर्ज पिछले दो सालों में बढ़ा है।

Android 12 ऑपरेटिंग सिस्टम की लॉन्चिंग की घोषणा, जानें हुए कौन-कौन से बदलाव

05-Oct-2021

Android 12: Google ने आधिकारिक तौर पर Android 12 ऑपरेटिंग सिस्टम को रिलीज कर दिया है और इसके साथ ही कंपनी ने एंड्राइड ओपन सोर्स प्रोजेक्ट को भी पेश किया है।  बता दें कि कंपनी ने सबसे पहले मई में आयोजित हुए इवेंट Google I/O 2021 में Android 12 से पर्दा उठाया था और इसका बीटा वर्जन जारी किया था।  इसके बाद से ही यूजर्स इसके लॉन्च होने का इंतजार कर रहे थे और अब कंपनी ने आखिरकार Android 12 को आधिकारिक तौर पर लॉन्च कर दिया है।  कंपनी ने अपने ब्लॉग पोस्ट में जानकारी दी है कि 2,25,000 से अधिक यूजर्स ने इसका ​बीटा वर्जन इस्तेमाल किया था।

Google I/O 2021 में Android 12 से पर्दा उठाया गया था और इसके साथ ही कंपनी ने इसमें उपयोग होने वाले फीचर्स का भी खुलासा ​कर दिया था।  

Android 12 में इस बार कंपनी ने प्राइवेसी फीचर को ऐड किया है।  इसके साथ ही यूजर्स को नया डिजाइन और कई कस्टमाइज फीचर्स भी देखने को मिलेंगे।  

कंपनी ने जीमेल, कैलेंडर, गूगल मीट और डॉक्स को भी रिडिजाइन किया है।  

Android 12 में यूजर्स को विजेट में भी बदलाव नजर आएगा और इसमें एक नया प्राइवेसी डैशबोर्ड दिया गया है जो कि यह आपको यह बताएगा कि कौन सा डाटा कब एक्सेस किया गया था।  यूजर्स सीधे डैशबोर्ड से परमिशन को भी कैंसिल कर सकते हैं।  

क्विक सेटिंग्स में दो नए फीचर्स मिलेंगे, एक को टैप करके कैमरा डिसेबल कर सकते है जब​कि दूसरा माइक्रोफोन के लिए काम करता है।

PM MODI ने लॉन्च किया राष्ट्रीय जल जीवन कोष जल जीवन मिशन मोबाइल एप्लिकेशन

03-Oct-2021

नई दिल्ली (इंडिया) प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार को गांधी जयंती के अवसर पर जल जीवन मिशन मोबाइल एप्लिकेशन लॉन्च किया और ग्राम पंचायतों और पानी समितियों के साथ बातचीत की। पीएम मोदी राष्ट्रीय जल जीवन कोष का शुभारंभ किया, जो हर ग्रामीण घर, स्कूल, आंगनवाड़ी केंद्र आदि में नल के पानी का कनेक्शन उपलब्ध कराने के लिए योगदान की सुविधा प्रदान करेगा।

जल जीवन मिशन को सशक्त और पारदर्शी बनाने के लिए कदम उठाए गए- पीएम मोदी

पीएम मोदी ने कहा, ‘’पूज्य बापू और लालबहादुर शास्त्री दोनों महान व्यक्तित्वों के हृदय में भारत के गांव ही बसे थे। मुझे खुशी है कि आज के दिन देशभर के लाखो गांवों के लोग ग्राम सभाओं के रूप में जल जीवन संवाद कर रहे हैं। ऐसे अभूतपूर्व और राष्ट्रव्यापी मिशन को इसी उत्साह, उर्जा से सफल बनाया जा सकता है।’’ उन्होंने कहा, ‘’जल जीवन मिशन का विजन सिर्फ लोगों तक पानी पहुंचाने का ही नहीं है। ये विकेंद्रीकरण का भी एक बहुत बड़ा मूवमेंट है। इसका मुख्य आधार जन आंदोलन और जनभागीदारी है। जल जीवन मिशन को अधिक सशक्त और पारदर्शी बनाने के लिए आज कई और कदम भी उठाए गए हैं।’’

