Thursday,09 February 2023   03:59 pm
Previous123456789...1617Next

आज देवउठनी एकादशी

04-Nov-2022

आज देवउठनी एकादशी ,  चार महीने तक योगनिद्रा में रहने के बाद भगवान विष्णु इसी दिन जागते हैं। इसलिए इसे देव प्रबोधिनी एकादशी कहते हैं। इस पर्व के बाद से ही शादियां, गृह प्रवेश और मांगलिक काम शुरू हो जाते हैं।

शादी और अन्य मांगलिक कार्य 4 नवंबर से शुरू नहीं हो पाएंगे क्योंकि अभी शुक्र तारा अस्त है, जो 18 नवंबर से उदय होगा। इसलिए ज्यादातर शादियां इस दिन के बाद शुरू होंगी। फिर भी कुछ जगहों पर 4 नवंबर से शादियां हो रही हैं क्योंकि देव प्रबोधिनी एकादशी को अबूझ मुहूर्त माना गया है।

ये देव विवाह का दिन भी है। घरों में गन्ने के मंडप सजेंगे और शाम को गोधुली बेला में तुलसी-शालग्राम विवाह होगा। मंदिरों में भी विशेष पूजा होगी। इस बार एकादशी पर मालव्य, शश, पर्वत, शंख और त्रिलोचन नाम के पांच राजयोग योग बन रहे हैं। साथ ही तुला राशि में चतुर्ग्रही योग बन रहा है। इस शुभ संयोग में देव प्रबोधिनी एकादशी की पूजा करने से अक्षय पुण्य मिलेगा। कई सालों बाद एकादशी पर ऐसा संयोग बना है।

देवउठनी एकादशी से शुरू होंगे मांगलिक कार्य

03-Nov-2022

 भगवान विष्णु जब निद्रा में होते हैं तब हिंदू धर्म में होने वाले तमाम तरह के शुभ कार्यों पर चार महीने की रोक लग जाती है. मान्यताओं के अनुसार देवोत्थान एकादशी पर जगत के पालनहार की विशेष पूजा कर उन्हें नींद से जगाया जाता है और इसी दिन चातुर्मास व्रत समाप्त हो जाता है और सभी मांगलिक कार्य जैसे विवाह ,मुंडन ,जनेऊ, गृह प्रवेश, यज्ञ जैसे कार्यों की शुरुआत हो जाती है.
हर साल कार्तिक माह के शुक्ल पक्ष की एकादशी तिथि को देवउठनी एकादशी का व्रत रखा जाता है. इसे देवोत्थान एकादशी, हरि प्रबोधनी एकादशी और देवउठनी ग्यारस के नाम से भी जाना जाता है. इसी दिन जगत के पालनकर्ता भगवान विष्णु चार महीने की योग निद्रा से जागते हैं इसीलिए इसे देवउठनी एकादशी कहा जाता है. देवउठनी एकादशी के दिन भगवान विष्णु की विशेष पूजा की जाती है और व्रत रखा जाता है. इस दिन भगवान की विष्णु की पूजा करने और व्रत रखने से सभी मनोकामनाएं पूरी होती हैं. 
देवोत्थान एकादशी साल में आने वाली सभी 24 एकादशी में सबसे महत्वपूर्ण होती है. इस वर्ष देवोत्थान एकादशी 4 नवंबर यानी शुक्रवार को मनाई जाएगी. एकादशी की तिथि तीन नवंबर यानी गुरुवार रात आठ बजकर 51 मिनट पर लग जाएगी और चार नवंबर शुक्रवार को शाम सात बजकर दो मिनट तक रहेगी. सूर्योदय व्यापिनी तिथि की वजह से हरि प्रबोधिनी एकादशी का व्रत 4 नवंबर को ही होगा. जबकि इसका पारण  5 नवंबर 2022 को किया इस दिन तुलसी विवाह का भी आयोजन किया जाता है. 

देवउठनी एकादशी 4 नवंबर को

03-Nov-2022

पंचांगीय गणना के अनुसार शुक्रवार को देवउठनी एकादशी रहेगी। इस दिन देव शक्ति जागृत होगी तथा चातुर्मास का समापन हो जाएगा। देव उत्थापनी एकादशी पर तुलसी शालिग्राम के विवाह की मान्यता है। धर्मधानी में सांदीपनि आश्रम, नारायणा धाम, मौनतीर्थ आश्रम सहित अनेक मंदिरों में तुलसी विवाह के आयोजन होंगे। कुल परंपरा अनुसार घरों में भी तुलसी विवाह के आयोजन होंगे।

भगवान श्रीकृष्ण की शिक्षा स्थली सांदीपनि आश्रम में  शाम को गोधूलि बेला में तुलसी विवाह का आयोजन होगा। पुजारी पं.रूपम व्यास ने बताया गन्नो के मंडप में भगवान शालिग्राम के साथ तुलसीजी का विवाह कराया जाएगा। विवाह वैदिक रीति से होने वाले विवाह में तुलसी शालिग्राम के सात फेरे भी कराए जाएंगे। तुलसीजी को पुत्री मानने वाले परिवार कन्या दान व पैर पूजा की रस्म भी निभाएंगे। इसी प्रकार भगवान श्रीकृष्ण व सुदामा के मैत्री स्थल ग्राम नारायणा धाम में तुलसी विवाह का भव्य आयोजन होगा।

अंतरिक्ष में सूर्य मुस्कुराते दिखा

02-Nov-2022

एक तरह देश में सूर्य को भगवान मानकर उनकी पूजा हो रही है, तो दूसरी तरफ अंतरिक्ष में सूर्य मुस्कुराते दिख रहे हैं। अमेरिकी स्पेस एजेंसी नासा की एक सैटेलाइट ने हाल ही में 'मुस्कुराते' हुए सूर्य की फोटो खींची है। इस खूबसूरत और अनोखी तस्वीर को शेयर करते हुए नासा ने लिखा, 'आज नासा की सोलर डायनामिक्स ऑब्जर्वेटरी ने 'स्माइलिंग' सन को देखा।' नासा ने इस अजीबोगरीब नजारे के पीछे का साइंस समझाया है। साइंस डॉट कॉम की रिपोर्ट के अनुसार नासा के SDO की खींची इस तस्वीर में सौर हवा के विशालकाय क्षेत्र दिखाई दे रहे हैं, जो पृथ्वी के लिए एक कम तीव्रता वाला सौर तूफान पैदा कर सकते हैं। पराबैंगनी प्रकाश में देखे जाने वाले सूर्य पर जो काले धब्बे दिख रहे हैं, उन्हें कोरोनल होल कहा जाता है। वे ऐसे क्षेत्र हैं जहां से तेज सोलर हवाएं अंतरिक्ष में निकलती हैं।

2022 का आखिरी चंद्र ग्रहण

02-Nov-2022

2022 का आखिरी चंद्र ग्रहण 8 नवंबर 2022 को लगने जा रहा है. यह पूर्ण चंद्र ग्रहण होगा जिसे भारत के कुछ हिस्सों में भी देखा जा सकेगा. भारत में दिखने के कारण का सूतक काल भी मान्य होगा. चंद्र ग्रहण का सूतक काल ग्रहण लगन से 9 घंटे पहले लग जाता है और ग्रहण खत्म होने के साथ ही समाप्त हो जाता है. 

आयुर्वेद में मौजूद है अस्थमा का इलाज

02-Nov-2022

 दिन-ब-दिन हवा में बढ़ते प्रदूषण के कारण अस्थमा के मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है। अस्थमा यानी सांस लेने में दिक्कत। किसी चीज से एलर्जी या प्रदूषण के कारण लोगों में अस्थमा  की समस्या होना आम बात है।
वैसे तो इस समस्या से निजात पाने के लिए लोग होम्योपैथिक दवाओं का सेवन करते हैं, यह एक गंभीर प्रकार की बीमारी है जिसमें जरा सी लापरवाही भी मरीज की जान ले सकती है. अस्थमा रोगी के श्वसन तंत्र को प्रभावित करता है। अस्थमा के लक्षण हैं खांसी, नाक बहना, सीने में जकड़न, सुबह-शाम सांस लेने में तकलीफ।
 इस समस्या से निजात पाने के लिए लोग होम्योपैथिक दवाओं का सेवन करते हैं, यह एक गंभीर प्रकार की बीमारी है जिसमें जरा सी लापरवाही भी मरीज की जान ले सकती है. अस्थमा रोगी के श्वसन तंत्र को प्रभावित करता है। अस्थमा के लक्षण हैं खांसी, नाक बहना, सीने में जकड़न, सुबह-शाम सांस लेने में तकलीफ।

कसूरी मेथी - 
मेथी को पानी में उबालकर उसमें शहद और अदरक का रस मिलाकर रोजाना पीएं। इससे आपको अस्थमा की समस्या से राहत मिलेगी।

तुलसी का सेवन - 
तुलसी अस्थमा को नियंत्रित करने में फायदेमंद होती है। तुलसी के पत्तों को अच्छी तरह से साफ करके और उसमें पिसी हुई काली मिर्च को भोजन के साथ मिलाकर खाने से अस्थमा पर नियंत्रण होता है। इसके अलावा तुलसी को पानी के साथ चाटकर उसमें शहद मिलाकर पीने से अस्थमा में आराम मिलता है।

आंवला पाउडर  - 
2 चम्मच आंवला पाउडर में 1 चम्मच शहद मिलाकर सुबह खाली पेट सेवन करें। रोजाना इसका सेवन करने से अस्थमा कंट्रोल होता है।

लहसुन की चाय - 
लहसुन अस्थमा के इलाज में काफी कारगर साबित होता है। अस्थमा के रोगी को लहसुन की चाय या 30 मिलीलीटर दूध में लहसुन की पांच कलियां उबाल लें और इस मिश्रण का रोजाना सेवन करने से अस्थमा की शुरूआती अवस्था में लाभ होता है।

पालक और गाजर  - 
पालक और गाजर का रस रोजाना पीने से भी दमा की समस्या दूर हो जाती है।

छिलके सहित केला - 
एक पके केले को छिलके सहित भूनकर उसका छिलका निकालकर केले के टुकड़ों में पिसी हुई काली मिर्च डालकर दमा के रोगी को दें। इससे मरीज को राहत मिलेगी।

आज आंवला नवमी

02-Nov-2022

धर्मग्रंथों के अनुसार कार्तिक शुक्ल नवमी तिथि पर आंवला नवमी पूजा करने का विधान है। ऐसी मान्यता है कि आंवला फल में भगवान विष्णु और भोलेनाथ का वास होता है। दोनों देवों की एकसाथ पूजा करने के लिए आंवला फल को पूजने की परंपरा है।  आंवला नवमी पर्व श्रद्धा-उल्लास से मनाया जाएगा। महिलाएं आंवला पेड़ के नीचे बैठकर पूजा करेंगी। मोतीबाग में पूजा करके महिलाएं पिकनिक मनाएंगी और बचपन के खेलों का आनंद लेंगी।

आंवला नवमी का पर्व अक्षय फल प्रदान करने वाला है। आंवला नवमी की कथा के अनुसार माता लक्ष्मी पृथ्वी लोक का भ्रमण करने जब निकलीं, तब माता के मन में भगवान विष्णु और शंकर दोनों की पूजा करने की इच्छा हुई।

तुलसी बीज के हैरतअंगेज फायदे

01-Nov-2022

तुलसी में कई औषधीय गुण होते हैं। इसका वर्णन प्राचीन भारतीय ग्रंथों में मिलता है। इसका उपयोग पहले भी कई बीमारियों के इलाज के लिए किया जाता था। आज भी आयुर्वेद विशेषज्ञ बीमारियों में इसका इस्तेमाल करते हैं। तुलसी के बीज इम्युनिटी को बूस्ट करने में मदद करता है। सर्दी-खांसी होने पर बुजुर्ग तुलसी और लौंग की चाय पीने की सलाह देते हैं। तुलसी बीज आपको कई बीमारियों से निजात दिलाती है। 

तुलसी के बीजों के सेवन से पेट की समस्या दूर होती है। यह बॉडी को डिटॉक्स करने में मदद करता है। यह पाचन क्रिया को सुधारता है। इसके नियमित सेवन से मल त्याग करने में आसानी होती है। तुलसी का सेवन पेट फूलना भी कम करता है।

मधुमेह के मरीजों के लिए तुलसी के बीज का सेवन फायदेमंद हो सकता है। इसमें डायटरी फाइबर भरपूर मात्रा में होता है। इसके लिए तुलसी के बीजों को रात भर पानी में भिगोना चाहिए। फिर सुबह इन बीजों को दूध के साथ पी लें। इससे आपके इंसुलिन में सुधार होगा।

यदि आप मोटापे से परेशान हैं, तो तुलसी के बीज वजन कम करने में मदद कर सकते हैं। तुलसी में ओमेगा 3 फैटी एसिड की मात्रा अधिक होती है, जो वेट लॉस में सहायता करता है। इसमें अल्फा लिनोलेनिक एसिड कंपाउंड होता है। इससे पेट लंबे समय तक भरा रहता है।