देश के शहर और गांव खुले में शौच से मुक्त घोषित हुए- पीएम मोदी

पीएम मोदी ने कहा, ''इस अभियान से जुड़ी सभी जानकारियां एक ही जगह जल जीवन मिशन ऐप पर मिल जाएंगी। गांव के लोग भी अपने यहां के पानी की शुद्धता पर बारीक नजर रख पाएंगे। एक सुखद एहसास हम सभी को है कि बापू के सपनों को साकार करने के लिए देशवासियों ने निरंतर परिश्रम किया है, अपना सहयोग दिया है। आज देश के शहर और गांव खुद को खुले में शौच से मुक्त घोषित कर चुके हैं। करीब 2 लाख गांवों ने अपने यहां कचरा प्रबंधन का काम शुरू कर दिया है। 40 हजार से ज़्यादा ग्राम पंचायतों ने सिंगल यूज प्लास्टिक को बंद करने का फैसला लिया है। खादी की बिक्री भी कई गुना ज़्यादा हो रही है।’’

Gold Prices Today: सितंबर 2021 में 4% तक गिरे दाम, फेस्टिव सीजन में कैसा रहेगा रुख?

02-Oct-2021

नई दिल्ली (इंडिया)। इस पूरे सप्ताह सोने और चांदी की कीमतों में उतार-चढ़ाव का सिलसिला बना रहा। गुरुवार की तुलना में शुक्रवार को सोने और चांदी की कीमतों में तेजी हुई। सोने के रेट में छह सौ रुपये प्रति 10 ग्राम और चांदी के दाम में पांच सौ रुपये किलो की वृद्धि हुई। सोने का रेट 48100 रुपये प्रति 10 ग्राम और चांदी का दाम 61500 रुपये किलो हो गया। गुरुवार को सोने का रेट 47500 रुपये प्रति 10 ग्राम और चांदी का रेट 61 हजार रुपये किलो था। शनिवार को भी इन धातुओं की कीमतों में उतार-चढ़ाव का सिलसिला बने रहने के आसार हैं।

आईआईएफएल सिक्योरिटीज (IIFL Securities) में कमोडिटी एंड करेंसी ट्रेड के वाइस प्रेसिडेंट अनुज गुप्ता ने बताया कि अंतरराष्ट्रीय बाजार में सोने की कीमत 1750 डॉलर प्रति औंस के नीचे कारोबार करने तक दबाव में बनी रहेगी।  हालांकि, उन्होंने कहा कि इस कीमती धातु को 1680 डॉलर के भाव पर मजबूत समर्थन हासिल है।  ऐसे में सोने की कीमतों में किसी भी बड़ी गिरावट को निवेशक खरीदारी के शानदार मौके के तौर पर देख सकते हैं।  विशेषज्ञों के मुताबिक, अमेरिकी डॉलर में मजबूती से सोने की कीमतों पर दबाव बना रह सकता है।  हालांकि, कच्चे तेल की बढ़ती कीमतों से वैश्विक स्तर पर महंगाई में बढ़ोतरी हो सकती है।

क्‍यों बढ़ सकती हैं सोने की कीमतें?

कच्चे तेल की बढ़ती कीमत से अक्टूबर 2021 के दूसरे पखवाड़े में सोने की कीमत में जारी गिरावट का दौर बंद सकता है।  इसके अलावा भारत में कुछ ही दिनों में शुरू होने वाले फेस्टिव सीजन के दौरान सोने की मांग बढ़ने की उम्मीद है।  इससे सोने की कीमतों को समर्थन मिलेगा।  वहीं, चीन में मौजूदा बिजली संकट से इक्विटी बाजारों में तेज गिरावट आ सकती है।  ऐसे में इक्विटी निवेशक भी सबसे सुरक्षित माने जाने वाले निवेश विकल्‍प सोने में पैसा लगा सकते हैं।  इससे भी सोने की कीमतों में इजाफा होगा।

अपने ATM CARD का रखें ध्यान, नहीं तो खाली हो सकता है आपका BANK ACOUNT

01-Oct-2021

ATM के इस्तेमाल से हमें आसानी तो हुई ही है, लेकिन इससे फ्रॉड के केसेस भी बढ़ रहे हैं।  क्रिमिनल्स के लिए क्राइम करना भी आसान होता जा रहा है।  आपको इस बात का ध्यान रखना होगा कि आपके आस-पास ऐसे फ्रॉड लोग हो सकते हैं जो आपके ATM को आपसे बिना लिए भी आपका बैंक अकाउंट खाली कर सकते हैं।  मौजूदा अलर्ट के मुताबिक बैंक का कहना है कि अगर ग्राहक बैंक के एटीएम कार्ड (Debit Card) का इस्तेमाल कर रहा है तो उसे पैसों को सुरक्षित रखने के लिए कुछ खास बातों का ध्यान रखने की सख्त जरूरत है।  

ATM CARD का इस्तेमाल करते समय इन खास बातों का रखें ध्यान

  • ATM और POS मशीन पर ATM कार्ड का इस्तेमाल करते समय हाथों से कीपैड को ढक लेना चाहिए ताकि दूसरा कोई व्यक्ति आपके पासवर्ड को ना देख पाए।  
  • ग्राहकों को कार्ड पिन की जानकारी किसी के साथ भी साझा नहीं करना चाहिए।  
  • ग्राहकों को कार्ड का पिन नंबर डेबिट या एटीएम कार्ड पर नहीं लिखना चाहिए।  
  • बैंक ने सलाह दी है कि कार्ड की डिटेल या पिन पूछे जाने वाले मैसेज, ई मेल और कॉल पर कोई भी जवाब नहीं देना चाहिए।  
  • ग्राहकों को कार्ड का पिन बनाने के लिए जन्मतिथि, फोन नंबर या अकाउंट नंबर का उपयोग नहीं करना चाहिए।  
  • ट्रांजैक्शन की रसीद को संभाल कर रखना चाहिए और उसे जांच पड़ताल के बाद डिस्पोज करना चाहिए।
  • ट्रांजैक्शन शुरू करने से पहले खुफिया कैमरे की जांच जरूर कर लेना चाहिए।  
  • ग्राहकों को एटीएम और पीओएम मशीन के इस्तेमाल के दौरान कीपैड में छेड़छाड़ का भी ध्यान रखना चाहिए।  
  • ग्राहकों को अपने अकाउंट से मोबाइल नंबर को जोड़ना चाहिए ताकि ट्रांजैक्शन अलर्ट मिलता रहे।  
  • अगर कोई अनजान व्यक्ति एटीएम पर आपकी मदद करने की पेशकश करता है, तो सतर्क हो जाएं।  अगर आपका कार्ड अटका है या आपको मुश्किलें भी आ रही हैं, तो भी उसे नजअंदाज करें।  किसी भी व्यक्ति को आपका ध्यान बंटाने की कोशिश न करने दें।
  • अपनी पिन को राज रखें।  कभी भी इसे किसी व्यक्ति को नहीं बताएं।  उस स्थिति में भी, जब कोई व्यक्ति दावा कर रहा हो कि आपके बैंक से फोन कर रहा है या पुलिस ऑफिसर है।
  • इस बात का ध्यान रखें कि लाइन में खड़े दूसरे लोग आपसे उचित दूरी पर हों।
  • अपने अकाउंट बैलेंस और बैंक स्टेटमेंट को नियमित तौर पर चेक करें।  और किसी भी गड़बड़ को तुरंत अपने बैंक को सूचित करें।

ATM के लिए कुछ अन्य सेफ्टी टिप्स

  • अपनी पिन को याद कर लें।  कभी भी उसे न लिखें या अपने कार्ड के साथ स्टोर नहीं करें।
  • जब आप एटीएम पर जाते हैं, तो अपने कार्ड और लिफाफों को भी तैयार रखें।
  • अपने आसपास खड़े लोगों के बारे में अवगत रहें।
  • अपने अकाउंट, स्टेटमेंट्स पर नजर बनाए रखें और संदेहास्पद ट्रांजैक्शन के बारे में बैंक को सूचित करें।
  • अनजान लोगों द्वारा ली गई मदद को न लें।
  • एक बार ट्रांजैक्शन पूरा होने पर हमेशा कैंसल बटन जरूर दबाएं।