शनिदेव को प्रसन्न करने के लिए कई उपाय

29-Oct-2022

शनिवार के दिन शनिदेव को प्रसन्न करने के लिए कई उपाय किए जाते हैं। इस दिन शनिदेव की उपासना करना विशेष माना गया है। माना जाता है कि शनिवार के दिन शनि देव की पूजा और उपायों से वे जल्द प्रसन्न हो जाते हैं। साथ ही भक्तों पर अपनी कृपा बरसाते हैं। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार शनिवार के दिन शनि मंदिर में सरसों के तेल का दीपक जलाने से काफी चमत्कारी लाभ प्राप्त होते हैं। कहा जाता है कि इस दिन सामर्थ्य के अनुसार व्यक्ति को गरीबों और जरूरतमंदों की मदद करनी चाहिए। ज्योतिष शास्त्र में शनिवार को शनिदेव की आरती और शनि चालीसा पढ़ने से शनिदेव प्रसन्न होते हैं।

देवउठनी एकादशी में जानिए इस दिन क्या करें और क्या नहींं

28-Oct-2022

कार्तिक मास के शुक्ल पक्ष की एकादशी तिथि पर देवउठनी एकादशी का पर्व मनाया जाता है। इसे प्रबोधिनी या देवोत्थान एकादशी के नाम से भी जाना जाता है। इस बार देवउठनी एकादशी का पर्व 04 नवंबर को मनाया जाने वाला है। देवउठनी एकादशी के दिन से ही चातुर्मास समाप्त हो रहे हैं। इसके साथ ही शुभ कार्य ही शुरुआत हो जाएगी। शास्त्रों के अनुसार एकादशी के दिन से ही सृष्टि के पालनहार भगवान विष्णु चार महीने के बाद योग निद्रा से जागते हैं। इस दिन भगवान शालिग्राम और माता तुलसी का विवाह कराया जाता है।

-  देवउठनी एकादशी पर घर की अच्छे से साफ-सफाई कर लेना चाहिए। साथ ही भगवान विष्णु और माता लक्ष्मी की विधि-विधान से पूजा करें। उनके समक्ष अखंड दीप पूरी रात जलाकर रखें।
- इस शुभ दिन पर भगवान विष्णु का पंचामृत से अभिषेक करना चाहिए। मान्यता है कि ऐसा करने से सारे दुख दूर हो जाते हैं। इसके साथ ही भगवान विष्णु को खीर या सफेद मिठाई का भोग लगाने से धन की कमी नहीं होती है।
-  देवउठनी एकादशी के दिन प्रभु शालिग्राम और माता तुलसी का विवाह किया जाता है। ऐसे में इस दिन भूलकर भी तुलसी के पत्तों को नहीं तोड़ना चाहिए।
 - एकादशी के दिन सात्विक भोजन करना चाहिए। इस दिन मांस-मदिरा आदि का सेवन नहीं करना चाहिए।

- एकादशी के दिन चावल का सेवन नहीं करना चाहिए। माना जाता है कि इस दिन चावल का सेवन करने से व्यक्ति अगले जनम में रेंगने वाले जीव की योनी पाता है।

Dhanteras 2022 Date: इस साल धनतेरस कब है? जानिए पूजा का शुभ मुहूर्त, महत्व और विधि

20-Oct-2022

Dhanteras 2022 Kab Hai: हिंदू पंचांग के अनुसार, धनतेरस का त्योहार कार्तिक मास के त्रयोदशी को मनाया जाता है। त्रयोदशी तिथि के दिन भगवान शिव को समर्पित प्रदोष व्रत भी रखा जाता है।

धनतेरस को धन त्रयोदशी के नाम से भी जानते हैं। इस दिन देवताओं के वैद्य धन्वंतरी की जयंती मनाई जाती है। 

धनतेरस के दिन सोना, चांदी व अन्य वस्तुओं की खरीदारी करना लाभकारी माना गया है। इस साल लोगों के बीच कंफ्यूजन है कि आखिर उदया तिथि में धनतेरस का त्योहार 22 या 23 अक्टूबर कब मनाया जाएगा। आप भी जानें धनतरेस की सही तारीख-

पौराणिक मान्यताओं के अनुसार, समुद्र मंथन के समय भगवान धन्वंतरि इसी दिन अपने हाथों में अमृत का कलश लेकर प्रकट हुए थे। इसलिए इस दिन उनका पूजन किया जाता है। धनतेरस के दिन धन की देवी लक्ष्मी, धन कोषाध्यक्ष कुबेर और भगवान धन्वंतरि की पूजा की जाती है। मान्यता है कि इस दिन विधि पूर्वक पूजा करने से घर में धन की कमी नहीं होती है। इस दिन बर्तन खरीदने की परंपरा है। 


धनतेरस 2022 कब है?
पंचांग के अनुसार, इस साल धनतेरस 23 अक्टूबर 2022 को है। धनतेरस के दिन धन के देवता कुबेर की पूजा की जाती है। साथ ही इस दिन सोना, चांदी या बर्तन आदि खरीदना बेहद शुभ माना जाता है।

धनतरेस 2022 शुभ मुहूर्त
कार्तिक माह में कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी तिथि का प्रारंभ - 22 अक्टूबर 2022, शाम 6 बजकर 02 मिनट से
त्रयोदशी तिथि का समापन- 23 अक्टूबर 2022, शाम 6 बजकर 03 मिनट पर
इस दिन धन्वंतरि देव की पूजा का शुभ मुहूर्त - 23 अक्टूबर 2022 रविवार, 5 बजकर 44 मिनट से 06 बजकर 05 मिनट तक

धनतेरस पूजा विधि
धनतेरस के दिन शाम के वक्त शुभ मुहूर्त में उत्तर की ओर कुबेर और धन्वंतरि की स्थापना करें। 
मां लक्ष्मी व गणेश की भी प्रतिमा या तस्वीर स्थापित करें। फिर दीप प्रज्वलित करें और विधिवत पूजन करना आरंभ करें।
तिलक करने के बाद पुष्प, फल आदि चीजें अर्पित करें।
कुबेर देवता को सफेद मिष्ठान और धन्वंतरि देव को पीले मिष्ठान का भोग लगाएं।
पूजा के दौरान 'ऊँ ह्रीं कुबेराय नमः' इस मंत्र का जाप करते रहें।
भगवान धन्वंतरि को प्रसन्न करने के लिए इस दिन धन्वंतरि स्तोत्र का पाठ जरूर करें। 

 

 

  1. भेंट-मुलाकात कार्यक्रम में मुख्यमंत्री कोनारगढ़ के उप-स्वास्थ्य केंद्र पहुंचे

  2. जेडी के इंजन में लगी आग 

  3. भाजपा के नए जिला अध्यक्ष की पहली सूची जारी 

  4. सूर्यग्रहण के कारण गोवर्धन पूजा और अन्नकूट की बदली तारीख

Aaj Ka Rashifal 20 October 2022: इन 4 राशियों को मिलेगा मां लक्ष्मी का आशीर्वाद, दिवाली से पहले होगी धन की बरसात

20-Oct-2022

मेष (चू, चे, चो, ला, ली, लू, ले, लो, अ) :- आज का दिन मेष राशि वालों के लिए कठिन रहेगा। व्यावसायिक गतिविधियों में प्रगति होगी। भाई-बहनों के साथ संबंध अच्छे बने रहेंगे और घरेलू कार्यों को पूरा करेंगे। यदि आप पुराने समय को भूलकर आगे बढ़ते हैं, तो आपको लाभ होगा। किसी भी मतभेद को जल्द दूर करने का प्रयास करें।

 

वृष (ई, ऊ, ए, ओ, वा, वी, वू, वे, वो) :- आज आपका दिन बढ़िया रहने वाला है। कारोबार में थोडा सोंच समझकर आगे बढ़ना आज उचित रहेगा। ठाने हुए कार्यों में आपको सफलता जरुर मिलेगी। इस राशि के लोगो को जरुरत से ज्यादा किसी पर भरोसा नहीं करना चाहिए। आज आपका स्वास्थ फिट रहेगा। प्रतियोगी परिक्षा के आपको अच्छे रिजल्ट मिलेंगे।

 

मिथुन (का, की, कू, घ, ङ, छ, के, को, हा) :-   कुछ ऐसी भाषा का इस्‍तेमाल कर देंगे जिससे नुकसान की आशंका है। निवेश करने से बचें। स्‍वास्‍थ्‍य पहले से बेहतर, प्रेम, संतान मध्‍यम, व्‍यापार अच्‍छा है। भगवान भोलेनाथ की अराधना करते रहें।

 

कर्क (ही, हू, हे, हो, डा, डी, डू, डे, डो) :- कर्क राशि वालों के जीवन में कुछ बेहद खुशी के पल आने वाले हैं। आप नई संपत्ति खरीदने की योजना बना सकते हैं। घर के सदस्यों की समस्याओं को सुलझाने में आपका महत्वपूर्ण योगदान रहेगा और सभी से रिश्ते भी मजबूत होंगे।

 

सिंह (मा, मी, मू, मे, मो, टा, टी, टू, टे) :- आज रचनात्मक कार्यों के प्रति आपकी रूचि बढ़ने से आपका मन प्रसन्न रहेगा। आपके लाभ का प्रतिशत ऊंचा होने से आप प्रसन्न रहेंगे। परिवार में आप सदस्यों की उम्मीदों पर खरा उतरेंगे और परिवार में आपका मान सम्मान और ऊंचा होगा। आपके विनम्र स्वभाव से आपको मान सम्मान मिलेगा।

 

कन्या (टो, पा, पी, पू, ष, ण, ठ, पे, पो);-  आज आपका दिन मिलाजुला रहेगा। आज कोई भी निर्णय लेने से पहले परिवारजन की राय अवश्य लें। किसी काम को करने की उत्सुकता बढ़ेगी। आज आपका स्वास्थ्य चेतन्न रहेगा, आपके अन्दर एनर्जी भरपूर रहेगी। सरकारी जॉब वाले लोगों के प्रमोशन से जुडी अच्छी खबर जल्द मिलेगी।

 

तुला (रा, री, रू, रे, रो, ता, ती, तू, ते) :-  आज का दिन आपके लिए कुछ महत्वपूर्ण रहने वाला है। संतान के करियर की यदि आपको कोई चिंता सता रही थी,तो वह समाप्त होगी और आप प्रसन्न रहेंगे। आय के भी विभिन्न स्त्रोत मिलेंगे,लेकिन आप खर्च भी खुला करेंगे,जिससे आपको आर्थिक समस्या का सामना भी करना पड़ सकता है,जो विद्यार्थी विदेश जाकर शिक्षा ग्रहण करना चाहते हैं,तो उनकी यह इच्छा भी पूरी हो सकती है।

 

वृश्चिक (तो, ना, नी, नू, ने, नो, या, यी, यू) :-  आज आपका दिन शानदार रहेगा। काम पर निकलते समय अचानक किसी फ्रेंड की काल आयेगी, उनसे आपको महत्वपूर्ण जानकारी मिलेगी| अपने जीवन को बेहतर ढंग से जीने का प्रयास करेंगे। काफी सम  पहले कोई देखी गई प्रॉपर्टी लेने के लिए फाइनल डिसिजन करेंगे, घर वालों से विचार विमर्श कर लें।

 

धनु (ये, यो, भा, भी, भू, ध, फा, ढा, भे) :-  आज का दिन आपके लिए भाग्य के दृष्टिकोण से उत्तम रहने वाला है। यदि सामाजिक क्षेत्रों में कार्यरत हैं,तो आप लोगों से मेलजोल बढ़ाने में कामयाब रहेंगे। विद्यार्थियों को शिक्षा की ओर ध्यान लगाना होगा। इधर-उधर के कामों पर ध्यान ना लगाएं। कारोबार कर रहे लोगों को खाली बैठकर समय व्यतीत करने से अच्छा है कि अपनी कुछ योजनाओं को पूरा करें।

 

मकर (भो, जा, जी, खी, खू, खा, खो, गा, गी) :-   आज आपका दिन अनुकूल रहेगा। आज बुजुर्गों का धार्मिक कार्यों में मन लगेगा। दोस्तों के साथ आज restaurant जायेंगे, जहां मस्ती का माहौल बना रहेगा। ऑफिस में किसी बात को लेकर मूड अपसेट हो सकता है, जहाँ तक होसके नार्मल रहे। लॉ कर रहे छात्रों को नए टॉपिक में काफी इंटरेस्ट आएगा।

 

कुंभ (गू, गे, गो, सा, सी, सू, से, सो, दा) :- आज का दिन व्यवसाय कर रहे लोगों के लिए उत्तम रहेगा। व्यवसाय की योजना बनाकर काम करेंगे,तो आपके साथी इसमें आपकी पूरी मदद करेंगे। मित्रों के सहयोग से आप कोई छोटा मोटा बिजनेस शुरू कर सकते हैं। जीवन साथी के साथ आपके कुछ तनातनी रहेगी इसलिए आपको किसी भी मामले को शांति से निपटाना होगा।

 

मीन (दी, दू, थ, झ, ञ, दे, दो, चा, ची) :- आज मीन राशि वालों को अपनी आकांक्षाओं पर संयम रखना होगा। कुछ लोग परिवार में अपनी बात साबित करने के लिए उतावले रहेंगे। आप किसी बाहरी गतिविधि में हिस्सा ले सकते हैं। दिवाली के मौके पर घर में उत्साह का माहौल रहेगा और कुछ खास व्यंजन भी बनाए जा सकते हैं।