 

Tata Acquired Air India: Air India को मिला नया मालिक! 68 साल बाद Tata Group की झोली में 'महाराज'? जानें आगे क्या होगा

01-Oct-2021

Air India bid: घाटे में चल रही सरकारी विमानन कंपनी एयर इंडिया (Air India airline) के लिए बोली टाटा ग्रुप (Tata group) ने जीत ली है।  सूत्रों के अनुसार टाटा ग्रुप एयर इंडिया (Tata group owned Air India) का नया मालिक होगा।  पिछले हफ्ते हुई मंत्रियों के एक पैनल ने एयरलाइन के अधिग्रहण के प्रस्ताव में टाटा ग्रुप को सबसे मजबूत बताते हुए एयर इंडिया को टाटा समूह को देने की वकालत की थी।

साल 2018 में एयर इंडिया को बेचने के अपने असफल प्रयास के बाद, सरकार ने पिछले साल जनवरी में विनिवेश प्रक्रिया को फिर से शुरू किया और एयर इंडिया में एयर इंडिया की 100 प्रतिशत हिस्सेदारी सहित राज्य के स्वामित्व वाली एयरलाइन में अपनी 100 प्रतिशत वाली एक्सप्रेस लिमिटेड और एयर इंडिया एसएटीएस एयरपोर्ट सर्विसेज प्राइवेट लिमिटेड में 50 फीसदी इक्विटी बेचने के लिए बोलियां आमंत्रित कीं।

एयर इंडिया की घर वापसी

एअर इंडिया को 1932 में टाटा ग्रुप ने ही शुरू किया था।

टाटा समूह के जे.आर.डी. टाटा इसके फाउंडर थे।

तब एअर इंडिया का नाम टाटा एअर सर्विस रखा गया था।

1938 तक कंपनी ने अपनी घरेलू उड़ानें शुरू कर दी थीं।

दूसरे विश्व युद्ध के बाद इसे सरकारी कंपनी बना दिया गया।

आजादी के बाद सरकार ने इसमें 49% हिस्सेदारी खरीदी।

एयर इंडिया के पास कुल कितनी प्रॉपर्टी है?

31 मार्च 2020 तक एयर इंडिया की कुल फिक्स्ड प्रॉपर्टी करीब 45,863.27 करोड़ रुपये है।  इसमें एयर इंडिया की जमीन, बिल्डिंग्स, एयरक्राफ्ट फ्लीट और इंजन शामिल हैं।

टाटा संस को उठाना होगा 23,286.5 करोड़ रुपए के कर्ज का बोझ

साल 2007 में इंडियन एयरलाइंस में विलय के बाद से एअर इंडिया कभी नेट प्रॉफिट में नहीं रही है।  एअर इंडिया में मार्च 2021 में खत्म तिमाही में लगभग 10,000 करोड़ रुपए का घाटा होने की आशंका जताई गई।  कंपनी पर 31 मार्च 2019 तक कुल 60,074 करोड़ रुपए का कर्ज था।  लेकिन अब टाटा संस को इसमें से 23,286.5 करोड़ रुपए के कर्ज का बोझ उठाना होगा।

 

Xiaomi 11 Lite NE भारत में लॉन्च, ये है सबसे हल्का और पतला 5G फोन

29-Sep-2021

Xiaomi 11 Lite NE भारत में लॉन्च हुआ। इस सबसे हल्के और पतले 5G फोन का वजन 158 ग्राम तो थिकनेस 6.81 एमएम है। इसमें 64 मेगापिक्सल का ट्रिपल रियर कैमरा सेटअप और 12 5G बैंड्स मिलेंगे। इसके 6GB रैम और 128GB स्टोरेज वेरिएंट की कीमत 26,999 रुपये है। 8GB रैम और 128GB स्टोरेज वेरिएंट की कीमत 28,999 रुपये है। इसे Mi.com, Amazon समेत रिटेल स्टोर्स से खरीदा जा सकेगा।