सूर्यग्रहण के कारण गोवर्धन पूजा और अन्नकूट की बदली तारीख

19-Oct-2022

इस साल गोवर्धन और अन्नकूट पूजा दीपावली के दूसरे दिन 25 अक्टूबर को न होकर एक दिन बाद 26 अक्टूबर को होगी। इस बार 27 साल के बाद दिवाली पर सूर्य ग्रहण का साया पड़ा है।दीपावली के अगले दिन खंडग्रास सूर्यग्रहण है। कार्तिक कृष्ण चतुर्दशी युक्त प्रदोष व्यापिनी अमावस्या पर 24 अक्टूबर को दिवाली मनाएंगे।

24 अक्टूबर की शाम को श्रीगणेश-लक्ष्मी जी की पूजा-अर्चना होगी। अगले दिन अमावस्या 25 अक्टूबर को खंडग्रास सूर्यग्रहण होगा, लिहाजा गोवर्धन पूजा नहीं हो सकेगी। प्रभु को अन्नकूट का भोग भी नहीं लगेगा। 25 अक्टूबर को शाम 4.32 बजे सूर्य ग्रहण शुरू होगा, जो शाम 6.32 तक रहेगा। ऐसे में सूतक 12 घंटे पहले यानी सुबह 4.31 बजे से शुरू होगा। 25 अक्टूबर को शाम 5.57 बजे तक सूर्यग्रहण का मोक्ष होगा। इससे पहले 27 वर्ष पहले दिवाली पर 24 अक्टूबर 1995 को सूर्य ग्रहण पड़ा था।

आज 19 अक्टूबर 2022 का राशिफल: सावधानी से बढ़े आगे, देखिए आपके सितारे क्या कहते हैं

19-Oct-2022

मेष (चू, चे, चो, ला, ली, लू, ले, लो, अ) :- आज का दिन आपके लिए सावधानी बरतने के लिए रहेगा। आपको घर परिवार में चल रही किसी समस्या को घर के बाहर किसी व्यक्ति से सलाह लेने से बचना होगा। आपके सुविधाजनक संसाधनो में भी वृद्धि होती दिख रही है। व्यापार में आपकी साख चारों ओर फैलेगी,क्योंकि आपके दिए गए सुझावों का स्वागत होगा।

 

वृष (ई, ऊ, ए, ओ, वा, वी, वू, वे, वो) :- वृषभ राशि वालों से कह रहे हैं कि वर्तमान समय में प्रयास करने से आपको उचित सफलता मिलेगी। आर्थिक स्थिति में अच्छा सुधार देखने को मिलेगा। लाभकारी यात्राओं का भी योग है। छात्रों की रुचि आज पढ़ने लिखने में कम रहेगी, मन उलझा रहेगा।

 

मिथुन (का, की, कू, घ, ङ, छ, के, को, हा) :-   कुछ ऐसी भाषा का इस्‍तेमाल कर देंगे जिससे नुकसान की आशंका है। निवेश करने से बचें। स्‍वास्‍थ्‍य पहले से बेहतर, प्रेम, संतान मध्‍यम, व्‍यापार अच्‍छा है। भगवान भोलेनाथ की अराधना करते रहें।

 

कर्क (ही, हू, हे, हो, डा, डी, डू, डे, डो) :- समाज में सराहे जाएंगे। ओजस्‍वी-तेजस्‍वी बने रहेंगे। जिस चीज की जरूरत है, उसकी उपलब्‍धता होगी। प्रेम और संतान में थोड़ी दूरी होगी। व्‍यापार भी थोड़ा मध्‍यम रहेगा। स्‍वास्‍थ्‍य बहुत अच्‍छा है। लाल वस्‍तु पास रखें।

 

सिंह (मा, मी, मू, मे, मो, टा, टी, टू, टे) :- आज आपको लेनदेन के मामले में सावधानी बरतनी होगी और कुछ काम ऐसे होंगे,जिनके करने से आपके मन को सुकून मिलेगा। आपकी धार्मिक कार्यक्रमों में रुचि बढ़ेगी,जिसमें आपकी साख चारों ओर फैलेगी। सोशल मीडिया से जुड़े लोगों को कोई अच्छी खबर सुनने को मिल सकती हैं।

 

कन्या (टो, पा, पी, पू, ष, ण, ठ, पे, पो);-  स्‍वास्‍थ्‍य सुधर चुका है। प्रेम-संतान अभी भी मध्‍यम है। व्‍यापारिक दृष्टिकोण से शुभ समय है। आर्थिक मामले सुलझेंगे। शुभ समाचार की प्राप्ति होगी। शनिदेव की अराधना करते रहें।

 

तुला (रा, री, रू, रे, रो, ता, ती, तू, ते) :- आज का दिन आपके लिए उत्तम रूप से फलदायक रहने वाला है। आपकी कुछ दीर्घकालीन योजनाओं को बल मिलने से आप प्रसन्न रहेंगे। आज सेहत के मामले में दिन थोड़ा कमजोर रहेगा,लेकिन फिर भी आपको सावधान रहना होगा।

 

वृश्चिक (तो, ना, नी, नू, ने, नो, या, यी, यू) :-  आज का दिन सामाजिक क्षेत्रों में कार्यरत लोगों के लिए उत्तम रहने वाला है। उन्हें  किसी काम के सिलसिले में लंबी दूरी की यात्रा पर जाने का मौका मिलेगा। आपको पिछली की गई गलती को सुधारना होगा। माता पिता के आशीर्वाद से आप किसी नए काम में हाथ भी आजमा सकते हैं।

 

धनु (ये, यो, भा, भी, भू, ध, फा, ढा, भे) :-  परिस्थितियां प्रतिकूल हैं। कोई रिस्‍क न लें। वाहन धीरे चलाएं। स्‍वास्‍थ्‍य मध्‍यम है। प्रेम-संतान की स्थिति अच्‍छी है। व्‍यापार भी अच्‍छा दिख रहा है। लाल वस्‍तु पास रखें। भगवान भोलेनाथ का जलाभिषेक करें।

 

मकर (भो, जा, जी, खी, खू, खा, खो, गा, गी) :-   बिजनेस कर रहे लोगों के लिए आज लाभ के अवसर मिलते रहेंगे और आप सभी का पूरा फायदा उठाएंगे। जीवनसाथी भरपूर सहयोग के साथ कंधे से कंधा मिलाएंगे। प्रेमी-प्रेमिका की मुलाकात होगी। स्‍वास्‍थ्‍य पर ध्‍यान दें। बाकी सब अच्‍छा है। मां काली की अराधना करें।

 

कुंभ (गू, गे, गो, सा, सी, सू, से, सो, दा) :- शत्रु स्‍वयं मित्र बनने की कोशिश करेंगे। ननिहाल पक्ष से अच्‍छा समाचार मिलेगा। बड़े-बुजुर्गों का आशीर्वाद मिलेगा। स्‍वास्‍थ्‍य मध्‍यम है। प्रेम, संतान, व्‍यापार अच्‍छा है। हरी वस्‍तु पास रखें। आप अपनी आय-व्यय के लिए बजट बनाकर चले,तो आपके लिए बेहतर रहेगा।

 

मीन (दी, दू, थ, झ, ञ, दे, दो, चा, ची) :- आपको आज बड़ों की बात का मान व सम्मान रखना होगा नहीं तो वह आपसे किसी बात को लेकर नाराज हो सकते हैं। आर्थिक गतिविधियो में भी रहेंगे। आज आप अपने रुके हुए कार्यों को पूरा करने की पूरी कोशिश करेंगे। यदि आप किसी कार्य को लंबे समय से कर रहे  हैं तो वह आज पूरा हो सकता है

पुष्य नक्षत्र पर रहेगा खरीदी का महामुहूर्त

15-Oct-2022

दीपावली से छह दिन पहले 18 अक्टूबर मंगलवार को खरीदी का महामुहूर्त .... पुष्य नक्षत्र 26 घंटे 48 मिनट रहेगा। ज्योर्तिविदों के अनुसार पुष्य नक्षत्र के साथ दिनभर रहने वाले सिद्ध और साध्य योग में सोना-चांदी, भूमि-भवन, बहीखाते सहित सभी प्रकार की चल-अचल संपत्ति की खरीदारी शुभ फलदायी होगी। इस दिन सूर्यदेव मीन राशि से निकलकर तुला में प्रवेश करेंगे। इस दिन को सूर्य की तुला सक्रांति और भी खास बना रही है। इस मौके पर दीपावली के लिए सजे बाजारों में भी जमकर खरीदारी होगी।
कार्तिक मास की कृष्ण पक्ष की अष्टमी के दिन पुष्य नक्षत्र 18 अक्टूबर को सुबह 5.14 बजे से अगले दिन 19 अक्टूबर को सुबह 8.02 बजे तक रहेगा। 18 अक्टूबर को पूरे दिन और रात पुष्य नक्षत्र रहेगा। इस दिन सिद्ध योग शाम 4.53 बजे तक रहेगा। इसके बाद साध्य योग लगेगा।

Horoscope Today 14 October 2022: मेष राशि वालों को नौकरी में मिलेगी तरक्की, मान-सम्मान का होगा लाभ, जानें अपना राशिफल

14-Oct-2022

मेष (चू, चे, चो, ला, ली, लू, ले, लो, अ) :- शुभ सूचना मिलेगी। बड़प्पन बनाए रखेंगे। आकर्षक प्रस्ताव प्राप्त होंगे। अच्छे होस्ट बने रहेंगे। महत्वपूर्ण वार्ता सफल होगी। परंपरागत कार्यों से जुड़ेंगे। मूल्यवान वस्तु प्राप्त होगी। परिजन सहयोगी रहेंगे। व्यक्तिगत प्रदर्शन संवरेगा। तेजी बनाए रखेंगे। घर में सुख सौख्य रहेगा। जीवन स्तर में सुधार होगा।

 

वृष (ई, ऊ, ए, ओ, वा, वी, वू, वे, वो) :- आर्थिक मामलों में सुधार होगा। संतान के दायित्व की पूर्ति होगी । शिक्षा प्रतियोगिता के क्षेत्र में सफलता मिलेगी। पारिवारिक जीवन सुखमय होगा। हालाँकि दिन के अंत में कोई आपसे निराश रह सकता है लेकिन यह नाराज़गी ज्यादा दिनों तक नही रहेगी।

 

मिथुन (का, की, कू, घ, ङ, छ, के, को, हा) :-  कामकाज पर फोकस रखें। न्यायिक मामलों में चूक करने से बचें। सूझबूझ से आगे बढ़ें। श्रेष्ठजनों का सहयोग रहेगा। अतिउत्साह में न आएं। विपक्ष से सतर्क रहें। निवेश के प्रयासों में सक्रियता आएगी। करियर कारोबार पूर्ववत् बना रहेगा। दूर देश के मामलों में सक्रियता दिखाएंगे। आर्थिक वाणिज्यिक मामलों में स्मार्ट डिले की नीति अपनाएं।

 

कर्क (ही, हू, हे, हो, डा, डी, डू, डे, डो) :- कॉलेज के किसी प्रोजेक्ट पर कुछ समय से काम करने में लगे हुए थे तो आज के दिन उसमे निराशा हाथ लगेगी। वह प्रोजेक्ट विफल भी हो सकता है। ऐसे में धैर्य ना खोये और संयम से काम ले।

 

सिंह (मा, मी, मू, मे, मो, टा, टी, टू, टे) :- यदि आप निजी नौकरी करते हैं तो आज के दिन कुछ ऐसे प्रोजेक्ट मिलेंगे जो आपकी प्रतिभा में निखार लेकर आएंगे। बॉस आपको कुछ विदेशी प्रोजेक्ट में काम पर लगा सकते है। ऐसे में किसी भी अवसर को हाथ से ना जाने दे।

 

कन्या (टो, पा, पी, पू, ष, ण, ठ, पे, पो);-  कार्य कुशलता बढ़ेगी। कामकाज पर फोकस बढ़ाएंगे। श्रेष्ठ प्रयासों से सभी को प्रभावित करेंगे। संकोच हटेगा। महत्वपूर्ण लक्ष्य साधेंगे। लाभ बढ़ाने में सफल रहेंगे। विभिन्न कार्यों में तेजी लाएंगे। इच्छित सूचनाओं की प्राप्ति होगी। सभी को जोड़ने में कामयाब होंगे। निसंकोच आगे बढ़ते रहेंगे। धर्म आस्था और अध्यात्म के बल मिलेगा।

 

तुला (रा, री, रू, रे, रो, ता, ती, तू, ते) :- यदि अभी-अभी कॉलेज में हुए है तो नए दोस्त बनेंगे जो पढ़ाई में आपकी सहायता करेंगे। कॉलेज के प्रोजेक्ट में कुछ नया अनुभव करने को मिलेगा।हालाँकि परीक्षा का तनाव भी होगा।

 

वृश्चिक (तो, ना, नी, नू, ने, नो, या, यी, यू) :-  प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी में लगे छात्र अपने लिए कुछ नया करने का सोच सकते है।उनका परीक्षा से मोहभंग होगा और वे अपने पिता के काम में हाथ बंटाने का विचार करेंगे। हालांकि कोई भी निर्णय अच्छे से विचार-विमर्श करने के बाद ही ले।