शाओमी की साइट पर जानकारी दी गई है कि ये फोन काफी हल्का और पतला होगा। इसका वजन महज 158 ग्राम होगा और ये 6.81mm थिकनेस के साथ आएगा। इस स्मार्टफोन में Adreno 670 GPU के साथ मिडरेंज क्वॉलकॉम स्नैपड्रैगन 778G प्रोसेसर मिलेगा।

उम्मीद है कि फोन को भारत 6GB + 128GB, 8GB + 128GB और 8GB + 256GB वाले वेरिएंट्स में उतारा जाएगा।

इस फोन में एंड्रॉयड 11 बेस्ड MIUI 12.5 कस्टम UI, 33W फास्ट-चार्जिंग सपोर्ट के साथ 4,250mAh की बैटरी, 64MP प्राइमरी कैमरा, 20MP सेल्फी कैमरा, 90Hz डिस्प्ले ग्लोबल वेरिएंट की ही तरह देखने को मिल सकता है।

फोन के फ्रंट में 20MP का सेल्फी कैमरा दिया गया है। Xiaomi 11 Lite NE 5G स्मार्टफोन में पावर बैकअल के लिए 4,250mAh की बैटरी दी गई है। इसे 33W फास्ट चार्जिंग का सपोर्ट दिया गया है। फोन NFC इनेबल्ड होगा। Xiaomi 11 Lite NE 5G में एक ड्यूल स्टीरियो स्पीकर्स सेटअप के साथ हाई रेजॉल्यूशन ऑडियो सपोर्ट दिया गया है। फोन ड्यूल वॉइस असिस्टेंट सपोर्ट के साथ ही हैंड्स फ्री एक्सपीरिएंस के साथ आएगा।

 

 

इस गांव में कचरे से बिजली हासिल करने के लिए लगाया गया प्लांट, पीएम मोदी भी कर चुके तारीफ

25-Sep-2021

नई-दिल्ली (इंडिया)। Biogas Plant तमिलनाडु के शिवगंगा जिले के कांजीरंगल गांव में स्थित एक बायोगैस प्लांट अपशिष्ट पदार्थ (Waste Material) से बिजली का उत्पादन कर रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अगस्त महीने में मन की बात कार्यक्रम में इसकी सराहना की थी।

न्यूज एजेंसी एएनआई की रिपोर्ट के मुताबिक, शिवगंगा के डीसी थिरु पी मधुसूदन रेड्डी ने इस बारे में जानकारी देते हुए बताया कि यह स्थानीय लोगों और पंचायतों की मदद से (NRuM) के तहत स्थापित एक संयंत्र है। थिरु पी मधुसूदन रेड्डी ने कहा कि होटल और घरों के अलग-अलग गीले अपशिष्ट पदार्थों को बिजली, खेती के लिए जैविक खाद, नर्सरी का उत्पादन करने के लिए संयंत्र में संसाधित किया जाता है। उन्होंने बताया कि संयंत्र की क्षमता 2 टन है, लेकिन वर्तमान में प्रति दिन 1।2/1।3 टन कचरे को संसाधित किया जाता है जो आस-पास के क्षेत्रों में 200 स्ट्रीट लाइट को रोशन कर रहा है और अन्य जिलों में भी ऐसे संयंत्र स्थापित करने की योजना बना रहा है।

भारत ने 2024 तक कंप्रेस्ड बायोगैस की 15 एमएमटी उत्पादन क्षमता बनाने, 2025-26 तक पेट्रोल में 20 प्रतिशत इथेनॉल मिश्रण हासिल करने और कृषि, भवन, उद्योग और परिवहन क्षेत्रों में ऊर्जा दक्षता बढ़ाने की घोषणा की है। ऊर्जा पर संयुक्त राष्ट्र उच्च स्तरीय वार्ता के दौरान सरकारों और निजी क्षेत्र द्वारा नए वित्त और निवेश में 400 अरब डॉलर से अधिक की प्रतिबद्धता की गई है।