 

धनु (ये, यो, भा, भी, भू, ध, फा, ढा, भे) :-  स्मार्ट वर्किंग बढ़ाएं। अनुशासन रखेंगे। सजगता बढ़ाएंगे। पुराने रोग उभर सकते हैं। सेवाक्षेत्र से जुड़े जन अच्छा प्रदर्शन करेंगे। विरोधियों की सक्रियता बनी रहेगी। कार्य व्यापार में रुटीन संवारेंगे। विनम्र रहेगे। कर्मठता बनाए रखेंगे। परिश्रम से परिणाम बेहतर बनेंगे। जिम्मेदारियों को बखूबी निभाएंगे।

 

मकर (भो, जा, जी, खी, खू, खा, खो, गा, गी) :-    अध्ययन अध्यापन में आगे रहेंगे। मित्रों का साथ सहयोग बना रहेगा। करियर कारोबार आगे बढ़ेंगे। कार्यक्षमता में वृद्धि होगी। बड़प्पन रखेंगे। उचित अवसर भुनाएंगे। सबको साथ लेकर चलेंगे। भावनात्मक प्रदर्शन में बेहतर रहेंंगे। उूर्जा उत्साह को बल मिलेगा। चहुंओर सक्रियता दिखाएंगे। भ्रमण मनोरंजन के अवसर बनेंगे।

 

कुंभ (गू, गे, गो, सा, सी, सू, से, सो, दा) :- स्कूल में पढ़ रहे विद्यार्थी नया कोर्स ज्वाइन कर सकते है जो आगे चलकर उनके बहुत काम आएगा। व्यापारी लोगों को आश्चर्यजनक रूप से लाभ मिलने के संकेत हैं।

 

मीन (दी, दू, थ, झ, ञ, दे, दो, चा, ची) :-  स्कूल में पढ़ते है तो आज के दिन सावधान हो जाए क्योंकि आपके पिता आपकी पढ़ाई से खुश नही दिखाई देंगे। ऐसे में पढ़ाई को लेकर सजग रहे और पूरी सावधानी बरते।  सबको साथ लेकर आगे बढ़ने का समय है। संपर्क का दायरा बड़ा होगा। शुभ सूचनाओं का आदान प्रदान बढ़ेगा। बंधुओं से नजदीकियां बढ़ेंगी।

Aaj Ka Rashifal 13 October 2022: करवा चौथ का दिन इन 5 राशियों के लिए खास, मिलेगी तरक्की के साथ धन लाभ

13-Oct-2022

मेष (चू, चे, चो, ला, ली, लू, ले, लो, अ) :- मेष राशि के लोगों के लिए गुरुवार का दिन, बहुत अच्छा रहने वाला है। आज आप किसी कार्य के पूरा होने से बहुत खुश रहेंगे। फिलहाल, आपके लिए समय अनुकूल है। व्यापार के सिलसिले में अच्छे नतीजे मिलेंगे।

 

वृष (ई, ऊ, ए, ओ, वा, वी, वू, वे, वो) :- निजी संबंध प्रगाढ़ होंगे। शिक्षा प्रतियोगिता के क्षेत्र में आशातीत सफलता मिलेगी। पारिवारिक दायित्व की पूर्ति होगी। साथ ही आज आप अपने रहन-सहन में कुछ बदलाव कर सकते है। बिजनस में नए एग्रीमेंट हो सकते हैं।

 

मिथुन (का, की, कू, घ, ङ, छ, के, को, हा) :-  मिथुन राशि के लोगों के आज गणेश कहते हैं कि आज का दिन काफी अहम रहेगा। आज महत्वपूर्ण मामलों में दोस्तों से बातचीत हो सकती है, उनसे सहयोग भी पा सकते हैं। रुके हुए कामों में प्रगति होगी।

 

कर्क (ही, हू, हे, हो, डा, डी, डू, डे, डो) :- कर्क राशि के लोगों के लिए आज का दिन व्यस्तता से भरा रह सकता है। इतना ही नहीं आज आप अपने अच्छे व्यवहार से लोगों को आकर्षित करेंगे। नए विचारों पर काम करने से आपको पूरा फायदा मिलेगा।

 

सिंह (मा, मी, मू, मे, मो, टा, टी, टू, टे) :- उपहार या सम्मान में वृद्धि होगी। व्यावसायिक प्रतिष्ठा बढ़ेगी। जीविका के क्षेत्र में प्रगति होगी। शासन सत्ता का सहयोग रहेगा। सिंह राशि के लोगों को आज कई मामलों में आपको किस्मत का साथ मिलेगा। आत्मनिर्भर बनने का प्रयास जारी रखें। आपको कमाई के नए सोर्स नजर आएंगे।

 

कन्या (टो, पा, पी, पू, ष, ण, ठ, पे, पो);-  जीवनसाथी का सहयोग मिलेगा। पारिवारिक दायित्व की पूर्ति होगी। उपहार या सम्मान में वृद्धि होगी। कन्या राशिवालों के लिए आज का दिन अच्छा रहेगा। कोई नया विचार आपको आर्थिक तौर पर फायदा दिलाएगा। स्थायी संपत्ति की खरीद-फरोख्त हो सकती है।

 

तुला (रा, री, रू, रे, रो, ता, ती, तू, ते) :- रचनात्मक कार्यों में सफलता मिलेगी। व्यावसायिक प्रयास फलीभूत होगा। शासन सत्ता का सहयोग मिलेगा। अपनी क्रिएटिविटी से लोगों का ध्यान अपनी ओर आकर्षित कर लेंगे। आपको सलाह है कि अपने जरूरी काम पहले करें, सफलता मिलेगी।

 

वृश्चिक (तो, ना, नी, नू, ने, नो, या, यी, यू) :-  ससुराल पक्ष से सहयोग मिलेगा। संतान या शिक्षा के संबंध में सुखद समाचार मिलेगा। व्यावसायिक मामलों में लाभ मिलेगा। जो लोग व्यापार करते हैं आज उनके बच्चे बिजनेस में उनका पूरा सपोर्ट करते नजर आएंगे।

 

धनु (ये, यो, भा, भी, भू, ध, फा, ढा, भे) :-  धनु राशिवालों के लिए गणेशजी कह रहे हैं कि आज का दिन सुखद और आश्चर्य भरी बातों के साथ गुजर सकता हैं। आज आपके द्वारा सच्चे मन से कि गई आपकी मेहनत रंग लाएगी।

 

मकर (भो, जा, जी, खी, खू, खा, खो, गा, गी) :-   मकर राशिवालों के लिए आज का दिन अपनी कमियों की बजाय अपनी खूबियों पर ध्यान देने का है। थोड़ी-सी कोशिश से आप ऊंचे पद पर पहुंच सकते हैं। जीवन साथी के नाम से किए जा रहे कार्य में लाभ होगा।