पीएम मोदी ने बताया कि तमिलनाडु के शिवगंगा जिले की काजिरंगा पंचायत ने वेस्ट से वेल्थ के मॉडल का उदाहरण पेश किया है। यहां पंचायत ने स्थानीय लोगों के साथ कचरे से बिजली बनाने का एक लोकल प्रोजेक्ट अपने गांव में लगाया है। पूरे गांव से कचरा एकत्रित होता है। उससे बिजली बनती है। बाद में बचे हुए प्रोडक्ट को कीटनाशक के तौर पर बेच दिया जाता है। यह हमारे देशवासियों को प्रेरित करता है।

पीएम मोदी ने आगे कहा कि जब खेल-कूद की बात होती है न, तो स्वाभाविक है हमारे सामने पूरी युवा पीढ़ी नजर आती है। और जब युवा पीढ़ी की तरफ गौर से देखते हैं कितना बड़ा बदलाव नजर आ रहा है। युवा का मन बदल चुका है।

पीएम मोदी ने कहा कि आज का युवा मन बने बनाए रास्तों पर चलना नहीं चाहता है। वो नए रास्ते बनाना चाहता है। unknown जगह पर कदम रखना चाहता है। मंजिल भी नयी, लक्ष्य भी नए, राह भी नयी और चाह भी नयी, अरे एक बार मन में ठान लेता हैं न युवा, जी-जान से जुट जाता है। दिन-रात मेहनत कर रहा है।

भारत ने 2024 तक कंप्रेस्ड बायोगैस की 15 एमएमटी उत्पादन क्षमता बनाने, 2025-26 तक पेट्रोल में 20 प्रतिशत इथेनॉल मिश्रण हासिल करने और कृषि, भवन, उद्योग और परिवहन क्षेत्रों में ऊर्जा दक्षता बढ़ाने की घोषणा की है। ऊर्जा पर संयुक्त राष्ट्र उच्च स्तरीय वार्ता के दौरान सरकारों और निजी क्षेत्र द्वारा नए वित्त और निवेश में 400 अरब डॉलर से अधिक की प्रतिबद्धता की गई है।

 

Chickpea Benefits: बालों की इन सभी समस्याओं के लिए किसी रामबाण से कम नहीं है काला चना, इस तरह बनाएं हेयर मास्क

24-Sep-2021

काले चने (Chickpea Benefits) पोषक तत्वों का पावर हाउस कहे जाते हैं।  इनमें प्रोटीन और फाइबर प्रचूर मात्रा में पाया जाता है इसलिए काले चने को अपनी डाइट लिस्ट में शामिल करने की सलाह दी जाती है।  काले चने को हम कई तरीकों से अपनी डिश में शामिल करते हैं।  कुछ लोग इसे सलाद की तरह खाना पसंद करते हैं, तो कुछ लोग सूप की तरह काले चने अपनी डाइट लिस्ट में शामिल करते हैं।  लेकिन हम में से बहुत कम लोग ही यह जानते हैं कि काले चने सुबह-सुबह बिना पकाए भी खाए जा सकते हैं।  जी हां, भीगे हुए काले चने सुबह-सुबह खाना सेहत के लिए फायदेमंद होता है।  सेहत के साथ ही यह आपके बालों के लिए भी फायदेमंद साबित हो सकता है।  हेयरफॉल, डैंड्रफ और सफेद बालों की समस्या के लिए यह किसी रामबाण से कम नहीं है।  यह बालों को अंदर से पोषण देता है।  ऐसे में आइए जानते हैं बालों के लिए कैसे फायदेमंद होता है काला चना और कैसे करें इसका इस्तेमाल। -

बालों के लिए कैसे फायदेमंद होते हैं काले चने-

– काले चने में विटामिन बी-6 और जिंक पाया जाता है।  यह बालों के विकास के लिए काफी फायदेमंद होता है।  यह बालों की जड़ों को मजबूत करता है।

– काले चने में मैग्नीशियम, विटामिन ए, मैंगनीज, आयरन और जिंक होता है जो बालों को सफेद होने से बचाता है।  

– काले चने का आटा में थोड़ा सा पानी डालकर पेस्ट बनाएं।  इसे स्कैल्प पर लगाकर कुछ मिनट तक रखें और फिर धो लें।  रोजाना ऐसा करने से हेयरफॉल की समस्या दूर होती है।

काले चने में पोषक तत्व

1 कप में काले चने में 210 कैलोरी, 6g शुगर, 3। 70 g फैट, 10। 5g प्रोटीन, 320mg सोडियम, 30g कार्ब्स,  9। 5g फाइबर होता है, जो बालों के फाॅलिकल्स को मजबूत बनाकर उनका झड़ना कम करता है। इसके अलावा यह विटामिन्स और खनिजों तत्वों का भी भंडार है।

कैसे करें इस्तेमाल?