 

कुंभ (गू, गे, गो, सा, सी, सू, से, सो, दा) :- भविष्य के लिए पैसे का आयोजन करने के लिए अच्छा समय है। सौंदर्य प्रसाधन, अलंकार और वस्त्रों के पीछे खर्च होगा। माता से लाभ होगा। जमीन, मकान, वाहन आदि का सौदा करते समय सावधानी बरतें।

 

मीन (दी, दू, थ, झ, ञ, दे, दो, चा, ची) :- आपकी सृजनशक्ति और कलात्मकता विकसित होगी। जीवनसाथी के साथ आत्मीयता बढ़ेगी। नजदीक के स्थान पर प्रवास या पर्यटन का आयोजन होगा। भाई- बहनों से लाभ होगा। किसी के साथ भावनात्मक सूत्र में बंधेंगे।

Aaj Ka Rashifal 11 October 2022: मेष और वृषभ राशि के जातक रहें सतर्क, देखें आपका दिन कैसा रहेगा

11-Oct-2022

मेष (चू, चे, चो, ला, ली, लू, ले, लो, अ) :- विवाह की प्रतीक्षा कर रहे लोगों को आज के दिन कहीं से अच्छा रिश्ता आ सकता है, लेकिन ध्यान नहीं दे पाने के कारण वो हाथ से निकल जाएगा। ऐसे में सचेत रहें और किसी अवसर को हाथ से ना जाने दें अन्यथा बाद में आपको ही पछतावा होगा।

 

वृष (ई, ऊ, ए, ओ, वा, वी, वू, वे, वो) :- विवाह को कुछ ही समय हुआ है, तो अपने जीवनसाथी के ऊपर शक की भावना आएगी। ऐसे में उनसे खुलकर बात करेंगे तो बेहतर रहेगा।

 

मिथुन (का, की, कू, घ, ङ, छ, के, को, हा) :-  आज के दिन आपकी पत्नी आपसे नाराज़ रह सकती है। इसलिये उनके साथ बनाए रखे और कोई ऐसा काम ना करे जो उन्हें बुरा लगे। मन को शांत रखेंगे तो ठीक रहेगा।

 

कर्क (ही, हू, हे, हो, डा, डी, डू, डे, डो) :- कर्क राशि वाले आज किसी फोन कॉल को नजरअंदाज न करें, क्योंकि महत्वपूर्ण सूचनाएं प्राप्त हो सकती हैं। मार्केटिंग और मीडिया पर ध्यान दें। ये गतिविधियां आपकी आर्थिक स्थिति के लिए काफी फायदेमंद साबित होंगी।

 

सिंह (मा, मी, मू, मे, मो, टा, टी, टू, टे) :- आस्था विश्वास के विषय संवरेंगे। अप्रत्याशित घटनाक्रम बना रहेगा।  विवाद और अनिर्णय की स्थिति से बचें। सजगता से कार्य सधेंगे। नीति धर्म का पालन करें। निजी विषय पक्ष में रहेंगे। परंपराओं को निभाएंगे। खानपान और सेंहत देखें। संकेतों के प्रति सजगता बनाए रहें।

 

कन्या (टो, पा, पी, पू, ष, ण, ठ, पे, पो);-   कन्या राशि वालों को आज कुछ समय अपने लिए बिताना चाहिए। आत्मनिरीक्षण आपको मन की शांति देगा। कई समस्याओं का समाधान भी हो सकता है। आर्थिक रूप से आज का दिन आपके लिए सफलता लेकर आ रहा है। दूसरों की सलाह पर भरोसा करने के बजाय खुद पर भरोसा करें।

 

तुला (रा, री, रू, रे, रो, ता, ती, तू, ते) :-  तुला राशि वाले जीवन को सकारात्मक तरीके से समझने की कोशिश कर रहे हैं। धर्म और अध्यात्म में आपका विश्वास आपके भीतर शांति और सकारात्मक ऊर्जा का संचार करेगा। बिना पूछे किसी को सलाह न दें। छात्र अपनी पढ़ाई पर ध्यान दिए बिना इधर-उधर भटकने में समय बर्बाद करेंगे।

 

वृश्चिक (तो, ना, नी, नू, ने, नो, या, यी, यू) :-  शाम से समय प्रभावित हो सकता है। व्यक्तिगत प्रयासों में आगे रहेंगे। परस्पर विश्वास बढ़ेगा। चहुंओर आनंद का वातावरण रहेगा। भ्रमण मनोरंजन के अवसर बढ़ेंगे। सहकर्मियों का विश्वास जीतेंगे। वचन निभाएंगे। आर्थिक लेनदेन में सतर्कता रखेंगे। मित्रों के साथ सुखद पल बिताएंगे। निजी मामलों में शुभता बढ़ेगी।

 

धनु (ये, यो, भा, भी, भू, ध, फा, ढा, भे) :-  अपनों को समय देंगे। सुख सुविधाओं पर जोर बनाए रखेंगे। निजता को बढ़ावा देंगे। मित्रों का साथ विश्वास बढ़ेगा। पारिवारिक विषयों में सक्रियता दिखाएंगे। निजी कार्यां पर फोकस रहेगा। प्रबंधकीय योजनाओं को गति मिलेगी। व्यक्तिगत विषयों रुचि बनी रहेगी। करीबियों की सुनेंगे। रिश्तों में उूर्जा रहेगी।

 

मकर (भो, जा, जी, खी, खू, खा, खो, गा, गी) :-   किसी करीबी का सहयोग भी आपका मनोबल और आत्मविश्वास बनाए रखेगा। ध्यान रखें कि ईर्ष्या केवल आपके किसी करीबी को ही चोट पहुंचा सकती है। संतान के अध्ययन से जुड़े कार्यों में भी जल्दबाज़ी हो सकती है।

 

कुंभ (गू, गे, गो, सा, सी, सू, से, सो, दा) :- आज आप कई तरह की गतिविधियों में शामिल हो सकते हैं। थके होने के बावजूद आपको अधिक खुशी का अनुभव होगा। खर्चों पर नियंत्रण जरूरी है। भूमि, वाहन आदि से संबंधित खरीदारी के लिए उधार किसी से न लें। चिंता न करें, इससे आपके धन और समृद्धि में ही वृद्धि होगी।

 

मीन (दी, दू, थ, झ, ञ, दे, दो, चा, ची) :- यदि किसी के साथ प्रेम करते है और घर में कह नहीं पा रहे है तो आज के दिन यह बात कह दे। आज का दिन आपके प्रेम जीवन के लिए उत्तम है तथा रिश्ता भी पक्का हो सकता है।


Previous123456789...1617Next