- सब्जी के अलावा आप इसे स्नैक्स या मेवे की तरह खा सकते हैं। इसके लिए काले चनों को रातभर भिगोकर रख दें। सुबह खाली पेट इसका सेवन करें। इससे बाल भी स्वस्थ होंगे और आंखों की रोशनी भी तेज होगी।

- इसके अलावा आप काले चने को उबालकर इसमें काली मिर्च, सेंधा नमक व नींबू डालकर स्नैक्स की तरह खा सकते हैं। उबले काले चने का पानी भी पोषक तत्वों से भरपूर होता है।

- अगर सब्जी की तरह काले चने खा रहे हैं तो इसकी ग्रेवी ज्यादा लें।

कपिल शर्मा शो के खिलाफ FIR, बीते दिनों दिखाए गए एक एपिसोड का मामला

24-Sep-2021

कपिल शर्मा शो के मेकर्स के खिलाफ मध्य प्रदेश के शिवपुरी कोर्ट में एफआईआर दर्ज करवाई गई है। मामला शो के एक एपिसोड से जुड़ा है। इस एपिसोड में कोर्टरूम सीन में ऐक्टर्स को ड्रिंक करते दिखाया गया था। मेकर्स पर कोर्ट के अपमान का आरोप लगाया गया है। शिकायतकर्ता ने कपिल शर्मा के शो को बेहूदा बताया है। साथ ही कहा है कि महिलाओं पर भी भद्दे कॉमेंट्स किए जाते हैं।

शिवपुरी के वकील की इस शिकायत में 19 जनवरी के उस एपिसोड का जिक्र किया गया, जिसका 24 अप्रैल 2021 का रिपीट टेलीकास्ट हुआ था। वकील का कहना है कि शो में अदालत का सेटअप लगाकर शो के एक किरदार को शराबी बनकर एक्ट करते हुए दिखाया गया है। वकील ने कहा इस एपिसोड से अदालत की तौहीन हुई है। 'द कपिल शर्मा शो' को कपिल होस्ट करते हैं। उनके अलावा इस शो में सुमोना चक्रवर्ती, भारती सिंह, कृष्णा अभिषेक, सुदेश लहरी और अर्चना सिंह कॉमेडी शो का हिस्सा हैं।

1 अक्टूबर को होगी मामले की सुनवाई : शिकायत करने वाले वकील ने शिवपुरी के सीजेएम कोर्ट में शिकायत की अर्जी दी है। वकील का कहना है कि, ‘सोनी टीवी पर प्रसारित होने वाला ‘कपिल शर्मा शो बेहद फूहड़ है। शो में मंच पर अदालत लगाई गई और सार्वजनिक रूप से मंच पर कलाकारों ने शराब पी। यहा कानून अदालत का अपमान है। इसलिए दोषियों के खिलाफ मैंने 356/3 धारा के तहत शिकायत दर्ज करने की मांग की।

10 गुना बढ़ा नकली कोरोना वैक्सीन सर्टिफिकेट का काला बाजार- रिपोर्ट।

23-Sep-2021

COVID vaccine certificate  कोरोना से जुड़ी एक और बड़ी समस्या धीरे-धीरे बढ़ते जा रही है।  यह समस्या है फेक कोविड वैक्सीन सर्टिफिकेट की। पिछले महज कुछ महीनों में ही वैक्सीन प्रमाणपत्र की कालाबाजारी दस गुणा तक बढ़ गई है।  चेक प्वाइंट कंपनी ने नकली कोरोना वैक्सीन प्रमाणपत्रों के काले बाजार से जुड़ी एक रिपोर्ट बनाई है। जिसके मुताबिक, इस काले बाजार का विस्तार 29 देशों में है। इनमें ऑस्ट्रिया, ब्राजील, लातविया, लिथुआनिया, माल्टा, पुर्तगाल, सिंगापुर, थाईलैंड, यूएई जैसे देश प्रमुख हैं। टेलीग्राम पर 10 अगस्त को नकली वैक्सीन प्रमाण-पत्र के लगभग 1,000 विक्रेता थे। लेकिन अब ये संख्या 10,000 से अधिक हुई यानि कि इसमें 10 गुना वृद्धि हुई।

यह तथ्य कि यह टेलीग्राम और व्हाट्सएप जैसे ऐप पर उपलब्ध है अपने आप में चिंता का कारण है। इस साल की शुरुआत में, नकली प्रमाणपत्र मुख्य रूप से डार्क वेब पर बेचे जा रहे थे। इसका मतलब था कि लोगों को इन प्रमाणपत्रों तक पहुंचने के लिए कम से कम तकनीकी जानकार होना चाहिए। लेकिन अब ये टेलीग्राम जैसे ऐप पर आसानी से उपलब्ध हैं। टेलीग्राम पर समूह के सदस्यों की संख्या में भी वृद्धि हुई है, जो पिछले कुछ महीनों में 30,000 से बढ़कर 300,000 हो गई है। जबकि लोग इन प्रमाणपत्रों के लिए 150 € से 250 € के बीच कुछ भी भुगतान कर रहे हैं। सिंगापुर कथित तौर पर एक बड़ा बाजार ढूंढता है। एक टेलीग्राम बॉट स्पष्ट रूप से ऑस्ट्रिया में डिज़ाइन किया गया है, Wion की रिपोर्ट है, जो लोगों को ऐसे नकली कोविड वैक्सीन प्रमाण पत्र मुफ्त में प्राप्त करने में मदद कर सकता है।

पहले ये फेक कोविड वैक्सीन सर्टिफिकेट टेलीग्राम (Fake Covid Vaccine Certificate on Telegram) पर 85 अमेरिकी डॉलर यानी करीब 6272 रुपये में उपलब्ध थे।  हालांकि, जब से अमेरिकी राष्ट्रपति जो बिडेन (Joe Biden) ने वैक्सीन जनादेश की घोषणा की, 'रजिस्टर्ड' सीडीसी वैक्सीन सर्टिफिकेट की कीमत अब बढ़कर 200 यूएस डॉलर यानी करीब 14,759 रुपये हो गई है।

15 अक्टूबर को ओटीटी पर आएगी तापसी पन्नू की फिल्म 'रश्मि रॉकेट'

21-Sep-2021

बॉलीवुड एक्ट्रेस तापसी पन्नू इंडस्ट्री की हार्ड वर्किंग एक्ट्रेस में से एक हैं। वे साल में कई सारी फिल्में करने के लिए जानी जाती हैं। तापसी स्क्रिप्ट चूज करने में काफी पर्टिकुलर रहती हैं और जो स्क्रिप्ट उन्हें भाती है सिर्फ उसी में काम करती हैं। तापसी के पास मौजूदा समय में भी कई सारी फिल्में हैं। इसमें से एक फिल्म है रश्मि रॉकेट। इस फिल्म की चर्चा काफी समय से हो रही है और अब जाकर इसकी रिलीज डेट सामने आई है।

हालिया तापसी पन्नू ने सोशल मीडिया पर लिखा, 'ये चुनौतियों भरी रेस शुरू हो चुकी है और अब रावण दहन पे ही आके रुकेगी। बहुत कुछ नष्ट करना है रश्मि को इस साल। रश्मि के साथ इस रेस में ऑन और ऑफ ट्रेक दौड़ने के लिए तैयार हो जाइए। इसमें उसे आपकी आवश्यकता होगी। 'रश्मि रॉकेट' 15 अक्टूबर 2021 को ओटीटी प्लेटफॉर्म जी-5 पर टेकऑफ करने के लिए तैयार है।"

फिल्म ओटीटी प्लेटफॉर्म जी5 पर रिलीज किया जाएगी। अब जब फिल्म फैंस को घर बैठे ही देखने को मिलने वाली है, तो इससे वह खासा खुश हैं।

 


Previous123456789...7677Next